यदि आपके पास कोई समाचार या फोटो है तथा आप भी किसी समस्या को शासन स्तर पर पंहुचाना चाहते हैं और किसी विषय पर लिखने के इच्छुक है,तो आपका स्वागत है ईमेल करे- writing.daswani@gmail.com, Mob No.-+919425070052

Friday, December 31, 2010

मय खाने बनते जा रहे ढाबे

जांच की औपचारिकता पूरी करते है विभाग
सीहोर।  जिला मुख्यालय और राजमार्ग पर बने हुए ढाबे अब मय खाने में परिवर्तित होते जा रहे है। दुर्भाग्य का विषय यह है कि इस ओर न तो आबकारी विभाग ध्यान दे पा रहा है और न ही पुलिस का ध्यान इस ओर जा रहा है। केवल विश्ष अवसरों पर ही इनके द्वारा जांच की औपचारिकताओं को पूर्ण किया जाता है।जिला मुख्यालय के ढाबों और भोपाल—इन्दौर राजमार्ग पर बने ढाबें इन दिनों मय खानों में परिवर्तित हो चुके है। यहां पर ग्राहकों को हर प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध कराना आम बातों में शामिल हो चुका है। कहने को तो यहां पर केवल भोजन की सुविधा ही ग्राहकों को उपलब्ध कराई जाती है पर वास्तविकता यह है कि बीयर से लेकर हर प्रकार देशी और विदेशी शराब आसानी के साथ साधारण से ल्ऋेकर असाधारण ग्राहक को मिल जाती है। जिसके लिए ग्राहकों से अतिरिक्त्सेवा शुल्क वसूला जाता है। यह शुल्क ढाबा संचालकों के यहां काम करने वाले कर्मचारियों द्वारा वसूल किया जाता है।कई जगहों पर उपलब्ध: कई ढाबा संचालक अपने कर्मचारियों के माध्यम से ग्राहकों को बीयर और शराब की सेवाएं तत्काल नजदीक के शराब विक्रेता के पास से उपलब्ध करा दिया करते है पर कई ढाबा संचालक इस असुविधा से बचने के लिए अपने ढाबों पर ही इसकी व्यवस्था करने लगे है। राजमार्ग के कुछ ढाबा संचालकों को छोड़ दिया जाए तो अधिकांश के यहां पर इस प्रकार की सुविधा चोरी छिपे उपलब्ध हो जाती है। जिनको यह सुविधा नहीं मिल पाती है वो या तो संदिग्ध अधिकारी लगते है या फिर संचालक और कर्मचारी को इस बात पर शक हो जाता है कि विभाग का या पुलिस का कोई अधिकारी या कर्मचारी तो नहीं है। इस स्थिति में केवल उसी को ही यह सुविधा उपलब्ध नहीं कराई जाती है। कभी—कभी कार्रवाई: आबकारी विभाग और पुलिस विभाग द्वारा इस दिशा में कभी कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाए जाते है। औपचारिकता पूर्ण करने के लिए कई बार इस प्रकार के कदम उठा लिए जाते है वो भी किसी विश्ऋेष अवसर पर अन्यथा जो जहां जैसा चल रहा है उसे वैसा ही छोड़ दिया जाता है। दोनों विभाग की कथित लापरवाही के कारण ही ढाबों में मनमानी का राज चल रहा है।

Thursday, December 30, 2010

सुबीर को देश का सबसे बड़ा युवा साहित्य पुरस्कार


नई दिल्ली में देश के शीर्ष साहित्यकारों की उपस्थिति में पंकज सुबीर को पुरस्कार प्रदान किया गया 
सीहोर के कहानीकार तथा कवि पंकज सुबीर को देश का सबसे बड़ा युवा साहित्य पुरस्कार भारतीय ज्ञानपीठ नवलेखन पुरस्कार  नई दिल्ली में देश के शीर्ष साहित्यकारों की उपस्थिति में प्रदान किया गया । भारतीय ज्ञानपीठ द्वारा हर वर्ष किसी युवा को ये पुरस्कार प्रदान किया जाता है । इस वर्ष का पुरस्कार सीहोर के खाते में गया है । सीहोर के पंकज सुबीर को ये पुरस्कार  नई दिल्ली के प्रगति मैदान पर चल रहे पुस्तक मेले के सभागार में प्रदान किया गया। भारतीय ज्ञानपीठ ने इस वर्ष को उपन्यास वर्ष घोषित करते हुए इस वर्ष ये पुरस्कार किसी युवा लेखक के पहले उपन्यास को दिये जाने का निर्णय लिया था । देश भर से प्राप्त पांडुलिपियों में से चयन करके ये पुरस्कार प्रदान किया जाना था । चयन समिति की बैठक में वर्ष 2010 के ज्ञानपीठ नवलेखन पुरस्कार के लिये सीहोर के युवा कथाकार पंकज सुबीर को उनके उपन्यास ये वो सहर तो नहीं तथा दिल्ली के कथाकार कुणाल सिंह को संयुक्त रूप से ये पुरस्कार प्रदान करने का निर्णय लिया गया था । पंकज सुबीर का ये उपन्यास सीहोर में 1857 की क्रांति के दौरान हुए घटनाक्रम पर आधारित है । उस समय यहां पर बनाई गई सिपाही बहादुर सरकार का विस्तार से घटनाक्रम इस उपन्यास में आता है । इसके साथ में वर्तमान की प्रशासनिक व्यवस्था को भी 1857 की कहानी के साथ मिला कर ये बताने की कोशिश की है कि 150 सालों में देश में कहीं भी कुछ नहीं बदला है । उपन्यास को देश भर के साहित्यिक क्षेत्र में व्यापक सराहना मिल रही है । उल्लेखनीय है कि कहानी तथा उपन्यास के क्षेत्र में पहली बार ये पुरस्कार मध्यप्रदेश के खाते में आया है इससे पहले कविता के लिये ये पुरस्कार मध्यप्रदेश को एक बार मिल चुका है ।

Wednesday, December 29, 2010

निविदा पर गिरी आचार संहिता की गाज

महिला पोलटेकनिक कॉलेज की मेस हेतु आमंत्रित निविदा की कार्रवाई रोकी गई
सीहोर। महिला पोलटेकनिक कॉलेज छात्रावास की भोजन व्यवस्था के लिए आंमत्रित की गई निविदा को आचार संहिता के कारण रोक दिया गया है। पूरी कार्रवाई कर लिए जाने के बाद आचार संहिता का वास्ता देकर उसे रोक दिया गया है। महिला पोलटेकनिक कॉलेज के छात्रावास की मेस संचालन के लिए महाविद्यालय प्रंबधन द्वारा निविदा का प्रकाशन कर कोटेशन मंगवाए गए थे। महाविद्यालय छात्रावास की तीन सौ छात्राओं के भोजन प्रंबध के लिए निविदा का प्रकाशन कर भोजन शाला के अनुभव संचालन करने वाली फर्म को आंमत्रण दिया गया था जिसमें इस शर्त को भी रखा गया था कि इस फर्म को पिछले तीन सालों में कम से कम से बीस लाख रुपए के कार्य करने का अनुभव हो। निविदा का प्रकाशन भी विभिन्न समाचार पत्रों में कर दिया गया था पर उसकी आगे की कार्रवाई को रोक दिया गया है। महाविद्यालय प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराई गई जानकारी अनुसार आचार संहिता के चलते इस कार्रवाई को रोक दिया गया। नगर पालिका चुनाव के बाद इसकी कार्रवाई की जाकर मेस संचालन का जिम्मा सौंपा जाएगा।

दो घंटे से भी अधिक समय तक लगा जाम

सीहोर। मंगलवार की रात को बुदनी मिडघाट पर जाम लग जाने के कारण  लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। पुलिस की सक्रियता के कारण यातायात करीब दो घंटे के बाद सुचारु हो सका।
राष्ट्रीय राजमार्ग पर हमेशा की भांति मंगलवार की देर रात को एक बार फिर जाम की स्थिति बन गई। बुदनी मिडघाट पर भोपाल से होंशगाबाद की और होंशगाबाद से भोपाल की ओर आने वाले वाहनों की लंबी-लंबी कतारें लगना शुरु हो गई जिससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। जाम लगने की सूचना मिलने पर पुलिस बल सक्रिय हुआ है और वाहनों को कतारबृद्ध तरीके से रवाना करना का क्रम शुरू किया गया तब जाकर रात करीब बारह बजे के बाद यातायात सामान्य हो सका।

Tuesday, December 28, 2010

जयपुर चैन्नई ट्रेन के यात्री दो दिन से परेशान

कड़ाके की सर्दी में निराश होकर लौटना पड़ रहा है
सीहोर। दो दिन से जयपुर चैन्नई टे्रन के कारण यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सोमवार को ट्रेन स्थगित हो गई और मंगलवार को करीब छह घंटे के बाद ट्रेन आई। स्टेशन पर पूछताछ नम्बर न होने के कारण यात्रियों को कड़ाके की सर्दी में सुबह छह बजे वापस लौटना पड़ रहा है।
सोमवार की सुबह कड़कड़ाती सर्दी में जब लोग स्टेशन पहुंचे तो वहां पर बताया यात्रियों को बताया गया कि जयपुर चैन्नई ट्रेन अनिश्चित कालीन समय के लिए लेट है जिस पर लोगों ने काफी देर तक इंतजार किया करीब तीन घंटे के बाद टे्रेन के आगमन स्थगित करने की सूचना दी गई जिस पर लोगों ने अपने रिर्जेवेशन कैंसिल कराए। सोमवार की भांति मंगलवार को भी यात्रियों को परेशानी का ही सामना करना पड़ा। मंगलवार को सुबह छह बजे की जगह दोपहर बारह बजे के बाद टे्रन आई। सीहोर में यात्रियों को परेशानी का सामना इसलिए भी अधिक करना पड़ रहा है क्योंकि यहां का पूछताछ नम्बर पिछले कई माह से बंद कर दिया गया है जिसके कारण यात्रियों को स्टेशन पर ही आकर पूछताछ करनी पड़ती है। रेलवे पूछताछ के लिए निर्धारित नम्बर पर लोगों की बातचीत एक तो सहजता से हो नहीं पाती है दूसरा यदि बातचीत होती भी है तो उसके लिए लंबी प्रकिया पूरी करनी पड़ती है जिसको हर यात्री पूरी नहीं कर पाता है।
कांग्रेस नेता के निधन पर शोक
सीहोर। जिले के वरिष्ठ कांग्रेस नेता तथा जिला कांग्रेस पूर्व जिला अध्यक्ष जमशेद बहादुर का मंगलवार को निधन हो गया। उनके निधन की सूचना से कांग्रेस सहित भाजपा नेताओं में शोक की लहर दौड़ गई।
इछावर नगर पंचायत अध्यक्ष को हटाया
सीहोर। इछावर नगर पंचायत अध्यक्ष सुनील राठी को मंगलवार को जिला कलेक्टर संदीप यादव ने हटाए जाने के आदेश दिए है। जानकारी अनुसार इछावर अदालत ने अवैध रुप से रसोई गैस रखने के मामले में कांग्रेस नेता इछावर नगर पंचायत अध्यक्ष सुनील राठी छह माह की सजा सुनाई थी। इस सजा के आदेश को सीहोर कोर्ट से भी बरकरार रखने के आदेश दिए जाने पर सुनील राठी को जेल भेज दिया गया था। हाइकोर्ट  से जमानत मंजूर होने पर उन्हें रिहा किया गया था। मंगलवार को इस मामले में कलेक्टर संदीप यादव को हटाए जाने के आदेश प्रसारित किए गए है।

शुद्ध घी और नकदी ले उड़े चोर

चोरों ने फिर बोला धावा. डेयरी मालिक के जागने पर भाग खड़े हुए चोर
सीहोर। पुलिस की गश्त को चुनौती देते हुए चोरों ने मंगलवार की सुबह छावनी क्षेत्र में स्थित दूध डेयरी पर धावा बोलते हुए करीब तीस किलो शुद्ध घी और पांच हजार रुपए नकद पर हाथ साफ कर दिया। डेयरी मालिक के जाग जाने के कारण चोर काफी समान छोड़कर जाने पर विवश हो गए। पुलिस ने मामला कायम कर लिया है पर चोरों का सुराग नहीं लग सका है। प्राप्त जानकारी अनुसार स्थानीय खंजाची लाइन स्थित कृष्णा डेयरी पर मंगलवार की सुबह चोरों ने धावा बोला। चोर करीब चार बजे उनकी दुकान के शटर के ऊपर लगे एग्जास्ट पंखे को निकाल कर उसके छेद से भीतर गए और करीब तीस किलो शुद्ध घी और करीब पांच हजार रुपए नकद चुरा लिए। बताया जाता है कि चोरों ने इस छेद से भीतर प्रवेश कर पहले तो वहां से माल उठा लिया और चूंकि डेयरी मालिक द्वारा भीतर से ही शटर लगाया जाता है इसलिए उसे खोलकर बाहर आए। शटर की आवाज आने पर डेयरी मालिक की नींद खुल गई और वो नीचे आते इससे पहले चोर समान लेकर बाहर जा चुके थे। बताया जाता है उनका पीछा भी किया गया पर वो पहले से ही सावधान थे जिससे वे उनके हाथ नहीं लग सके। डेयरी मालिक के अनुसार चोरों की संख्या दो थी उनके साथ कुछ अन्य लोग भी अवश्य थे क्योंकि यह पैदल थे पर आगे जाकर ओझल हो गए थे। पुलिस भी सूचना मिलने के बाद यहां पर आई पर उनका सुराग नहीं लगा सकी है।

भारतीय ज्ञानपीठ का युवा पुरस्कार सीहोर के सुबीर को


सीहोर के साहित्य जगत को आज एक महती उपलब्धि प्राप्त होने जा रही है, सीहोर के कहानीकार तथा कवि पंकज सुबीर को देश का सबसे बड़ा युवा साहित्य पुरस्कार भारतीय ज्ञानपीठ नवलेखन पुरस्कार 29 दिसम्बर को नई दिल्ली में देश के शीर्ष साहित्यकारों की उपस्थिति में प्रदान किया जायेगा ।भारतीय ज्ञानपीठ द्वारा हर वर्ष किसी युवा को ये पुरस्कार प्रदान किया जाता है । इस वर्ष का पुरस्कार सीहोर के खाते में गया है । सीहोर के पंकज सुबीर को ये पुरस्कार 29 दिसम्बर को शाम पांच बजे नई दिल्ली के प्रगति मैदान पर चल रहे पुस्तक मेले के सभागार में प्रदान किया जायेगा । पुरस्कार समारोह में देश के शीर्ष आलोचक डॉ. नामवर सिंह, सुप्रसिध्द कहानीकार चित्रा मुदगल, नया ज्ञानोदय के संपादक श्री रवीन्द्र कालिया उपस्थित रहेंगें । भारतीय ज्ञानपीठ ने इस वर्ष को उपन्यास वर्ष घोषित करते हुए इस वर्ष ये पुरस्कार किसी युवा लेखक के पहले उपन्यास को दिये जाने का निर्णय लिया था । तथा इसके लिये एक चयन समिति शीर्ष आलोचक डॉ. नामवर सिंह की अध्यक्षता में बनाई गई थी । जिसमें डॉ. गंगा प्रसाद विमल, नया ज्ञानोदय के संपादक रवीन्द्र कालिया, आलोचक डॉ. विजय मोहन सिंह, कथाकार चित्रा मुद्गल, कथाकार अखिलेश सम्मिलित थे । देश भर से प्राप्त पांडुलिपियों में से चयन करके ये पुरस्कार प्रदान किया जाना था । चयन समिति की बैठक में वर्ष 2010 के ज्ञानपीठ नवलेखन पुरस्कार के लिये सीहोर के युवा कथाकार पंकज सुबीर को उनके उपन्यास ये वो सहर तो नहीं तथा दिल्ली के कथाकार कुणाल सिंह को संयुक्त रूप से ये पुरस्कार प्रदान करने का निर्णय लिया गया था । पंकज सुबीर का ये उपन्यास सीहोर में 1857 की क्रांति के दौरान हुए घटनाक्रम पर आधारित है । उस समय यहां पर बनाई गई सिपाही बहादुर सरकार का विस्तार से घटनाक्रम इस उपन्यास में आता है । इसके साथ में वर्तमान की प्रशासनिक व्यवस्था को भी 1857 की कहानी के साथ मिला कर ये बताने की कोशिश की है कि 150 सालों में देश में कहीं भी कुछ नहीं बदला है । उपन्यास को देश भर के साहित्यिक क्षेत्र में व्यापक सराहना मिल रही है । उल्लेखनीय है कि कहानी तथा उपन्यास के क्षेत्र में पहली बार ये पुरस्कार मध्यप्रदेश के खाते में आया है इससे पहले कविता के लिये ये पुरस्कार मध्यप्रदेश को एक बार मिल चुका है ।

Sunday, December 26, 2010

फांसी पर झूला होनहार छात्र

परिजन तथा मोहल्लें के लोग हतप्रभ
सीहोर। रविवार की दोपहर में स्थानीय चन्द्रशेखर आजाद मार्ग निवासी एक 18 वर्षीय छात्र ने फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। छात्र के इस कदम से न केवल परिजन बल्कि मोहल्ले के लोग भी हतप्रभ रह गए। पुलिस ने फिलहाल मर्ग कायम कर जांच कार्य शुरू कर दिया है।
पुलिस से मिली जानकारी अनुसार स्थानीय चन्द्रशेखर आजाद मार्ग निवासी आटा चक्की संचालक अनिल राठौर का 18 वर्षीय पुत्र कृष्णकांत अप्पू रविवार की दोपहर में कुछ देर पहले ही बाजार से घर आया था। घर पर भी मेहमान आए हुए थे वो सीधे तीसरी मंजिल पर अपने कमरे में चला गया थोड़ी देर बाद चाय के लिए उसे आवाज लगाई तो उसने जवाब भी दिया पर आया नहीं परिजन उसे देखने गए तो जवाब नहीं दिया दरवाजा धका कर अंदर गए तो पैरों के नीचे से जमीन खिसक गई। कृष्ण्कांत राठौर ऊपर पंखे पर झूलता मिला उसे ताबड़तोड़ में जिला अस्पताल लाया गया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित किया। कृष्णकांत ने ऐसा क्यों किया यह न तो परिजनों और न ही मोहल्ले के लोगों को समझ में आ रहा है। सभी इस बात से हतप्रभ रह गए कुछ देर पहले ही कृष्णकांत मोहल्ले से निकला था। यहां कक्षा बारहवीं के पास करने के बाद वो भोपाल में कोचिंग कर रहा था उसका एक भाई इन्दौर में अध्यन कर रहा है। टीआइ चेतराम मीणा ने बताया कि उसके पास कोई सुसाइट नोट भी प्राप्त नहीं हुआ है।

युवक की सक्रियता से दो चोर गिरफ्तार, दो फरार

सीहोर। जिला मुख्यालय पर चोरों के कारण न केवल पुलिस बल्कि आमजन भी परेशान चल रहे है, रविवार की सुबह एक युवक की सक्रियता से दो चोर पकड़े गए जबकि उनके साथ घूम रहे दो बच्चे भाग जाने में सफल हो गए। पुलिस पकड़े गए दोनों युवकों से पूछताछ कर रही है। जिला मुख्यालय पर पुलिस द्वारा बरती जाने तमाम सक्रियता के बाद भी चोरी की घटनाओं में किसी प्रकार की कमी नहीं आ रही है। स्वामी विवेकानंद कालोनी इंग्लिशपुरा निवासी कांग्रेस नेता राजेश आजाद के यहां पर हुई साढ़े चार लाख रुपए की चोरी और बीआरसीसी केन्द्र पर कम्प्यूटर चोरी का मामला अभी सरगर्म बना हुआ है इसी बीच चोरी के उद्ेश्य से घूम रहे चार लोगों में से दो लोगों को स्थानीय न्यू बस स्टैंड क्षेत्र से इन्दौर नाका निवासी गौरव ठाकुर की सक्रियता से पकड़ लिया गया। जबकि इनके साथ के दो बच्चे भाग जाने में सफल हुए। युवक ने दोनों युवाओं को कोतवाली पुलिस के हवाले कर दिया है। कोतवाली टीआइ चेतराम मीणा ने बताया कि दोनों से पूछताछ की जाकर उनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

कागजों पर जिला बदर

एक और आरोपी घूमता हुआ गिरफ्तार
सीहोर। प्रशासन द्वारा समय समय पर की जाने वाली जिला बदर की कार्रवाई अब  कागजी नजर आने लगी है इस माह में यह लगातार दूसरा अवसर है कि जिले में जिला बदर का आरोपी घूमते हुए पाया गया है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर उस पर प्रकरण कायम कर लिया है।  जिला दंडाधिकारी द्वारा अपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाए जाने की नियत से समय समय पर आदतन अपराधियों के खिलाफ जिला बदर की कार्रवाई कर उन्हें सीहोर जिले की सीमा से बाहर किया जाता रहा है पर यह जिला बदर कागजों पर होता नजर आ रहा है। प्रशासन द्वारा जिला बदर की कार्रवाई का असर पिछले दिनों बड़ा बाजार में उस समय देखने को मिला था जब एक आरोपी को धरपकड़ के बाद गिरफ्तार किया गया था उसके अलावा आज एक बार फिर सीताराम आत्मज खेमकरण लोधी को पुलिस ने खुलेआम घूमते हुए गिरफ्तार किया है। यह बाजार में सरेआम भ्रमण कर रहा था तथा मुखबिर की सूचना पर  पुलिस ने उसके खिलाफ अब धारा 188 तथा 14-15 के अंर्तगत प्रकरण दर्ज किया है।

अहंकार भक्ति में सबसे बड़ा बाधक है-गोविन्द जाने

सीहोर। श्रीमद भागवत कथा सुनाते हुए संत श्री गोविन्द जाने ने कहा कि अहंकार, भक्ति में सबसे बडा बाधक है। जीव के अहंकार का कारण चाहे वस्तु हो या व्यक्ति, भगवान उसे नष्ट कर देते हैं। इन्द्र को भी अहंकार हुआ। बृजवासियों द्वारा पूजा नहीं किये जाने से नाराज इन्द्र ने अति वृष्टि की। इन्द्र का अहंकार नष्ट करने के लिए भगवान ने गोवर्धन उठाकर बृज के लोगों की रक्षा की। इन्द्र को अपनी लघुताका बोध हुआ और वह भगवान के चरणों में गिर पडा। नगर के सिंधी धर्मशाला स्थित गोदान सरकार समिति के तत्वाधान में जारी संगीतमय श्रीमद् भागवत कथा के दौरान प्रदेश के प्रसिद्ध संत श्रीगोविन्द जाने ने आगे कहा कि श्रीकृष्ण के चरणों में गिरने वाले संसार का राजा बनते हैं। अति महत्वाकांक्षा व अहंकार दोनों ही जीव के लिए घातक है। उन्होंने कहा कि धर्म कहता है कि मनुष्य को अपने विवेक  के अनुसार भगवान की सेवा में जुटना चाहिए। उन्होंने कहा कि सभी मनुष्यों में पांच तरह के प्राण होते हैं। इनमें प्राण, व्यान, उदान, समान और अपान शामिल है। रास भी पांचवें अध्याय में आता है। यह अध्याय भागवत का प्राण कहा जाता है। श्रीराधारानी कृष्ण की योग माया हैं। जिन गोपियों के संग भगवान ने रास किया वह सभी कृष्णगत प्राण हैं। गोपियां उनकी रस भावित मति हैं। गोपियों का सब कुछ अपने प्रियतम प्यारे कान्हा के चरणों में समर्पित था। भगवान के चरणों में सब कुछ समर्पित करने वाली गोपियां उनकी परम अन्तरंग लीला का अभिन्न अंग हैं।
संसार में दो स्थान सुरक्षित
उन्होंने कहा कि जब भी धरती पर प्रलय आई है। संसार में दो स्थान सुरक्षित रहे है। एक है वृन्दावन और दूसरा काशी इसलिए मैं कहता हूं कि यहां पर सत्य है का वास होता है। वही पर सृष्टि की बोलबाला होता है। यहां पर असत्य और अभिमान होता है वहां पर विनाश और गंभीर संकट बना रहता है। अभिमान जब समाप्त होता है, जब ज्ञान आता है। संगीतमय श्रीमद् भागवत कथा के दौरान यहां पर आए श्रद्धालु भजन और संगीत में ऐसे रम जाते है कि उनको परम आनंद के कारण नृत्य करने की इच्छा अपने आप उत्पन्न हो जाती है। भजनों पर मोह माया का त्याग कर अपने आप श्रद्धा पूर्वक महिला, बच्चों और पुरुषों नाचने लगते है।
फल की चिंता नही
भगवान की प्रार्थना से जहां मानसिक शांति मिलती है वहीं वातावरण भी शुद्ध होता है। कथा का रसपान करने मात्र से जीवन का कल्याण होता है।भगवान श्रीकृष्ण ने कर्म को प्रधानता देते हुए कहा है कि बिना फल की चिंता किए ही व्यक्ति को कर्म करते रहना चाहिए। जीव अमर हो जाता है भगवान अपने प्रिय भक्त को संकट में देखकर रह नहीं पाते। वह उसके उद्धार के लिये नाना प्रकार के उपक्रम कर उसे विषय-भोग से मुक्त कर देते हैं। जिस पर उनकी कृपा होती है वह जीव अमर हो जाता है। सत्कर्म करने पर रोकना नही चाहिए सत्कर्म करने जा रहे व्यक्ति को रोकना नही चाहिए वह महापाप होता है। मंदिर जा रहे, तीर्थ जा रहे, प्रवचन सुनने जा रहे या
अन्य पुण्य कर्म करने जा रहे व्यक्ति को जाने से रोकने पर भयानक पाप लगता है। गरीब के बच्चों को वस्त्र देना पूजा है।
श्रीकृष्ण जन्म उत्सव आज
इस संबंध में गोदान सरकार समिति के पदाधिकारी ने बताया कि सिंधी धर्मशाला के समीपस्थ मैदान पर जारी श्रीमद् भागवत कथा में सोमवार को भगवान श्री कृष्ण का जन्म उत्सव मनाया जाएगा। उन्होंने सभी भक्तों से दूध, दही, मक्खन आदि जो भी श्रद्धा के रूप में ला सकते है वो प्रसादी लेकर आए।

विद्यार्थियों को दिए गर्म वस्त्र

सीहोर। रविवार को शहर के समाजसेवी  डॉ.गट्टानी ने सर्दी के मौसम को देखते हुए इंद्रा नगर के प्राथमिक शाला में कक्षा एक से पांच तक के करीब 150 विद्यार्थियों को पूरी आस्तीन के गर्म स्वेटर का वितरण किया। इस दौरान डॉ.सीताराम गट्टानी, श्रीमती कांता गट्टानी, एसएस मोदी, हरीश राठौर, कमल विजयवर्गीय, बाबू भाई मिस्त्री, आयुषी, हार्दिक, केपी शास्त्री और स्कूल स्टाफ के साथ बच्चों के अभिभावक बड़ी सं या में मौजूद थे। इस अवसर पर डॉ.गट्टानी ने कहा कि आने वाले समय में नि:शुल्क का आयोजन कर विद्यार्थियों का चेकअप करने के उपरांत उनको प्रोटिन, विटमीन और आयरन की गोलियों का वितरण किया जाएगा।

ग्रामीण क्रिकेट प्रतियोगिता का चढ़ा नशा

तारा सेवानिया और बरखेडा हसन की शानदार जीत
सीहोर। ग्रामीण क्षेत्र की प्रतिभाओं को निखारने के उद्देश्य से इन दिनों जिला मु यालय से लगभग 60 किलोमीटर दूरी पर स्थित रोजगार गारंटी के तहत ग्राम बरखेड़ा हसन में नवनिर्मित क्रिकेट मैदान पर इन दिनों जमकर चौके-छक्कों की बरसात हो रही है। रमेश सक्सेना फेंस क्लब के तत्वाधान में जयहिन्द कांवेन्ट स्कूल मैदान पर जारी ग्रामीण क्रिकेट प्रतियोगिता में रविवार को खेले गए दो मैचों में तारा सेवानिया और बरखेड़ा मुस्कान क्लब ने शानदार जीत दर्ज कर प्रतियोगिता के अगले चरण में प्रवेश किया। इस संबंध में ग्रामीण क्रिकेट प्रतियोगिता के आयोजन समिति के पदाधिकारी और युवा समाजसेवी प्रदीप कुमार सक्सेना ने जानकारी देते हुए बताया कि रविवार को खेल गए पहले मैच में ग्राम बालाचौन के कप्तान प्रकाश ने टास जीत कर पहले क्षेत्ररक्षण करने का निर्णय लिया। पहले बल्लेबाजी करने उतरी ग्राम तारा सेवानिया क्रिकेट टीम
ने जैसे-तैसे सात विकेट खोकर निर्धारित दस ओवर में 59 रनों का स्कोर खड़ा किया। जिसमें मुकेश ने 24 रनों की पारी खेली। ग्राम बालाचौन क्रिकेट टीम जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी निर्धारित दस ओवर में दस विकेट के नुकसान पर 54 रनों के स्कोर पर ढेर हो गई। जिसमें श्याम ने 18 रन, कप्तान प्रकाश ने 10 रन और भोला ने छह रनों की संघर्षमय पारी खेली। इस तरह ग्राम तारा सेवानिया क्रिकेट टीम ने ग्राम बालाचौन क्रिकेट टीम को पांच रनों के कम अंतराल से इस रोमांचक मुकाबले में हारा दिया। इसी तरह एक अन्य मैच में बरखेडा हसन टीम ने निर्धारित दस ओवर में चार विकेट के नुकसान पर 84 रनों का स्कोर का स्कोर
खड़ा किया। जिसमें शैलेन्द्र और सतीश ने 14-14 रन और पचोन ने 16 रन और जगदीश ने 11 रनों का स्कोर खड़ा किया। जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी अहमदपुर क्रिकेट टीम ने निर्धारित दस ओवर में दस विकेट के नुकसान पर 35 रन ही बनाए। इस प्रकार बरखेड़ा मुस्कान क्लब क्रिकेट टीम ने 49 रनों के विशाल अंतर से
जीत दर्जकर प्रतियोगिता के अगले दौर में प्रवेश किया। इस अवसर पर समिति के नंदकिशोर विश्वकर्मा, अवधनारायण मालवीय, इब्बे हसन, अभिषेक शर्मा, विकाश विश्वकर्मा, सुरेश राजपूत, दिनेशविश्वकर्मा और प्रदीप शर्मा आदि ने खिलाडिय़ों का पुरस्कार प्रदान किए।

Saturday, December 25, 2010

क्रिसमस पर्व मनाया

शनिवार को क्रिसमस पर्व परम्परागत उत्साह और श्रद्धा के साथ मनाया। लूर्दमाता स्कूल के समीप चर्च पर आर्कषक झांकी बनाई गई।


नर्मदा घाट पर भागवत का शुभारंभ किया

ईश्वर प्रेम के आगे महलों का सुख बेकार है-गोविद जाने

संगीतमय भजनों पर श्रद्धालुओं ने किया जमकर नृत्य
सीहोर। जो व्यक्ति हर वक्त कसम खाए ऐसे व्यक्ति पर कभी भरोसा न करना, क्योंकि कमजोर झोपड़ी में ही ठेके लगाए जाते है। हमारे एक प्रिय भक्त ने आकर हमसे कहा गुरु जी एक ऐसा मकान बनाया है कि सात पुश्तों तक उसका रंग भी नही निकलेगा। गुरु जी ने पूछा कि कितने वर्ष और जीना है तो ऐसे भौतिक सूखों की लालसा में जीवन क्यों व्यर्थ नष्ट कर रहे हो। जीवन का महत्व समझे। उक्त उद्गार नगर के सिंधी धर्मशाला के समीपस्थ मैदान पर गोदान सरकार सेवा समिति के तत्वाधान में जारी श्रीमद् भागवत कथा में शनिवार को दूसरे दिन विशाल जन समुदाय को संबोधित करते हुए प्रसिद्ध संत गोविन्द जाने ने कहे। उन्होंने कहा कि हमारे जीवन में सत्य और कर्म सर्वश्रेष्ठ है। हमें ऐसा कार्य और कर्म करना चाहिए जिससे हमें सात पुश्तों तक सम्मान से जमाना याद रखे। उन्होंने आगे सत्य के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि सनातन का अर्थ है जो शाश्वत हो, सदा के लिए सत्य हो। जिन बातों का शाश्वत महत्व हो वही सनातन कही गई है। जैसे सत्य सनातन है। ईश्वर ही सत्य है, आत्मा ही सत्य है, मोक्ष ही सत्य है और इस सत्य के मार्ग को बताने वाला धर्म ही सनातन धर्म भी सत्य है। वह सत्य जो अनादि काल से चला आ रहा है और जिसका कभी भी अंत नहीं होगा वह ही सनातन या शाश्वत है। जिनका न प्रारंभ है और जिनका न अंत है उस सत्य को ही सनातन कहते हैं। यही सनातन धर्म का सत्य है।
हिन्दू धर्म का महत्व
उन्होंने कहा कि वैदिक या हिंदू धर्म को इसलिए सनातन धर्म कहा जाता है, क्योंकि यही एकमात्र धर्म है जो ईश्वर, आत्मा और मोक्ष को तत्व और ध्यान से जानने का मार्ग बताता है। एकनिष्ठता, ध्यान, मौन और तप सहित यम-नियम के अभ्यास और जागरण का मोक्ष मार्ग है अन्य कोई मोक्ष का मार्ग नहीं है। मोक्ष से ही आत्मज्ञान और ईश्वर का ज्ञान होता है। यही सनातन धर्म का सत्य है।
सनातन धर्म के मूल तत्व
संत श्री गोविन्द जाने ने कहा कि सनातन धर्म के मूल तत्व सत्य, अहिंसा, दया, क्षमा, दान, जप, तप, यम-नियम आदि हैं जिनका शाश्वत महत्व है। अन्य प्रमुख धर्मों के उदय के पूर्व वेदों में इन सिद्धान्तों को प्रतिपादित कर दिया गया था।
मुझे सत्य की ओर ले चलो
संत श्री ने कहा कि अर्थात हे ईश्वर मुझे असत्य से सत्य की ओर ले चलो, अंधकार से प्रकाश की ओर ले चलो। मृत्यु से अमृत की ओर ले चलो। जो लोग उस परम तत्व परब्रह्म परमेश्वर को नहीं मानते हैं वे असत्य में गिरते हैं। असत्य से मृत्युकाल में अनंत अंधकार में पड़ते हैं। उनके जीवन की गाथा भ्रम और भटकाव की ही गाथा सिद्ध होती है। वे कभी अमृत्व को प्राप्त नहीं होते। मृत्यु आए इससे पहले ही सनातन धर्म के सत्य मार्ग पर आ जाने में ही भलाई है। अन्यथा अनंत योनियों में भटकने के बाद प्रलयकाल के अंधकार में पड़े रहना पड़ता है।
राम का उदाहरण
संत श्री ने राम का उदाहरण देते हुए कहा कि जैसे हमारे प्रभु राम ने सत्य का मार्ग का अनुसरण किया तो पूरी सृष्टिï के प्राणियों ने उनका साथ दिया। जो व्यक्ति सत्य की सत्ता को समझ कर धर्म मार्ग पर चलने का हौंसला रखते है। यह सृष्टिï के सभी प्राणी आपके कदम-कदम पर साथ देते नजर आऐंगे। हमारे मर्यादा पुरुषोत्तम की सेना में वानरों, भालू आदि ने सभी ने साथ दिया। जिसके कारण अहंकार रूपी रावण की पूरी सेना का विनाश करने में अधिक समय नही लगा। असत्य पर चलने वाले रावण का साथ सत्य रूपी विभीषण ने भी छोड़ दिया। सत्य की भांति दूसरा धर्म नही है। सत्य मार्ग पर चलने वालों का बाल भी बांका नही हो सकता है।
मीरा का उदाहरण
संत श्री ने मीरा का उदाहरण देते हुए कहा कि मीरा का प्रेम आज भी अमर है और जब तक सृष्टिï है रहेगी उसका प्रेम नाजिर बनकर रहेगा। मीरा ने ईश्वर से प्रेम किया और सांसरिक सुख-वैभव से प्रभावित नही होकर ईश्वर से सात्विक रूप से लगी रही। राणाजी की बेशुमार दौलत और महलों का सुख छोड़कर मीरा ईश्वर की भक्ति और प्रेम में ऐसी दीवानी हुई कि अंत में विग्रह में सशरीर समा गई। इससे बड़ी और दौलत क्या हो सकती है।


Friday, December 24, 2010

प्रदेश का सबसे कम उम्र का फादर चर्च में करा रहा प्रार्थना

 क्रिसमस पर विशेष
सीहोर आज के भौतिकवादी युग में जब युवा वर्ग मल्टीनेशनल कंपनियों की चकाचौंध की तरफ आकृष्ट होकर देश विदेश में नौकरियों की तलाश कर रहे हैं। ऐसे में मात्र 21 वर्ष की आयु में एक युवक ने फादर बनकर चर्च की व्यवस्था संभालने का गौरव हासिल किया है। मध्यप्रदेश के डायोसिस संस्था का सबसे कम उम्र का फादर इन दिनों सीहोर जिले के ऐतिहासिक आल सेंट चर्च की व्यवस्था संभालकर लोगों को प्रभु यीशु द्वारा बताए गए मार्ग पर चलने का संदेश दे रहा है।अलीराजपुर के ग्राम बड़ीसर्दी निवासी 21 युवक विवेक सलातिएल जिला मुख्यालय के जंगली अहाता क्षेत्र स्थित आल सेंट चर्च में रेव्ह की भूमिका का निर्वहन कर रहे हैं।

चर्च जाने पर चौंक जाते
आल सेंट चर्च पर पहुंचने वाले अन्य धर्मावलम्बी उस समय चौंक जाते हैं, जब उन्हें फादर के रूप में कार्य करते हुए एक 21 वर्ष का युवक दिखाई देता है। प्रार्थना से लेकर अन्य कार्यों को सुव्यवस्थित तरीके से कराने वाले रेव्ह विवेक सलातिएल यहां भी अपनी प्रतिभा से लोगों को चौंका देते हैं।

इंटरमीडियट के बाद

रेव्ह विवेक सलातिएल ने बताया कि इंटरमीडियट तक उन्होंने रतलाम में रहकर पढ़ाई की। इसके उपरांत अपनी इच्छा से उन्होंने रेव्ह के लिए तीन साल का कोर्स इलाहाबाद से पूरा किया। मध्यप्रदेश की डायोसिस संस्था के बिशप राईट रेव्ह एल मेढ़ा द्वारा उन्हें मार्गदर्शन प्रदान किया गया। यहां से सबसे पहले रसूलपुरा महू में चर्च की व्यवस्था की जबाबदारी सौंपी गई। इसके बाद राजधानी भोपाल के बैथलहम चर्च की जबाबदारी का निर्वहन भी तीन माह तक किया। तीसरी पोस्टिंग के रूप में सीहोर आल सेंट चर्च की जवाबदारी सौंपी गई है। जिसका निर्वहन वह विगत जून से बखूबी कर रहे हैं।

पिता के पदचिन्हों पर

रेव्ह विवेक सलातिएल ने बताया कि उनके पिता विन्धयाचल सतपुड़ा में चर्च में फादर थे। उनकी इच्छा थी कि मैं भी इस परम्परा को आगे बरकरार रखूं। मेरी स्वयं की भी यही इच्छा थी कि बड़ा होकर धर्म और मानव की सेवा में अपना जीवन व्यतीत करूं। इसी सोच को लेकर पढ़ाई पूरी होने के बाद मैनें तीन साल का बीडी डिप्लोमा किया और चर्च की व्यवस्था का दायित्व प्राप्त किया। उन्होंने बताया कि आगे की पढ़ाई वह पत्राचार के माध्यम से बिलासपुर से एमडीआईवी की डिग्री प्राप्त करने के लिए कर रहे हैं। इस डिग्री को प्राप्त करने के बाद वह संस्था से अन्य डिग्रियां प्राप्त करने के लिए भी लगातार अध्ययन जारी रखेगे, जिससे उन्हें अधिक से अधिक ज्ञानार्जन हो सके और उसका सद् उपयोग समाज हित में हो सके।

इच्छा तो पूरी हुई पर ...

विवेक सलातिएल अपने परिवार के ऐसे चौथे व्यक्ति हैं, जिन्होंने चर्च की व्यवस्था फादर के रूप में संभाली है। उनके पिता सतातिएल ऐजरा के अलावा परदादा तथा चाचा भी चर्च की व्यवस्थाओं का निर्वहन सफलता पूर्वक कर चुके हैं। विवेक सिलातिएल ने बताया कि पिता के साथ-साथ उसकी भी इच्छा थी कि वह चर्च की व्यवस्था संभाल कर समाज की सेवा करे, लेकिन जिस समय उन्हें चर्च की सेवाओं का दायित्व मिला उस समय उनके पिता सतातिएल ऐजरा को प्रभु यीशु ने अपने पास बुला लिया। वह आज चर्च की व्यवस्था संभाल प्रसन्नचित हैं। विवेक सिलातिएल का विवाह इसी साल 28 मई को ग्राम आमकुंड निवासी युवती के साथ हुआ है। समाज के सक्रिय सदस्य इंग्लिश लेक्चरार आरके जाफरी ने बताया कि युवाओं द्वारा धर्म की व्यवस्था संभालना भविष्य की दृष्टि से अच्छा संकेत हैं। इससे युवाओं को प्रेरणा मिल रही है।

कम्प्यूटर सहित कुर्सी ले उड़े चोर

दो स्थानों पर चोरों का धावा 
सीहोर। जिला मुख्यालय पर पुलिस की सक्रियता के बाद भी चोरी की घटनाओं पर अंकुश नहीं लग पा रहा है। बीती रात दो स्थानों पर चोरों ने धावा बोलकर हजारों रुपए के माल पर हाथ साफ कर लिया। चोर हमेशा की भांति पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। पुलिस से मिली जानकारी अनुसार गुरुवार की रात स्थानीय मुरली रोड स्थित बीआरसीसी जनपद शिक्षा केन्द्र के भवन पर चोरों ने धावा बोला। बताया जाता है कि भवन के चैनल गेट का ताला तोडऩे के बाद चोरों ने कम्प्यूटर कक्ष का ताला तोड़ दिया और यहां से दो कम्प्यूटर और एक कुर्सी तथा कुछ अन्य समान चोर चुराकर ले गए। शुक्रवार की सुबह जब  कार्यालय खोलने गए भृत्य को जब इस बात की जानकारी मिली तो वो हतप्रभ गया उसके द्वारा अधिकारियों को जानकारी दी गई तब कोतवाली में शिकायत दर्ज कराई गई। एक अन्य घटना बालाजी फार्म पर हुई है बताया जाता है कि चोर यहां से करीब पांच हजार रुपए मूल्य के कापर तार चुराकर ले गए है। पुलिस ने अवधनारायण परमार की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया है।

साहब पानी ही नहीं मिलता

आइजी के दरबार में जवानों ने बताई समस्याएं
सीहोर। शुक्रवार की सुबह पुलिस महानिरीक्षक शैलेन्द्र श्रीवास्तव अपने पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार वार्षिक निरीक्षण के लिए सीहोर आए। यहां पर पुलिस दरबार में लाइन में व्याप्त पानी की समस्या का जिक्र जवानों द्वारा किया गया।
शुक्रवार की सुबह आइजी शैलेन्द्र श्रीवास्तव सीहोर आए यहां पुलिस लाइन पर पत्रकारों से भी उन्होंने चर्चा की तथा बाद में परेड का निरीक्षण किया। इसके अलावा यहां लगाए गए दरबार में उन्होंने पुलिस जवानों से उनकी समस्याएं पूछी जिसमें अधिकतर द्वारा कहा गया कि लाइन के क्वाटरों में पीने के पानी का इंतजाम नहीं होने के कारण परेशानी का सामना करना पड़ता है।  कई जवानों ने कालोनी की समस्या की जानकारी देते हुए बताया कि पुराने भवन कंडम हालात मे हो चुके है उनमें रहना खतरे जैसा लगता है। कुछ ने कालोनी क्षेत्र में तारफेंसिंग न होने की समस्या की भी जानकारी दी। सभी की समस्या को सुनते हुए श्री श्रीवास्तव ने कहा कि निराकरण का प्रयास किया जाएगा। इससे पहले उन्होंने अच्छा कार्य करने वाले जवानों केो पुरस्कृत किया। सिद्धिकगंज थाना प्रभारी को भी उनके अच्छे कार्यों के लिए पुरस्कृत किया गया तथा कंजरों को पकडऩे में अहम भूमिका का निर्वहन करने वाले सौ जवानों को पुरस्कार प्रदान किए गए। यह पुरस्कार एसपी को दिया गया। पिछले दिनों कोतवाली और मंडी पुलिस के जवानों द्वारा लूट के आरोपियों को पकडऩे के लिए भी इनाम दिया गया। इसके बाद उन्होंने एसपी कार्यालय का भी निरीक्षण किया। आइजी श्री श्रीवास्तव शनिवार को भी सीहोर जिले के भ्रमण पर रहेंगे। 

जिला स्तरीय युवा उत्सव का आयोजन यहां पर किया गया जिसमें प्रतिभागियों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया

आखिरकार कांग्रेस ने की सूची जारी

राय होंगे अध्यक्ष पद के प्रत्याशी
सीहोर। शुक्रवार की शाम को आखिरकार कांग्रेस ने भी 35 वार्डों से अपने प्रत्याशियों की घोषणा कर दी। कांग्रेस की ओर से वर्तमान नगर पालिका अध्यक्ष राकेश राय ही अध्यक्ष पद के प्रत्याशी घोषित किए गए है।
आज शाम को जारी की गई सूची के अनुसार वार्ड क्रमांक 1 से श्रीमती शोभाराय 2 से अजय कुमार 3 से महेन्द्र अरोरा मिंदी, 4 से संतोष वर्मा 5 से फारुख अंजुम, 6 से कपिल राजोरिया 7 से लीलादेवी राय 8 से सुधा गेहलोत 9 से ममता त्रिपाठी 10 से विवेक राठौर 11 से सतीश दरोठिया 12 से वर्षा घनश्याम यादव 13 सविता राठौर 14 अतुल कुमार डोहर 15 से अर्चना राठौर 16 से अनिल उपाध्याय 17 से तारा दिनेश भैरवे 18 से गोविंद शर्मा 19 से पत्रकार महेन्द्र सिंह ठाकुर मनकी 20 से अनुराधा सूर्य प्रकाश वर्मा 21 से प्रीति उमेश चौरसिया, 22 से नंदनी नरेश राय 23 से संगीता रामप्रकाश चौधरी, 24 से धर्मेन्द्र यादव 25 से अनिल मिश्रा 26 से सलमा कुरैशी 27 पवन राठौर 28 श्रीमती ज्योति शैलेष राठी 29 श्रीमती रीना राहुल यादव 30 से रिजवान पठान 31 से अशफाक खान 32 से इरफान बेल्डर 33 से श्रीमती परवीन हफीज चौधरी 34 संगीता राजू पहलवान 35 से ज्योति नरेश यादव को अधिकृत प्रत्याशी घोषित किया गया है। जबकि राकेश राय नपाध्यक्ष के लिए कांग्रेस के अधिकृत प्रत्याशी होंगे। जबकि भाजपा द्वारा वार्ड क्रमांक 1 से श्रीमती नीलम राय, 2 से विपिन सास्ता, 3 से प्रकाश यादव 4 से राजेश मांझी, 5 से सानंद कुशवाह, 6 से अमित कटारिया 7 से श्रीमती नेमकुंवर माखन परमार 8 से श्रीमती रागिनी पूनम कुमार, 9 से प्रतीक पालीवाल, 10 से मनोहर मास्टर, 11 से हितेन्द्र कचनेरिया 12 से श्रीमती आशा शंकर यादव,13 से उषा आंनद राठौर 14 से कैलाश सिनोरिया, 15 से श्रीमती वैजंती राठौर, 16 से मनीष बेदी, 17 से हेमलता कसोटिया, 18 से प्रदीप गौतम, 19 से महेन्द्र वर्मा, 20 से धनवती देवी 21 से बबीता सोनकर 22 से श्रीमती गोपी बाई, 23 से श्रीमती मीना दिलीप राठौर, 24 से रामचन्दर पटेल, 25 से मुकेश मेवाड़ा, 26 से फातिमा कुरैशी, 27 से सुरेन्द्र सचदेवा, 28 से श्रीमती वीणा पारे, 29 से श्रीमती दीपक धन्नालाल राय  30 से ओम प्रकाश राय, 31 से मोहम्मद इरफान खान, 32 से मोहम्मद सलीम, 33 से श्रीमती किश्वर जहॉं, 34 से श्रीमती हेमा व्यास 35 से श्रीमती मधुबाला राठौर को टिकट  प्रदान किया गया है। वार्ड क्रमांक 6 से अधिकृत प्रत्याशी अमित कटारिया का नाम मतदाता सूची में न होने के कारण उनके भाई दिनेश कटारिया द्वारा नामाकंन पत्र जमा कराया गया है। भाजपा ने अध्यक्ष पद के लिए नरेश मेवाड़ा को प्रत्याशी घोषित किया है।

Thursday, December 23, 2010

राज्य स्तरीय कराते प्रतियोगिता के लिए शिविर शुक्रवार से शुरू

नि:शुल्क शीत कालीन मार्शल आर्ट शिविर का शुभारंभ शुक्रवार को
सीहोर। जिले के प्रतिभाओं को आत्मरक्षा के ज्ञान के साथ उच्च स्तरीय प्रतियोगिता के लिए तैयार करने के लिए मास्टर ऑफ ताओ एसोसिएशन आफ मार्शल आर्ट इंडिया के तत्वाधान में आगामी एक जनवरी से नगर के बीएसआई हेल्थ एंड स्पोट्र्स मैदान पर होने जा रही राज्य स्तरीय कराते प्रतियोगिता के लिए शुक्रवार को सुबह सात बजे नि:शुल्क शीत कालीन दस दिवसीय मार्शल आर्ट केम्प का शुभारंभ किया जाएगा। इस संबंध में मास्टर आफ ताओ एसोसिएशन आफ मार्शल आर्ट इंडिया के मुख्य प्रशिक्षक लखन ठाकुर ने जानकारी देते हुए बताया कि इस दस दिवसीय शीत कालीन मार्शल आर्ट केम्प नगर के बीएसआई क्रिकेट ग्राउंड पर किया जाएगा। जिसमें एक दर्जन से अधिक प्रशिक्षकों द्वारा शिविर में तीन दिन बेसिक एक्साइज नान चाकू और लाठी चलाने के अलावा तीन दिन किक, पंच, ब्लाक, फाइट और एक दिन पूर्ण रूप से इसकी ट्रेनिंग दी जाएगी। शिविर के समापन के बाद इसमें से जिला स्तरीय टीम का गठन किया जाएगा। जिससे आगामी एक जनवरी से होने वाले राज्य स्तरीय कराते प्रतियोगिता में अपनी कला के प्रदर्शन का मौके मिलेगा। उन्होंने जिले के सभी कराते खिलाडिय़ों से नि:शुल्क शीत कालीन दस दिवसीय मार्शल आर्ट शिविर में आने की अपील की है। जिससे प्रतिभाशाली कराते खिलाडिय़ों को आने वाले समय में राज्य स्तरीय और उच्च स्तरीय प्रतियोगिता में मौका मिल सके।उन्होंने बताया कि नि:शुल्क शीत कालीन दस दिवसीय मार्शल आर्ट शिविर में प्रमुख रूप से विमला ठाकुर, हेमंत कुशवाहा, भगवान राजपूत, निधि यादव, अशोक मेवाड़ा, संजय नामदेव, कमलेश मेवाड़ा, लखन पटेल, रति शर्मा और दया राम आदि प्रशिक्षकों की टीम का गठन किया गया है। जो इस शीत कालीन दस दिवसीय शिविर में आने वाले कराते खिलाडिय़ों को कराते का अभ्यास प्रदान करेंगे। शिविर का समय सुबह साढ़े सात बजे से सुबह नौ बजे तक रहेगा।

भाजपा के अधिकृत प्रत्याशी का नाम ही विलोपित

ऐन वक्त पर बड़े भाई ने जमा कराया फार्म
सीहोर। भाजपा द्वारा अधिकृत प्रत्याशी का नाम विलोपित सूची में पाए जाने का मामला सरगर्म बना हुआ है उनके स्थान पर प्रत्याशी के बड़े भाई द्वारा नामाकंन पत्र जमा कराया गया है।  भाजपा द्वारा कल वार्ड प्रत्याशियों की घोषणा की गई थी जिसमें सिंधी कालोनी और श्रवण का बगीचा क्षेत्र के वार्ड क्रमांक 6 के प्रत्याशी के रुप में अमित कटारिया का नाम घोषित किया गया था, जिससे उनके समर्थकों में हर्ष का माहौल देखा गया आज सुबह से नामकंन पत्र जमा कराने को लेकर सक्रियता का वातावरण देखा गया जब फार्म जमा कराने की बारी आई तो उनका नाम ही मतदाता सूची से नदारद था उनका नाम विलोपित सूची में पाया गया जिससे न केवल उनमें बल्कि उनके समर्थकों में भी निराशा का माहौल देखा गया जिसके बाद ताबड़तोड़ में समाज से ही दूसरा प्रत्याशी तलाशने का प्रयास किया गया आखिरकार अमित कटारिया के बड़े भाई दिनेश कटारिया का नामाकंन पत्र जमा कराया गया है।

भाजपा की ओर से नरेश मेवाड़ा ने फार्म दाखिल किया

सीहोर। भाजपा की ओर से अधिकृत प्रत्याशी नरेश मेवाड़ा ने आज अपना नामाकंन पत्र जमा कराया है। जबकि कांग्रेस के अधिकृत प्रत्याशी की घोषणा अभी तक नहीं की जा सकी है। कई दिनों से नगर पालिका अध्यक्ष पद के प्रत्याशियों की घोषणा का इंतजार किया जा रहा था। भाजपा द्वारा पैनल में सुनील लोवानिया, सीताराम यादव, अशोक सिसोदिया तथा नरेश मेवाड़ा का नाम पैनल में रखा गया था। बुधवार की रात को प्रदेश आलाकमान ने नरेश मेवाड़ा के नाम पर मोहर लगा दी। नरेश मेवाड़ा ने अपने सभी नेताओं के साथ जुलूस के रुप में कलेक्ट्रेट पहुंचकर अपना नामाकंन पत्र दाखिल किया। जबकि कांग्रेस अपने अधिकृत प्रत्याशी की घोषणा नहीं कर पाई है। ऐसा माना जा रहा है कि गुरुवार की रात तक कांग्रेस अपने प्रत्याशियों के नाम पर अंतिम मोहर लगा सकती है। जितनी उत्सकुता का माहौल कांग्रेस में नामों की घोषणा को लेकर था उतनी ही उत्सुकता का माहौल भाजपा और आम जनता में भी देखा गया। नाम वापसी की तारीख के बाद ही स्थिति का खुलासा हो सकेगा।

ट्रक मकान और दुकान में घुसा बड़ा हादसा टला

सीहोर। बीती रात बुदनी थाने के समीप एक बड़ा हादसा टल जाने पर सभी लोगों ने राहत की सांस ली। यहां पर तेज रफ्तार से जा रहा एक ट्रक मकान और दुकान में घुस गया रात का समय होने के कारण जनहानि की संभावना टल गई। पुलिस को मामले की शिकायत अभी नहीं की जा सकी है। प्राप्त जानकारी अनुसार बुधवार की रात को होंशगाबाद से भोपाल की ओर तेज रफ्तार से जा रहे ट्रक का चालक  रफ्तार पर नियंत्रण नहीं रख सका और थाने से कुछ ही दूरी पर स्थित मकान में जा घुसा बताया जाता है कि इस मकान की चारदीवारी को तोड़ता हुआ यह समीप की दुकान के शटर में भी जा घुसा जिससे दुकान की शटर क्षति ग्रस्त हुई है और मकान की चार दीवारी पूरी तरह क्षति ग्रस्त हो गई। यह संयोग ही था कि ठंड के कारण न तो मकान के बाहर कोई था और दुकान भी बंद थी अन्यथा किसी जनहानि की संभावना से इंकार किया जाना मुश्किल कार्य था। मामले की जानकारी पुलिस को भी लग गई है पर ट्रक चालक द्वारा हर्जाने की राशि दिए जाने की स्वीकृति के कारण फिलहाल रिपोर्ट नहीं की गई है।

आज या कल आ सकते है आइजी

सीहोर। पुलिस महानिरीक्षक शैलेन्द्र श्रीवास्तव थानों का निरीक्षण करने के लिए आज या कल सीहोर जिले के भ्रमण पर रहेंगे।  वार्षिक निरीक्षण के लिए पुलिस महानिरीक्षक शैलेन्द्र श्रीवास्तव यहां पर आ रहे है। उनके आगमन की पूर्व सूचना को देखते हुए जिले भर के थानों में विशेष तैयारियां भी की जा रही है। थानों में रंगरोंगन कार्य किया जा रहा है। थानों में पर्दें लगाने से लेकर सजावट की हर तैयारियां आरक्षक से लेकर टीआइ द्वारा अंजाम दी जा रही है। पुलिस लाइन पर उनके द्वारा परेड का निरीक्षण किया जाकर जवानों की समस्याओं को दरबार में सुना जाएगा। इसके उपरांत श्री श्रीवास्तव जिले के किसी भी एक या दो थाने का निरीक्षण भी आकस्मिक रुप से कर सकते है। जिसको दृष्टिगत रखते हुए सभी थानों में पर्याप्त सर्तकता बरतती जा रही है। 24 या 25 दिसम्बर उनके आगमन की तिथि दी गई है। देखना यह है कि उनका आगमन किस तिथि पर होता है और वे किस थाने की कार्यप्रणाली पर प्रसन्नता और किस थाने की कार्य प्रणाली पर अप्रसन्नता जाहिर करते है।

Wednesday, December 22, 2010

थानों का रंगरोगन प्रारंभ

 पुलिस महानिरीक्षक के निरीक्षण की सूचना पर सक्रिय हुआ महकमा 
सीहोरजिले में सभी थानों को सुसज्जित करने तथा उनका रंगरोगन किए जाने का कार्य तेज गति से प्रारंभ कर दिया गया है। पुलिस महानिरीक्षक द्वारा किए जाने वाले वार्षिक निरीक्षण को दृष्टिगत रखते हुए जिलेभर में पुलिस महकमा सक्रिय नजर आ रहा है।विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस महानिरीक्षक शैलेन्द्र श्रीवास्तव 23 व 24 दिसंबर को दो दिवसीय वार्षिक निरीक्षण पर जिले में रहेंगे। इस दौरान वे पुलिस लाइन पर परेड का निरीक्षण करेंगे। इसके अलावा पुलिस अधीक्षक कार्यालय, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस कार्यालय के साथ-साथ जिले के किसी भी थाने का आकस्मिक निरीक्षण कर सकते हैं। इसी सूचना को दृष्टिगत रखते हुए विभाग द्वारा मुस्तैदी के साथ कार्य किया जा रहा है। थाना प्रभारी अपने पेडिंग कार्यों को पूरा करने में नजर आने के साथ-साथ थानों को सुसज्जित करने की भी तैयारी कर रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में अधिकांश थानों में इन दिनों रंगरोगन का कार्य तेजी के साथ किया जा रहा है। पुलिस महानिरीक्षक के आगमन को दृष्टिगत रखते हुए सभी थानों की व्यवस्थाओं को सुचारू रूप प्रदान किए जाने का कार्य किया जा रहा है। थानों के फोन दुरूस्त कराए जाने के साथ-साथ फोन पर उचित तरीके से जबाब दिए जाने का कार्य भी किया जा रहा है। बीच में इस बात की शिकायतों में वृद्धि हुई है कि थानों पर फोन उठाने वाले जवान जनसामान्य से अच्छा व्यवहार नहीं कर रहे हैं। एक थाने के मामले में इसकी शिकायत पुलिस महानिदेशक को भी गई है। इसको देखते हुए व्यवस्थाएं दुरूस्त की जा रही है।

कटौती बनी परेशानी

 काम के नाम पर दिन भर गायब रहती है 
सीहोरबिजली इन दिनों शहर में काम के नाम पर बिजली कटौती की जाना आम बातों में शामिल हो गई है। जिससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जिले में लोग बिजली कटौती की समस्या से पहले से ही हैरान परेशान चल रहे है ऐसे में जिला मुख्यालय मे आए दिन बिजली कटौती लोगों के लिए परेशानी का सबब बनती जा रही है। दुर्भाग्य का विषय यह है कि चुनाव के समय में भी राजनीतिज्ञ लोगों की विकराल होती समस्या से अंजान बने हुए है। जबकि बिजली विभाग हमेशा  की भांति काम का बहाना बना रहा है। जिला मुख्यालय पर बिजली कटौती का समय सुबह सात बजे से ग्यारह बजे तक तथा दोपहर को तीन बजे से शाम पांच बजे तक जाती है पर  बिना किसी पूर्व सूचना के बिजली सुबह आधे घंटे पहले जा रही है और आने के समय में भी यही स्थिति बनती है। दोपहर में भी यही आलम रहता है कभी आधा घंटे पहले और कभी आधा घंटे के बाद बिजली आती है  जिसके कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
तयशुदा नहीं
बिजली कब आएगी और कब जाएगी यह कभी तय शुदा नहीं रहता है तथा इसके अलावा बिजली विभाग के आला अधिकारी कटौती के मामले में इतनी होशियारी बरत रहे कि घोषित कटौती के अलावा की जाने वाली कटौती को एक दिन किसी एक क्षेत्र में  समय बढ़ा दिया जाता है और दूसरे दिन कटौती अन्य क्षेत्र में की जाती है। जिससे लोगों में एक साथ असंतोष उभर जाता, यह असंतोष पर नियंत्रण रखने पर विभाग के अधिकारी सफल भी हो रहे है।
काम की आड़
शहर के विभिन्न हिस्सों में मंगलवार को सुबह साढ़े छह बजे बिजली गई जो शाम पांच बजे के बाद ही आ सकी। बताया जाता है कि स्थानीय सिंधी कालोनी, बस स्टैंड, इंग्लिशपुरा तथा भोपाल नाका आदि क्षेत्रों में यह बिजली गायब रही। लोगों ेद्वारा बिजली कटौती का कारण जानना चाहा तो उन्हें शिकायत केन्द्र के नम्बर से  कोई उचित जानकारी नहीं दी गई। बार बार फोन लगाकर जानकारी लेने के बाद यह बताया गया कि इन्द्रा नगर कालोनी में 33 केव्ही की लाइन के तार टूट जाने के कारण बिजली व्यवस्था भंग हो गई है। जिसको सुधारने का कार्य किया जा रहा है। मंगलवार के पहले रविवार को भी सुबह साढ़े छह बजे गई बिजली शाम पांच बजे के बाद ही  आ सकी इसके लिए भी यही कहा जा रहा था कि कम्पोजिट बिल्डिंग का कार्य पूरा करने के निर्देश प्रशासन ने दिए है जिसे पूरा किया जा रहा है। लगातार बिजली कटौती के कारण लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जहां दुकानदारों का कारोबार प्रभावित हो रहा है वहीं यहां पर गृहणियों के कार्य भी प्रभावित हो रहे है उन्हें पीने के पानी का इंतजाम करने में काफी दिक्कतें आ रही है। विभाग द्वारा इस समस्या की ओर ध्यान नहीं दिया जाने से लोगों में नाराजगी है। सूचना देकर होना चाहिए कटौतीबिजली कटौती लोगों की परेशानी का सबब बनी हुई है। लोगों में नाराजी इस बात की है कि बिजली विभाग द्वारा लोगों की परेशानियों को नहीं समझा जा रहा है। लाइन की मरम्मत का कार्य जब किया जाता है तो उसकी सूचना दी जाना चाहिए, ताकि लोगों को अपनी व्यवस्था करने का समय मिल सके। इसके अलावा विद्युत शिकायत केन्द्र पर भी फोन लगने वाले उपभोक्ताओं को इस आशय की जानकारी दी जाना चाहिए कि बिजली आने का संभावित समय क्या है, ताकि लोग परेशानी से बच सके।
मंगलवार को लाइन टूट जाने के कारण विद्युत प्रवाह बंद रहा तथा रविवार को  भी लाइन डालने का कार्य किया जा रहा था जिससे विद्युत प्रवाह बंद रहा। व्यवधान आने के कारण बिजली प्रवाह बंद रखना मजबूरी हो रहा है।
- पीसी गुप्ता
जेई बिजली विभाग

Tuesday, December 21, 2010

चेहरों पर खुशियां नजर आई

 मिनी शिर्डीधाम में वार्षिक उत्सव समारोह संपन्न हुआ, विकलांगों को साइकल और गरीबों को कम्बल 
सीहोर स्थानीय चाणक्यपुरी में मिनी शिर्डी धाम की स्थापना को एक साल पूरा होने के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम का समापन दीपोत्सव से हुआ और इस अवसर पर विकलांगों को साइकल और गरीबों को कम्बल वितरित किए गए जिससे उनके चेहरों पर खुशियां नजर आई। सांईबाबा मंदिर में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया जिसका समापन गत दिवस रात को दीपोत्सव के साथ हुआ, लोग अपने घरों से दीपक लेकर आए और उसे मंदिर में सजाया। शिर्डी स्थित द्वारका माई की भांति सीहोर का मंदिर जगमग हो रहा था। इससे पहले शिर्डी से पधारे पंडित वैभव शास्त्री गुरु जी रतन पारखी तथा भोपाल इतवारा के सांई दरबार के बाबा साहेब ने विकलांगो का साइकल वितरित की तथा गरीबों को कम्बल वितरित किए गए। बाबा साहेब ने सभी विकलांगों का तिलक कर उन्हें सांई बाबा की ओर से आशीर्वाद प्रदान किया। बाबा साहेब ने सीहोर मंदिर प्रबंध समिति के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि हमें जीवन भर इसी प्रकार से गरीबों की सेवा के लिए तत्पर रहना होगा तभी बाबा की कृपा के असली पात्र हम बनेंगे। पंडित वैभव शास्त्री रतन पारखी ने कहा कि यहां जो कार्य किए जा रहे है वो प्रंशसनीय है इस प्रकार के कार्यों को लगातार किए जाने की प्रेरणा देते हुए उन्होंने कहा कि बाबा की कृपा का ही प्रसाद है कि सीहोर का मंदिर साल भर में मिनी शिर्डी धाम के रुप में पहचान बनाने में सफल हुआ है। उन्होंने कहा कि जो कोई भी अपने जीवन में श्रद्धा और सबूरी रखता है उस पर बाबा की कृपा अवश्य होती है।

अध्यक्ष पर खर्च का अंकुश, पार्षद पर नहीं नियंत्रण

 सीहोर.नगर पालिका सीहोर और नगर पंचायत शाहगंज के चुनाव के लिए प्रशासन के साथ-साथ प्रत्याशियों ने भी अपनी कमर कस ली है। इन चुनावों में खर्च करने का बंधन केवल अध्यक्ष पद के प्रत्याशियों पर रखा गया है पर पार्षद के प्रत्याशी इन बंधनों से मुक्त रहेंगे।  प्रशासन जहां सारे कार्य को गंभीरता के साथ अंजाम देने में जुटा हुआ नजर आ रहा है वहीं प्रत्याशियों द्वारा अपने राजनैतिक आकाओं को प्रसन्न करने की दिशा में प्रयास किया जा रहा है। टिकट के लिए यह सभी तरह के प्रयास करने की दिशा में अग्रसर नजर आ रहे है। अध्यक्ष की टिकट के लिए राजधानी में दौड़ लगाई जा रही है तो पार्षद के लिए स्थानीय नेताओं के द्वार पर दस्तक दी जा रही है। पार्षद के टिकट के लिए तो भोज की राजनीति प्रारंभ हो चुकी है। रोजाना एक दर्जन से भी अधिक भोज का आयोजन हो रहा है। सभी संभावित दावेदार अपनी ओर से कोई कोर कसर बाकी नहीं रखना चाहते है। कड़ाके की सर्दी में भी राजनैतिक माहौल हर तरफ गर्म दिखाई दे रहा है। संभावित प्रत्याशियों को दो तरफ ध्यान रखकर कार्य करना पड़ रहा है एक तो टिकट मिल जाए दूसरा कोई अन्य दावेदार भी न रुठ जाए, बहरहाल अभी तक भाजपा ने ही 35 वार्ड में से 16 नामों पर अंतिम मोहर लगाई है पर सभी का मानना है कि नाम वापस की अंतिम तारीख तक ही स्थिति स्पष्ट हो सकेगी। बहरहाल अभी तो सभी जुटे हुए है पर अध्यक्ष पद के लिए मैदान पर उतरने वाले प्रत्याशियों को अपने प्रचार प्रसार के खर्च का हिसाब किताब विधानसभा के प्रत्याशियों की तरह देना होगा। बताया जाता है कि नपा अध्यक्ष पद के दावेदार को निर्वाचन आयोग द्वारा एक लाख रुपए खर्च करने की अनुमति प्रदान की गई है। उन्हें एक लाख रुपए तक का खर्च कर अपना हिसाब समय अवधि के भीतर देना होगा। जबकि नगर पंचायत अध्यक्ष पद के दावेदार प्रत्याशी को चुनाव पर खर्च करने के लिए पच्चीस हजार रुपए अधिकृत किए गए है। उन्हें पच्चीस हजार रुपए तक का खर्चा कर अपना हिसाब किताब जमा कराना होगा। उपनिर्वाचन अधिकारी गिरीश शर्मा ने इस संवाददाता को बताया कि खर्च का आधार वर्ष 1995 की जनगणना को बनाया गया है जनगणना के अनुसार ही अध्यक्ष के लिए खर्च की राशि निर्धारित की गई है। श्री शर्मा ने बताया कि 50 हजार से 1 लाख की आबादी वाले क्षेत्र के नपाध्यक्ष को एक लाख रुपए खर्च करने की इजाजत आयोग द्वारा दी गई है। 50 हजार मतदाता वाली नगर पालिका के अध्यक्ष को 50 हजार रुपए खर्च करने की पात्रता है।  इस तरह सीहोर के लिए अध्यक्ष पद का प्रत्याशी एक लाख रुपए खर्च कर सकेगा।  नगर पालिका और नगर पंचायत के लिए पार्षद का चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों पर न तो खर्च करने पर कोई नियंत्रण रहेगा और न ही किसी प्रकार का हिसाब किताब देना होगा। इन्हें पिछले चुनाव की भांति ही बेहिसाब खर्च करने की इजाजत रहेगा यह किसी भी दवाब से मुक्त रहेंगे ।

Monday, December 20, 2010

पालकी यात्रा निकली

 सांई मंदिर में गूंजे भक्ति के तराने, पालकी यात्रा का हुआ भव्य स्वागत 
सीहोर चाणक्यपुरी स्थित सांईबाबा मंदिर के सलाना जलसे मे आज पालकी यात्रा का आयोजन किया गया जिसमें बड़ी संख्या में सांईभक्त शामिल हुए। यहां आयोजित भंडारें में बड़ी संख्या में लोगों ने प्रसादी ग्रहण की।
चाणक्यपुरी के सांई बाबा मंदिर की स्थापना को एक साल पूरा हो जाने के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रमों की श्रृंखला में आज पालकी यात्रा निकाली गई जिसमें बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने भाग लिया। शाम को भजन संध्या में भक्ति के तरानों ने लोगों को मंत्र मुग्ध कर दिया। आज भंडारें का आयोजन भी किया गया जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने पहुंचकर प्रसादी ग्रहण की। आज सुबह भोपाल नाका स्थित हनुमान मंदिर से पालकी यात्रा प्रारंभ हुई जिसमें शिर्डी से आए पंडित वैभव शास्त्री गुरुजी रतन पारखी एवं भोपाल के सांई दरबार से बाबा साहेब विशेष रुप से शामिल हुए। पालकी यात्रा का स्थान-स्थान पर पुष्पवर्षा कर स्वागत किया गया। पालकी यात्रा में पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष जसपाल सिंह अरोरा  भी शामिल हुए। यात्रा का स्वागत कांग्रेस नेता हरीश राठौर ने किया उसके बाद महाराष्ट्रीय समाज द्वारा भी यात्रा का आत्मीय स्वागत किया गया। यात्रा सांई बाबा मंदिर पहुंची जहां आरती और प्रसाद वितरण किया गया। आज इस उपलक्ष्य में बाबा का नयनाभिरामी श्रृंगार भी किया गया था। सभी ने इस आर्कषक श्रृंगार की सराहना की। बाद में भंडारे का आयोजन किया गया जिसमें भोपाल से आए बाबा साहेब ने लोगों को तिलक लगाकर तथा पुष्प वर्षा कर आशीर्वाद प्रदान किया। शाम तक चले भंडारें में हजारों लोगों ने प्रसादी ग्रहण की। इससे पहले रविवार की शाम को भजन संध्या का आयोजन किया गया जिसमें प्रदेश के ख्यातनाम भजन गायक तारिक अंसारी और कविता सक्सेना ने सांई बाबा की भक्ति भावना से ओतप्रोत भजनों के अलावा माता और भगवान श्री कृष्ण तथा अन्य भजनों की प्रस्तुति कर लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। कड़ाके की सर्दी के बाद भी लोग भजनों को सुनने के लिए देर रात तक जम रहे। यहां पर भाजपा विधायक रमेश सक्सेना भी उपस्थित हुए उन्होंने भी रघुपति राघव राजाराम तथा अन्य भजनों की प्रस्तुति कर लोगों को मंत्र मुग्ध कर दिया। श्री सक्सेना ने सभी सांई भक्तों को साधुवाद दिया।

अंग्रेजी प्रेम चर्चाओं में

नगर पंचायत बुदनी द्वारा अंग्रेजी में निविदा जारी की गई 
सीहोरसरकार हिन्दी को बढ़ावा देने के लिए लगातार प्रयास कर रही है ऐसे में  नगर पंचायत बुदनी द्वारा अंग्रेजी में निविदा का प्रकाशन कराया गया है।  प्रदेश शासन और केन्द्र शासन द्वारा इन दिनों जोर देकर इस बात के प्रयास किए जा रहे है कि लोग अधिक से अधिक हिंदी में कार्य कर अपनी मातृ भाषा में कार्य करें ताकि लोगों को समझने में आसानी हो। सरकार द्वारा लोगों को हिंदी में कार्य करने की प्ररेणा दी जा रही तथा इस बात के प्रयास भी किए जा रहे है कि कम से कम सरकारी कार्यालयों में तो हिंदी में ही कामकाज हो।
सरकार की इस भावना से प्रेरित होकर कार्य करने की दिशा में कई सरकारी कार्यालय तेजी से प्रयास कर भी रहे है  खास तौर से बैंको में तो हिन्दी में कार्य करने के लिए ग्राहकों को भी प्रेरणा दी जा रही है। यहीं कम्प्यूटर पर भी यूनिक कोड के माध्यम से हिंदी भाषा को महत्व दिया जाकर विदेशों में बसे हिन्दी भाषियों को मदद प्रदान की जा रही है। इन सारी परिस्थितियों के बीच में नगर पंचायत बुदनी ने एक निविदा को अंग्रेजी में प्रकाशित करवाकर लोगों को चौंका दिया है। जानकारी अनुसार 15 दिसम्बर को नगर पंचायत बुदनी के सीएमओ आरके पांडे और नगर पंचायत अध्यक्ष सुभाष पंजाबी के नाम से जारी की गई इस अंग्रेजी की निविदा में 61.93 लाख के कार्य को 120 दिन में पूरा करने के लिए  एस श्रेणी के तृतीय क्लास के ठेकेदारों से आवेदन जमा कराने का आग्रह किया गया है। इस निविदा को 17 जनवरी 2011 को दोपहर साढ़े तीन बजे खोला जाएगा। निविदा के आवेदन प्राप्त करने के लिए अंतिम तिथि 4  जनवरी को निर्धारित की गई है। इसके उपरांत को 10 जनवरी को चर्चा किए जाने का समय सुबह 11 बजे दर्शाया गया है। नगर पंचायत बुदनी द्वारा अंग्रेजी में जारी की गई निविदा चर्चाओं में है लोगों का कहना है कि इस प्रकार बुदनी नगर पंचायत द्वारा अप्रत्यक्ष रुप से अंग्रेजी के महत्व को प्रतिपादित करने का प्रयास किया गया है जो कि हर तरह से गलत है। 
ऐसा क्यों किया गया? 
 नगर पंचायत द्वारा हिन्दी की जगह पर अंग्रेजी में निविदा जारी करने का कारण न तो लोगों को समझ में आ रहा है और न ही ठेकेदारों को, ठेकेदारों का तो कहना है कि ज्यादा लोगों को इस कार्य की जानकारी न हो पाए इसलिए इसे अंग्रेजी में जारी कर दिया गया है। नगर पंचायत सीएमओं का यह तर्क भी लोगों के गले नहीं उतर रहा है कि इसे नियमानुसार अंग्रेजी में जारी किया गया है। लोगों का कहना है कि हिंदी के अखबार में अंग्रेजी की निविदा का प्रकाशन समझ से परे है। बहरहाल अभी तो यह निविदा अंग्रेजी प्रेम के कारण चर्चा में है।
 
हमने नियमानुसार ही अंग्रेजी में निविदा जारी की है। इससे पहले हिंदी में भी निविदा जारी की जा चुकी है।
-आरकेपांडे
सीएमओ नगरपंचायत
बुदनी  

Sunday, December 19, 2010

हवन के लिए शिर्डी से आए

स्थापना के एक वर्ष पूर्ण होने पर मंदिर में दो दिवसीय कार्यक्रम प्रारंभ 
सीहोरशहर के चाणक्यपुरी में शिर्डी के सांई बाबा की मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा एवं मंदिर निर्माण के एक वर्ष पूर्ण होने पर दो दिवसीय धार्मिक कार्यक्रमों का श्रीगणेश रविवार की सुबह से हुआ। यहां पर हवन कराने के लिए शिर्डी से विशेष रुप से पंडित वैभव शास्त्री गुरु जी रतन पारखी आए हुए है।
जिला मुख्यालय पर चाणक्यपुरी में क्षेत्र के लोगों के सहयोग से शिर्डी के सांई बाबा का मंदिर बनाया गया है, एक वर्ष में इस स्थान ने मिनी शिर्डी धाम के रूप में ख्याति बना ली है। साल भर पूर्ण होने के उपलक्ष्य में श्री सांई समाज कल्याण समिति श्री सांई संस्थान द्वारा दो दिवसीय कार्यक्रम आयोजित किए गए है। पहले दिन यहां पर शिर्डी से विशेष रुप से पंडित वैभव शास्त्री गुरु जी रतन पारखी ने पूर्ण विधि विधान के साथ यज्ञ कराए जिसमें सांई भक्तों ने सपरिवार भाग लिया। मंदिर में जगमग प्रकाश, पालकी यात्रा आजसाल भर पूर्ण होने के उपलक्ष्य में मंदिर और मंंदिर परिसर में आर्कषक विद्युत साज-सज्जा की गई है जो दूर से ही लोगों को बरबस अपनी ओर खींच रही है। कार्यक्रम के दूसरे दिन सोमवार की सुबह दस बजे भोपाल नाका स्थित हनुमान मंदिर से पालकी यात्रा निकलेगी जो सांई मंदिर पर पहुंचेगी। रात को दीपोत्सव का आयोजन किया गया है। द्वारका माई पर होने वाले दीपोत्सव की तर्ज पर यहां पर यह आयोजन किया गया है।

एसपी के निर्देशों पर नहीं हो रहा पालन

 सीहोर जिले में इन दिनों थानों में एसपी के निर्देशों का पालन नहीं हो रहा है। कई थानों के फोन खराब पड़े है तो कई थानों में आज भी आरक्षक और सैनिक ही फोन उठा रहे है ।ज्ञातव्य है कि जिला पुलिस अधीक्षक केडी पाराशर ने कार्यभार संभालने के बाद ही इस बात की ताकीद दी थी कि थानों में फोन उपनिरीक्षक स्तर के पुलिस कर्मी द्वारा उठाए जाए जिस पर कुछ दिन ही अमल हो सका है पर अब जिले के कई थानों की स्थिति यह है कि उपनिरीक्षक तो दूर सैनिक फोन उठा रहे है तथा जहां पर प्रधान आरक्षक फोन उठा रहे है वहां पर संतोषजनक उत्तर नहीं दिए जा रहे है। इछावर थाने में पदस्थ सैनिक की मौत के मामले में भी थाने से उनके परिजनों को उचित जानकारी फोन पर नहीं मिल पाई। टीआइ हेमपाल सिंह सिंघई ने बताया कि थाने में होने की स्थिति में मैं ही फोन उठाता हूं मुझे भी इस प्रकार की शिकायत मिली है स्टाफ को हिदायत दी जा रही है। इसके अलावा नसरुल्लागंज का फोन बंद रहता है।

चार दीवारी ने बढ़ाई धड़कन

 सीहोर.कम्पोजिट बिल्डिंग के साथ-साथ माध्यमिक  शाला अभ्यास में बन रही चार दीवारी ने विद्यालय प्रबंधन और छात्र-छात्राओं की धड़कनें बढ़ा दी है। इन दिनों कम्पोजिट बिल्डिंग का निर्माण कार्य जोरों पर चल रहा है इसी क्रम में चार दीवारी का कार्य भी प्रगति पर है पर इस चार दीवारी ने शासकीय  माध्यमिक शाला अभ्यास के विद्यार्थियों और स्टाफ की धड़कन बढ़ा दी है जिसको लेकर इनमें चिंता का वातावरण देखा जा रहा है कि कहीं भवन को अन्यत्र स्थान पर तो स्थानातंरित नहीं किया जा रहा है। जिला मुख्यालय पर बन रही कम्पोजिट बिल्डिंग का कार्य लंबे समय से चल रहा है जिसके लोकापर्ण को लेकर कयास भी कई दिनों से चल रहे है ऐसा माना जा रहा है कि 31 मार्च 2011 तक भवन को पूर्ण करने के आदेश ठेकेदार को दे दिए गए है इसको लेकर ही कार्य में तेजी आ रही है। इसी तारतम्य में यहां पर चार दीवारी का कार्य चल रहा है जिसको लेकर सबसे अधिक जिज्ञासा और परेशानी शासकीय माध्यमिक शाला अभ्यास को हो रही है। चार दीवारी बनने से उन्हें कोई ऐतराज नहीं है ऐतराज उन्हें इस बात को लेकर है कि जिस प्रकार से चार दीवारी द्वारा उनके स्कूल भवन को कैद किया जा रहा है उससे कहीं उनके भवन को तो अन्यत्र स्थापित करने की योजना तो नहीं बन रही है।
जानकारी अनुसार इस स्कूल के प्राथमिक विभाग में लगभग सवा सौ विद्यार्थी और माध्यमिक विभाग में करीब एक सौ दस विद्यार्थी अध्यनरत है। इसके अलावा यहां पर हेड स्टार्ट योजना के अंर्तगत आधा दर्जन कम्पयूटर लगाए गए है तथा यहां पर जन शिक्षा केन्द्र भी बना हुआ है। दोनों के लिए ही नए भवन करीब सात लाख की लागत से कुछ दिन पहले ही बनाए गए है। जिस प्रकार से शनिवार को चार दीवारी का कार्य चल रहा था उससे शाला में जाने के लिए गेट तो रखा गया है पर सामने से उसे पूरी तरह बंद किया जा रहा है जिसको लेकर सभी में जिज्ञासा का वातावरण बना हुआ है। विद्यार्थियों का कहना है कि चार दीवारी बनने तक तो कोई दिक्कत नहीं है पर  यदि भवन कहीं ओर ले जाया जाता है तो दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। स्टाफ भी नाम न प्रकाशित करने की शर्त कह रहा है कि भवन यहीं होना चाहिए है। जिला शिक्षा परियोजना अधिकारी श्रीमती मीना रावत ने बताया कि उन्हें भी इस बात की जानकारी मिली है कि चार दीवारी में स्कूल आ रहा है पर यह किसके आदेश से क्यों हो रहा है इसकी जानकारी मुझे भी नहीं है। भवन को कहीं और स्थानातंरित करने के लिए  किसी प्रकार के आदेश नहीं मिले है। कम्पोजिट बिल्डिंग में बिजली का कार्य पिछले दिनों यहां पर बिजली विभाग द्वारा कम्पोजिट बिल्डिंग में विद्युत प्रदाय करने का कार्य भी पूरा किया। बताया जाता है बिजली विभाग के आला अधिकारियों की देखरेख में यह कार्य संपन्न कराया गया। बिजली कनेक्शन दिए जाने के बाद यहां पर शेष कार्य कराए जाने की तैयारियां की जा रही है।

Saturday, December 18, 2010

मिनी शिर्डीधाम पर गूंजेंगे भक्ति के तरानें

 प्राण प्रतिष्ठा का एक वर्ष पूरा होने पर दो दिवसीय आयोजन होंगे 
सीहोर स्थानीय चाणक्यपुरी क्षेत्र में स्थित मिनी शिर्डी धाम की स्थापना के एक साल पूरा होने पर दो दिवसीय भक्तिमय कार्यक्रमोंं का आयोजन किया जाएगा। यह आयोजन रविवार और सोमवार को संपन्न होंगे जिसके लिए युद्धस्तर पर तैयारियां की जा रही है। श्री सांई समाज कल्याण समिति श्री सांई संस्थान द्वारा उपलब्ध कराई गई जानकारी अनुसार रविवार की सुबह गुरु दत्तात्रेय जयंती के पावन अवसर तथा मंदिर में मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा के एक वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में विशेष कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। यह कार्यक्रम दो दिवसीय रहेंगे। रविवार की सुबह नौ बजे हवन यज्ञ प्रारंभ होगा। हवन यज्ञ शिर्डी से विशेष रुप से पधार रहे पंडित वैभव गुरु जी महाराज रतन पारखी द्वारा कराया जाएगा। सांई बाबा की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा भी पंडित वैभव गुरु जी द्वारा ही पूर्ण विधि विधान के साथ कराया गया था उनके दोबारा आगमन को लेकर सांई भक्तों में हर्ष का वातावरण देखा जा रहा है। रविवार की सुबह हवन यज्ञ का आयोजन के उपरांत शाम 6 बजे से भजन संध्या का आयोजन किया गया है। जिसमें प्रदेश की ख्यातनाम भजन गायिका कविता सक्सेना एवं भजन गायक तारिक अंसारी द्वारा भजनों की प्रस्तुति की जाएगी। इसके अलावा सोमवार को पालकी यात्रा का आयोजन किया गया है। सुबह दस बजे से पालकी यात्रा भोपाल नाका स्थित हनुमान मंदिर से प्रारंभ होगी जो विभिन्न मार्गों से होती हुई चाणक्यपुरी स्थित सांई मंदिर पर पहुंचेगी। पालकी यात्रा के उपरांत दोपहर दो बजे पूर्णाहुति, आरती की जाएगी। जिसके बाद महाप्रसादी का वितरण किया जाएगा। महाप्रसादी के उपरांत निर्धनों को कम्बल और विकलांगों को सायकल का भी वितरण किया जाना तय किया गया है। इसके उपरांत सोमवार की शाम 7 बजे से दीपोत्सव का आयोजन किया गया है। जिसमे सांई भक्तों द्वारा अपने घरों से दीपक लेकर आएंगे और जिस प्रकार से शिर्डी में द्वारका माइ में दीपोत्सव होता है उसी प्रकार यहां पर दीपोत्सव किया जाएगा। श्री सांई समाज कल्याण समिति श्री सांई संस्थान के पदाधिकारियों एवं सदस्यों ने शहर के सभी सांई भक्तों के अलावा धर्म प्रेमी जनता से आयोजन में शामिल होने की अपील की है।

हाइकोर्ट से जमानत

 सीहोर आखिरकार नगर पंचायत अध्यक्ष सुनील राठी को हाइकोर्ट से जमानत प्रदान कर दी गई। इसी आदेश के परिपालन में शुक्रवार को न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी अनिल पाठक ने उनकी रिहाई के आदेश प्रदान किए। कांग्रेस नेता और नगर पंचायत अध्यक्ष सुनील राठी 8 नवंबर से जेल में थे, अवैध रुप से रसोई गैस सिलेंडर रखने का आरोप दोष सिद्ध होने पर उन्हें जेल भेजने के आदेश दिए गए थे। तब से ही उनके द्वारा जमानत के प्रयास किए जा रहे थे। उनके अभिभाषक रवीन्द्र भारद्वाज ने बताया कि   आपराधिक निगरानी पर 16 दिसम्बर को हाइकोर्ट जबलपुर से 15 हजार रुपए की जमानत तथा 15 हजार रुपए के मुचलके पर जमानत मंजूर की गई। हाइकोर्ट के आदेश के परिपालन में उनके अभिभाषक द्वारा आज न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी अनिल पाठक के समक्ष जमानत और मुचलका प्रस्तुत किया गया जिस पर उनकी रिहाई के आदेश प्रदान किए गए। शुक्रवार की शाम को चर्चा करते हुए श्री राठी ने बताया कि अभी वो अस्पताल में है तथा यहां से जेल जा रहे है वहां से रिहाई होगी। श्री राठी की जमानत होने पर उनके समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ गई।

दूसरे की जमीन का बयाना ले लिया

 सीहोर,किसी अन्य की जमीन को अपनी जमीन बताकर डेढ़ लाख रुपए हड़पने का मामला प्रकाश में आने पर पुलिस ने धोखाधड़ी का अपराध कायम कर लिया है। पुलिस से मिली जानकारी अनुसार  दोराहा थानार्न्तगत ग्राम बैरागढ़ खुमान निवासी मनीष मेवाड़ा, दिलीप मेवाड़ा,   धनकुंवर, नाना भाई गोस्वामी, बने सिंह ने 24 नवम्बर 2008 को एक अनुबंध पत्र के माध्यम से सन शाइन कालोनी ईदगाह हिल्स भोपाल निवासी को मुजाहिदउद्दीन आत्मज अब्दुल नासिर को बेचने का सौदा किया। पुलिस के अनुसार इन लोगों ने अनुबंध पत्र पर अपने फोटो लगाकर करीब डेढ़ लाख रुपए की राशि का बयाना भी प्राप्त किया। निश्चित तारीख पर इस जमीन की रजिस्ट्री कराना भी तय किया गया पर समय नजदीक आने पर इन लोगों ने रजिस्ट्री कराने में आनाकानी करना शुरू कर दी, जिस पर से जमीन खरीददार द्वारा अपने स्तर पर मालूमआत की गई तो पता चला कि वह जमीन तो किसी और की है। पहले अपने स्तर पर पैसे निकालने के प्रयास किए गए पर बाद में पुलिस को शिकायत की गई जिसके आधार पर पुलिस ने इन सभी के खिलाफ भादवि की धारा 419, 420,467, 468, 471, 120 बी के अंर्तगत प्रकरण कायम कर जांच कार्य शुरु कर दिया है। यह धोखाधड़ी का मामला क्षेत्र में जनचचर्चा का विषय बना हुआ है।
पहले भी की है ऐसी ही धोखाधड़ी
किसी दूसरे की जमीन को अपनी बताकर उससे बयाना लेने का आरोपियों के लिए यह कोई पहला मामला नहीं है। पुलिस के अनुसार ईदगाह हिल्स भोपाल के मुजाहिदउद्दीन के साथ धोखाधड़ी करने वाले आरोपियों में से प्रमुख आरोपी मनीष मेवाड़ा द्वारा वर्ष 2008 में भी इसी प्रकार की धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज किया जा चुका है। उस समय भी उसने किसी दूसरे की जमीन को अपनी बताकर बेच दी थी।

पांच माह से स्कूल बंद

 दिनेश नागर,  इछावर
एक तरफ शासन स्कूल चलो अभियान की हिमायत कर रहा है वहीं दूसरी तरफ पांच माह से स्कूल बंद होने का मामला प्रकाश में आया है।विकासखंड मुख्यालय से बीस किलोमीटर की दूरी स्थित आदिवासी ग्राम डूंडलावा में पांच माह से प्राथमिक विद्यालय का ताला नहीं खुला है। जिससे बच्चों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है वहीं अभिभावक भी हैरान परेशान है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार स्कूल में 160 विद्यार्थी हैं और दो शिक्षक तथा एक अतिथि शिक्षक इस स्कूल में पदस्थ हैं। फिर भी 15 अगस्त से आज तक स्कूल का ताला नहीं खुला है। बच्चे स्कूल आते हंै और स्कूल के मुख्यद्वार पर ताला लगा देख वापस लौट जाते हैं और फिर आंगनवाड़ी में बैठकर भोजन करते हैं। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता अनीता कर्मा ने बताया कि 15 अगस्त के बाद से ही स्कूल बंद देखकर बच्चे आंगनबाड़ी में आ जाते हैं। उन्हें यहीं पर बैठाकर पढ़ाती हूं और मध्यान्ह भोजन भी कराया जाता है। ग्रामीणों का कहना है कि यहां पदस्थ दोनों शिक्षक स्कूल का ताला तक नहीं खोलते हैं। एक ओर जहां शिक्षा विभाग अनिवार्य शिक्षा कानून लागू करने में लगा हुआ है। वहीं पर उन्हीं के अधीनस्थ कर्मचारी कानून का खुलेआम उल्लघंन कर रहे हैं, जिस ओर विभाग का ध्यान नहीं है। छात्रा ज्योति कर्मा ने बताया कि हम लोग रोजाना स्कूल आते हैं, लेकिन पिछले पांच से स्कूल का ताला नहीं खुल रहा है, इसलिए पास में स्थित आंगनवाड़ी में बैठ जाते हैं, यहां हमे मध्यान्ह भोजन मिल जाता है। इस मामले की जानकारी अनेक बार ग्रामीणों ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को दी है, लेकिन आज तक इस पर किसी प्रकार भी प्रकार से कोई कार्रवाई नहीं होना आश्चर्य का विषय बना हुआ है। विद्यालय के संकुल शिक्षकों ने नाम न प्रकाशित करने की शर्त पर बताया कि हमारे द्वारा कई बार इस समस्या को लेकर विभाग के आला अधिकारियों को जानकारी दी जा चुकी है पर वो जानकार भी अनजान बने हुए है जिससे बच्चों को अनावश्क रुप से नुकसान हो रहा है।
आजादी पर्व तो मना था...
इछावर के ग्राम आदिवासी ग्राम डूंडालावा की प्राथमिक शाला में आजादी का पर्व 15 अगस्त को मनाया गया था। इसकी पुष्टि करते हुए छात्र अनिल कर्मा ने बताया कि 15 अगस्त को झंडा फहराने के बाद से आज तक कोई शिक्षक स्कूल नहीं आया है उनके न आने के कारण स्कूल के ताले भी नहीं खुले है। स्कूल के ताले बंद होने के कारण सभी अभिभावक परेशान है। बताया जाता है कि आदिवासियों का एक प्रतिनिधि मंडल इस समस्या को लेकर राजस्व मंत्री करण सिंह वर्मा को भी ज्ञापन सौंपने की तैयारियां कर कार्रवाई की मांग कर रहा है।
 मुझे स्कूल बंद होने की जानकारी नहीं मिली है मैं पूरे मामले की जांच करवाकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की अनुशंसा करुंगा।
-जीके माथुर
बीआरसी इछावर

Friday, December 17, 2010

किशमिश से भी मंहगी हो गई लहसुन

 सीहोर,इन दिनों बाजार में लहसुन के दाम आसमान छूते नजर आ रहे है,दामों में गत वर्ष की तुलना में चार गुना तेजी होने के कारण उसकी डिमांड पर असर पड़ा है।  इस साल मंहगाई अपनी चरम सीमा पर है पर कई पदार्थों के भाव आसमान छूते नजर आ रहे है,खास तौर से आम वर्ग के लिए उपयोगी सामग्री काफी मंहगी हो चली है। ऐसे ही लहसुन है जो इन दिनों किशमिश से भी महंगी बिक रही है। जानकारी अनुसार बाजार में किशमिश 180 रुपए से लेकर 200 रुपए प्रतिकिलो तक बिक रही है जबकि लहसुन के भाव 280 रुपए किलो तक पहुंच गए है। रिटेल में पिछले कई दिनों से लहसुन इसी भाव में बिक रही है जो लहसुन इससे कम भाव में बिक रही है उसकी क्वालिटी अच्छी न होने के कारण लोगों द्वारा पसंद नहीं की जा रही है। किशमिश से मंहगें दामों पर बिकने के कारण सब्जी विक्रेताओं द्वारा नाममात्र का ही स्टाक किया जा रहा है, उनका कहना है कि भाव सुनकर ही खरीददार चले जाते है। गत दिवस आष्टा मंडी में लहसुन का थोक  भाव 20 हजार 70 रुपए प्रति क्विंटल तक रहा। सब्जी के थोक विक्रेता सादिक राइन ने बताया कि इस साल महाराष्ट्र खास तौर से नासिक में फसल खराब हो जाने के कारण लहसुन के भाव में अप्रत्याशित तेजी आई है ऐसा माना जा रहा है कि भाव एक माह तक इसी प्रकार से चल सकते है उसके बाद भाव में कमी आ सकती है। उन्होंने बताया कि इस साल और गत साल की तुलना में लहसुन चार गुना महंगी जिसके कारण बाजार में लहसुन की डिमांड न के बराबर है।

नई सड़क पर डाल दी नाली खोदकर मिट्टी

सीहोर,शहर में अमर टाकीज से रेलवे स्टेशन की ओर जाने वाले मार्ग पर डामरीकरण कार्य के कुछ ही दिनों बाद सड़क किनारे लंबी नाली खोदकर मिट्टी नई सड़क पर डाल दी गई है, जिससे नई सड़क की रौनक फीकी हो गई है। जानकारी के अनुसार शहर में नगर पालिका परिषद ने अमर टाकीज के पास से रेलवे स्टेशन तक हाल ही में सड़क डामरीकरण का कार्य कराया है। इस कार्य के पूरा होने के कुछ दिनों बाद ही यूआईडीएसएसएमटी योजना के तहत सड़क किनारे डाल रही नई पाइप लाइन का कार्य करने वाले ठेकेदार ने नाली खोदकर मिट्टी नई डामरीकृत सड़क पर डाल दी है, जिसके कारण नई सड़क भी पुरानी दिखने लगी है और जगह-जगह पाइप लाइन टूट जाने के कारण इसी नई सड़क पर कीचड़ का साम्राज्य स्थापित हो रहा है। देखा जा रहा है कि पाइप लाइन डालने का कार्य तेज गति से किया जा रहा है, लेकिन नई सड़क पर डाली गई मिट्टी को हटाने का कार्य नहीं किया जा रहा है। इस संबंध में मुख्य नगर पालिका अधिकारी दीपक देवगड़े का कहना है कि जो भी कार्य हो रहा है, वह नियम के अनुसार हो रहा है। कहीं पर भी नपा की संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की सूचना नहीं है।

Monday, December 13, 2010

2005 और 2011 की समानता पर चर्चाएं

  सीहोर ,वर्ष 2005 और 2011 की समानता इन दिनों जिले के लोगों के लिए कौतुहल का विषय बनी हुई है। लोगों द्वारा बड़ी संख्या में एक दूसरे को एसएमएस किए जाकर समानता की जानकारी प्रदान की जा रही है। पूरे जिले में रोजाना एक हजार से अधिक एसएमएस किए जा रहे है। इसको लेकर एसएमएस कार्ड की बिक्री तो बड़ी ही है साथ ही साथ पुराने कैलेंडर की भी तलाश की जाने लगी है। जानकारी अनुसार आने वाले वर्ष 2011 में और वर्ष 2005 के कैंलेडर में एक जैसी समानता है जिस प्रकार का कैंलेडर वर्ष 2005 का था ठीक उसी प्रकार का कैंलेडर वर्ष 2011 का भी है जिसको आधार बनाते हुए लोगों द्वारा एसएमएस किए जा रहे है। इन एसएमएस को लोग रोचक बनाते हुए कर रहे है। इस संवाददाता को जानकारी देते हुए पाठक राजकुमार सुंंदरानी ने बताया कि उनके पास किए गए एसएमएस में कहा गया है कि कौन कहता है कि गुजरा हुआ वक्त वापस नहीं आता है यदि यह बात गलत है तो वर्ष 2005 का कैंलेडर उठाकर देखे क्यों कि वर्ष 2011 और उसमें एक जैसी ही समानता बनी हुई है। सारे दिन एक जैसे है। एक अन्य  पाठक शिवम अग्रवाल ने बताया कि उन्हें दोनों कैंलेडर चैक करने का परामर्श दिया गया है।   उन्होंने दोनों सालों के कैंलेडर देखे है उसके दिन एक जैसे ही है। इन एमएमएस को देखते हुए लोगोद्वारा पुराने कैंलेडर को भी तलाशा जा रहा है। 
आने वाले वर्ष में ही नहीं 
वर्ष 2011 और 2005 में एक जैसी समानता आने वाले कई वर्षों में भी दिखाई देने वाली है। जानकारी अनुसार वर्ष 2013 और 2019, 2015 और 2020 तथा 2016 तथा 2022 में भी इसी प्रकार की समानता दिखाई देगी। यहीं नहीं वर्तमान वर्ष 2010 अपनी समाप्ति के दौर में उसकी समानता वर्ष 2004 के कैंलेडर से हो रही है। इसको लेकर एसएमएस का दौर जारी है।

चौकी से चोरी गया ट्रक

 चौबीस घंटे हादसों से भरे हुए रहे
सीहोर सनसनीखेज तरीके से एक ट्रक ही पुलिस चौकी से चोरी चला गया वहीं पांच लोगों को डकैती की योजना बनाते हुए गिरफ्तार किया गया है। एक ग्रामीण की लाश मिली है तथा एक विवाहिता की मौत हुई है। प्राप्त जानकारी अनुसार गत दिवस परिवहन विभाग द्वारा ट्रक क्रमांक एमपी 06 एचसी 0489 को रोककर चैकिंग की गई तो उसमें मामला संदेहास्पद पाया गया।  ट्रक को लेकर जा रहा चालक जांच कर रहे अधिकारियों को संतुष्ट नहीं कर सका जिस पर आरटीआइ जेएस परिहार द्वारा चालक मुरैना निवासी श्यामसुंदर को यह कहकर श्यामपुर चौकी के हवाले किया गया कि ट्रक की देख रेख वो पुलिस की मौजदूगी में खुद ही करेगा। परिवहन विभाग के अधिकारियों ने चालक और ट्रक को पुलिस के हवाले कर दिया। बताया जाता है कि दोपहर को की गई कार्रवाई के बाद चालक श्यामसुंदर शाम को तक चौकी पर रहा पर अचानक शाम को ट्रक सहित गायब हो गया। बताया जाता है कि चौकी पर मौजूद पुलिस जवान अपने कामों में व्यस्त थे और पीछे से वो ट्रक लेकर ही रफूचक्कर हो गया। पुलिस को जब तक समझ में आता तब तक काफी देर हो चुकी थी। उसकी तलाश में जब सफलता नहीं मिली तो प्रधान आरक्षक हीरालाल की रिपोर्ट पर पुलिस ने चालक श्यामसुंदर के विरुद्ध भादवि की धारा 379 के अंर्तगत प्रकरण कायम कर पांच लाख रुपए के ट्रक की चोरी का प्रकरण कायम कर लिया है। पुलिस का कहना है ट्रक के नम्बर के आधार पर मालिक और उसके चालक की तलाश तेज कर दी गई है। डकैती की योजना बनाते हुए पांच धराए 
पुलिस ने बीती रात पांच लोगों को डकैती की योजना बनाते हुए गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। पुलिस से मिली जानकारी अनुसार निकटवर्ती ग्राम बेगमताल की नदी किनारे संदिग्घ हालात में मिले पांच युवकों को गिरफ्तार किया गया। जिन लोगों को गिरफ्तार किया गया है उनमें ग्राम चतरुखेड़ी निवासी शेख युनूस आत्मज शेख घीसू खां, सद्दाम आत्मज रईस खां, अलीपुरखेड़ा निवासी जगदीश आत्मज मांगीलाल, तहसील चौराहा सीहोर निवासी इस्माइल आत्मज मो. रशीद तथा पलटन एरिया निवासी सलीम आत्मज मजीद खां  शामिल है। पुलिस ने इनके पास से राड, टार्च, गुप्ती,लाठियां, मोबाइल तथा बाइक क्रमांक एमपी 37 बीसी 2197सर को भी जब्त किया गया है। पुलिस के अनुसार यह लोग सीहोर में वारदात करने की योजना बना रहे थे इन पर भादवि की धारा 399 और 402 का प्रकरण कायम कर पूछताछ की जा रही है। इनसे सुराग लगने की उम्मीद की जा रही है। 
पार्टी में शामिल हुए ग्रामीण का शव मिला 
इछावर। बीती रात अपने घर पर ही दोस्तों के साथ पार्टी मना रहे ग्रामीण का शव आज सुबह मिलने से सनसनी का वातावरण बन गया है। पुलिस से मिली जानकारी अनुसार इछावर थानार्न्तगत ग्राम गऊखेड़ी निवासी 35 वर्षीय सिंगनाथ मेवाड़ा ने बीती रात अपने दोस्तों के घर में पार्टी का आयोजन किया उसमें उन सब ने शराब का सेवन किया। पार्टी खत्म होने के बाद दोस्त अपने घर पर चले गए पर यह अपने घर पर जाने की जगह खेत पर जाने का कहा गया और सुबह तक वापस नहीं लौटा बताया जाता है कि आज सुबह उसका शव उसके खेत के समीप नाले में संदेहास्पद हालात में नग्न मिला जिस पर पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया है। 
विवाहिता की मौत पर कराया गया पीएम 
सीहोर। आज इलाज के लिए सीहोर लाई जा रही एक नवविवाहिता की अचानक मृत्यु हो जाने के कारण पुलिस द्वारा पोस्टमार्टम कराया गया। हालांकि दोनो पक्षों द्वारा लिखकर देने पर सहमति व्यक्त की गई थी पर पुलिस और ड्यूटी डाक्टर ने उनकी सहमति को नजर अंदाज कर दिया। पुलिस के अनुसार ग्राम इटावाकला नसरुल्लागंज निवासी 24 वर्षीय कृपा बाई पत्नी रघुवीर सिंह को चक्कर आने पर इलाज के लिए लाड़कुई से पहले इछावर लाया गया वहां से सीहोर भेज दिया गया जहां रास्ते में ही उसकी मृत्यु हो गई। डाक्टरों ने नवविवाहिता का मामला होने के कारण मृत्यु के कारणों को जानने के लिए पोस्टमार्टम कराया।

Sunday, December 12, 2010

विदेश में रहकर हिंदी की सेवा करना गौरवशाली- दुबे


सम्मान,  वांशिगटन के साहित्यकार लेखक राकेश खंडेलवाल का सीहोर में शिवना ने किया गरिमामय सम्मान
 सीहोर। आज जब अपने देश में ही लोग हिंदी को भूल रहे है ऐसे में विदेश में रहकर हिन्दी की सेवा करना हम सब के लिए गौरव की बात है। यह बात हिन्दी प्राध्यापक डा.श्रीमती पुष्पा दुबे ने शिवना द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में व्यक्त की। शवना द्वारा इस वर्ष का सारस्वत सम्मान वांशिगटन निवासी राकेश खंडेलवाल को साहित्य सेवा के लिए यहां शनिवार की रात का आयोजित एक गरिमामय समारोह में प्रदान किया गया।
कार्यक्रम हिन्दी प्राध्यापक साहित्यकार पुष्पा दुबे के मुख्यआतिथ्य एवं वरिष्ठ साहित्यकार नारायण कासट की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में श्री खंडेलवाल को इस वर्ष का शिवना सारवस्त सम्मान प्रदान किया गया।  पूर्ण विधि विधान के साथ पादुका पूजन की भांति तथा मंत्रोच्चार के बीच जब यह सम्मान प्रदान किया गया तो श्री खंडेलवाल भावुक हो गए। अतिथियों ने उन्हें शाल श्रीफल भेंटकर किया जाकर सम्मानपत्र प्रदान किया गया। इससे पहले अतिथियों ने मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यापर्ण एवं दीप प्रज्जवलित किया। अतिथियों का स्वागत आयोजक पंकज पुरोहित सुबीर, शैलेष तिवारी, सोनू ठाकुर, धर्मेंद्र कौशल, सनी गोस्वामी, सुधीर मालवीय आदि  द्वारा  किया गया। पीसी लैब पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए डा. पुष्पादुबे ने कहा कि आज लोगों को जब विदेश में जाने का अवसर मिलता है तो उनके सामने केवल एक ही मकसद पैसा कमाने का होता है पर श्री खंडेलवाल ने वहां पर साहित्य की सेवा कर हिन्दी भाषी लोगों का मान बढ़ाया है। विदेश में जाकर पैसा कमाना कोई बुरी बात नहीं है पर वहां पर अपने देश और साहित्य की सेवा करना नई पीढ़ी के लिए प्रेरणा दायक है। वरिष्ठ साहित्यकार श्री कासट  ने कहा है कि आज हम साकार और निराकार दोनों का ही सम्मान कर रहे है। श्री खंडेलवाल के साथ-साथ उनके काव्य सर्जन का सम्मान कर हम गौरवान्वित हो रहे है। आयोजन के सूत्रधार साहित्यकार पंकज पुरोहित सुबीर ने शिवना सम्मान पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि शिवना का सफर सीहोर से अमेरिका तक पहुंच गया है जिसके पीछे कहीं न कहीं श्री खंडेलवाल की भी भूमिका है। अंत में आभार पत्रकार शैलेष तिवारी ने माना। कार्यक्रम में सर्वश्री दिनेश द्विवेदी (कोटा), लेफ्टिनेंट कर्नल गौतम राजरिशी (कश्मीर), वीनस केशरी (इलाहाबाद), रविकांत पांडेय (कानपुर ), प्रकाश अर्श (नई दिल्ली), अंकित सफर (मुम्बई) आदि  भी उपस्थित थे।

ट्रेन से गिरने पर आरक्षक की दर्दनाक मौत

 सीहोरबीती रात बुदनी रेलवे स्टेशन पर एक आरक्षक की ट्रेन से गिरने पर दर्दनाक मृत्यु हो गई। पुलिस महकमें में शोक का वातावरण बन गया। पुलिस ने मर्ग भी कायम कर लिया है।
पुलिस से मिली जानकारी अनुसार बुदनी थाने में पदस्थ 52 वर्षीय आरक्षक भागीरथ यादव शुक्रवार को डाक देने एवं लेने के लिए जिला मुख्यालय आया था। रात में उसने बुदनी जाने के लिए भोपाल से ट्रेन पकड़ी बताया जाता है कि रात करीब 11 बजे बुदनी स्टेशन पर ट्रेन जैसे ही धीमी हुई वैसे ही उसने उतरने का प्रयास किया तो नीचे आ गिरा। बताया जाता है कि यह ट्रेन होंशगाबाद रुकती पर बुदनी पर गति धीमी होने पर उसने उतरने का प्रयास किया तभी ट्रेन की चपेट में आ गया। रात करीब 1 बजे जैसे ही पुलिस को इस बात की जानकारी मिली तो सभी हतप्रभ रह गए। शनिवार को शव का पोस्टमार्टम कराकर उसे पचौर राजगढ़ के लिए रवाना किया। पूरे स्टाफ में इस दुखद हादसे के कारण शोक का वातावरण बन गया।

5500 मामले सुलझाए

सीहोरराज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा दिए गए निर्देशों पर  शनिवार को वृहद लोक अदालत का आयोजन किया गया। जिसमें निर्णय कराने के लिए लोगों की भीड़ दिनभर अदालत में जमा रही, ग्रामीण क्षेत्रों से बड़ी संख्या में लोग निर्णय कराने के लिए उपस्थित हुए।आज जिले भर में वृहद लोक अदालतों का आयोजन किया गया। सुबह से प्रारंभ हुआ यह सिलसिला शाम सात बजे के बाद भी जारी रहा। न कोई जीता न कोई हारा की तर्ज पर विवादों का निपटारा न्यायाधीशों की उपस्थिति में किया गया। जिला सत्र न्यायाधीश वेदप्रकाश ने बताया कि शनिवार को लगभग एक करोड़ से अधिक के राशि के लगभग 55 सौ प्रकरणों का समझौता कराया गया। इनमें राजस्व के 2400, विद्युत विभाग के 775 प्रकरण शामिल हैं। विद्युत और दुर्घटना के मामलों में 50-50 लाख के बैंक के 19 मामलों में 10 लाख समझौते कराए गए। समझौते की कार्रवाई शाम को सात बजे के बाद भी लगातार जारी रही। पिता-पुत्र का मिलनलोक अदालत में राजस्व बिजली, बैंक आदि के कई प्रकरणों के अलावा आपसी मामले भी सामने आए। जिस पर भी न्यायाधीशों ने गंभीरता से सुनवाई करते हुए उनके प्रकरणों का पटाक्षेप कराने में महत्ती भूमिका का निर्वहन किया। आज आए मामले में पिता पुत्र का भी सिविल प्रकरण सुलझाया गया। पिता पुत्र के बीच लंबे समय से प्रापर्टी का विवाद चल रहा था, जिसमें राजीनामा कराया गया। इसी प्रकार एक अन्य परिवार में बस की बिक्री को लेकर आठ लाख रुपए का मामला कई दिनों से लंबित चल रहा था। जिसमें भी समझौता कराया जाकर मामले को समाप्त कराया गया।

Saturday, December 11, 2010

अपनी मिट्टी से हटने की लालसा कभी नहीं

वांशिगटन में रहकर भारतीय साहित्य की सेवा कर रहे राकेश खंडेलवाल के सीहोर आगमन पर की गई बातचीत
सीहोर. अपनी मिट्टी से हटने की लालसा कभी महसूस नहीं हुई है,जहां पर भी जाते है अपने वतन की मिट्टी की खुशबू सदा याद रहती है। यहीं खुशबू मेरी कविता में  नजर आती वांशिगटन से सीहोर आए साहित्यकार राकेश खंडेलवाल ने यह बात चर्चा करते हुए कही।राजस्थान के भरतपुर में जन्में राकेश खंडेलवाल इन दिनों अमेरिका के वांशिगटन मे वांशिगटन हास्पिटल सेन्टर में सीनियर  समन्यवक के रुप में  अपनी सेवाएं प्रदान करते हुए भारतीय साहित्य की भी सेवा कर रहे है।शिवना के कार्यक्रम में भाग लेने के लिए शनिवार की शाम को सीहोर पधारे श्री खंडेलवाल ने इस संवाददाता से चर्चा करते हुए कहा कि भारत की गंध अमेरिका में भी महसूस करते हुए हिन्दी साहित्य की सेवा कर अपने आप को गौरवान्वित महसूस कर रहे है।
उन्होंने कहा कि वांशिगटन में उत्तरी भारत के रहने वाले करीब चार सौ लोग हर दो माह में काव्य गोष्ठी में एकत्रित होकर अपनी रचनाएं सुनाते है। जिसमें चालीस प्रतिशत युवा भी शामिल हो रहे है। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा है कि मैं शुरू से ही पांरपिक कविता का पक्षधर रहा हूं। आधे पद्य और आधे गद्य के रुप में की जाने वाली कविताओं को वास्तव में कविता की श्रेणी में नहीं रखा जा सकता है। श्री खंडेलवाल ने कहा कि कविता में भावना ही सर्वोपरि रहा करती है जो किसी भी एक शैली में ही शामिल हो पाती है। पर दुर्भाग्य का विषय यह है कि लेखक इसकी गंभीरता को समझ नहीं पा रहा है। उन्होंने कहा कि मैंने अपने जीवन में कभी भी सोचकर नहीं लिखा मन में आने वाले विचारों को ही लिखने का प्रयास किया। कविता जगत में प्रवेश का संस्मरण सुनाते हुए उन्होंने कहा कि भरतपुर के पुस्तकालय में हर माह कवि सम्मेलन का आयोजन किया जाता था जिसमें अगले माह का विषय दिया जाता था जिस पर चार लाइन लिखकर आनी होती थी एक बार मैं ग्याहर वर्ष की उम्र  में लिखकर गया जिसे सराहना मिली तो  आज तक क्रम जारी है। उन्होंने कहा कि जब से इंटरनेट पर यूनिक कोड का इस्तेमाल होने लगा तब से विदेश में रहने वाले भारतीयों के लिए काफी आसानी हो गई है। विदेशों में हिन्दी को लेकर काफी सम्मान है तथा सभी उसे सम्मान देने के लिए लालायित भी नजर आते है। तथाकथित साहित्यकारराकेश खंडेलवाल ने कहा कि वांशिगटन में उत्तर भारत के लोग आज भी कविता को लेकर धीर गंभीर है। उनकी गंभीरता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि व्यंगकार के रुप में तेजी के साथ साहित्यजगत में शामिल हो रहे फूहड़ रचनाकारों को कार्यक्रम के बीच में ही यह कहकर मंच से उतार दिया जाता है कि कुछ अच्छी रचना हो तो सुनाए अन्यथा रहने दीजिए।

फिर गूंजेगा ठप्पा मारो तान के


सीहोर इन दिनों यहां पर नगर पालिका चुनाव को लेकर सरगर्मी का वातावरण बना हुआ दिखाई दे रहा है। इस नपा चुनाव में एक बार फिर ठप्पा मारों तान के ... की गूंज सुनाई देगी। मतदाताओं को मतपत्र पर मोहर लगानी होगी जिसके लिए तैयारियां प्रारंभ कर दी गई है। लोकसभा और विधानसभा चुनाव में जब से इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन का उपयोग होने लगा है तब से न तो राजनीतिज्ञों और न ही आम मतदाताओं को ठप्पा मारों तान के नारे का उपयोग करने की आदत रह गई है पर यहां पर होने जा रहे नगरपालिका चुनाव के दौरान एक बार फिर यही पुराना नारा नेताओं के मुख से सुनाई देगा। शहर के चौराहों और तिराहों पर यही स्वर सुनाई देगे। जिला निर्वाचन शाखा द्वारा इस दिशा में कार्य भी प्रारंभ कर दिया गया है उनके द्वारा मतपत्र को लेकर दायित्वों का विभाजन करने के साथ-साथ मतपेटियों को भी निकलवाने का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। हालांकि अभी तक नपा चुनाव की तिथि की घोषणा नहीं की गई उसको लेकर लोगों में भी जिज्ञासा का वातावरण देखा जा रहा है अखबारों के दफ्तरों में भी सुबह से लेकर रात तक लोगों द्वारा जानकारियां एकत्रित की जा रही है। राजनीतिज्ञ तारीख का इंतजार करते हुए अपनी गणित को फिट करने में सक्रिय दिखाई दे रहे है जबकि प्रशासन द्वारा पूरी कसावट प्रारंभ कर दी गई है ताकि ऐनवक्त पर परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। नपा चुनाव को लेकर शहर के प्रिटिंग प्रेस संचालकों द्वारा भी तेजी के साथ अपने कार्य को करने की दिशा में कदम उठाए जा रहे है उनके द्वारा यहां पर पहले से समान की डमी तैयार की जा रही है। मतपत्र से मतदान होने के कारण नकली मतपत्र की छपाई का कार्य भी जोरों पर चलने की संभावना इनके द्वारा व्यक्त की जा रही है। इसके अलावा फ्लेक्स प्रिटिंग का कार्य भी चुनाव के दौरान जोर पकड़ने की संभावना है।

चार लाख के माल पर हाथ साफ

 सीहोर.यहां पर चोरियों को रोकने की दिशा में पुलिस द्वारा किए जा रहे प्रयास आधे अधूरे साबित होते नजर आ रहे है। बीती रात चोरों ने एक मकान पर धावा बोलकर करीब चार लाख रुपए के माल पर हाथ साफ कर दिया है। कोतवाली पुलिस से मिली जानकारी अनुसार इंग्लिशपुरा स्थित स्वामी विवेकानंद कालोनी में बीती रात चोरों ने धावा बोलकर करीब चार लाख रुपए के माल पर हाथ साफ कर दिया। बताया जाता है कि स्वामी विवेकानंद कालोनी निवासी कांग्रेस नेता राजेश आजाद और बिजली विभाग में कार्यरत राकेश आजाद का परिवार आठ दिसम्बर को वैवाहिक समारोह में शामिल होने के लिए खुरई गए हुए थे। नौ दिसम्बर की रात को जब वो अपने घर लौटे तो मेन गेट पर ताला लगा हुआ था जबकि नीचे से ऊपर की ओर जाने के लिए लगे चैनल गेट पर का ताला और दोनों मकानों के ताले टूटे हुए थे दोनों की मकानों की अलमारी तथा दीवान को को पूरी तरह से खंगाल कर करीब साढ़े तीन लाख के जेवरात और पचास हजार रुपए नकद चुराकर ले गए, पुलिस ने मामला कायम किया है।  तलाशी लेकर कीमती माल ले उड़ेयहां पर चोरों ने नीचे के हिस्से में रहने वाले राकेश आजाद और ऊपर के हिस्से में रहने वाले राजेश आजाद के कमरों के ताले तोड़कर भीतर प्रवेश किया और सभी कमरों की अलमारी तथा दीवान का सारा समान खंगाल डाला,यहीं नहीं यहां रखी अटैचियों को भी चोरों ने पूरी तरह चैक किया। कांग्रेस नेता राजेश आजाद ने बताया कि चोर दोनों घरों से करीब चार लाख रुपए का माल ले गए है। जिनमें पांच तौले सोने का सेट, साढ़े तीन तौले सोने का हार, तीन कान के सेट, तीन बाली, चार सोने की अंगूठी, करीब एक किलों चांदी तथा करीब पचास हजार रुपए नकद चुराकर ले गए है। चोरों ने मुख्य रुम से दोनों के प्रमुख कक्षों को निशाना बनाते हुए मुख्य-मुख्य समान को अपना निशाना बनाया है। चोरों के कारनामें की जानकारी शुक्रवार की सुबह मोहल्ले के लोगों को लगी तो वे हतप्रभ रह गए।आराम के साथ पपीता खाया और चाय पी आजाद परिवार के यहां पर चोरों ने जिस प्रकार से समान बिखेरा है उससे यही लग रहा है कि चोरों की संख्या दो या दो से अधिक ही रही होगी इसके अलावा जिस तरह से चोरों ने उनके घर की एक-एक समान और अलमारी की तलाशी ली है उससे यही अंदाज लगाया जा रहा है कि वो यहां पर करीब दो घंटे से भी अधिक समय तक रहे होंगे। इसके अलावा चोरों ने राकेश आजाद के माता जी के कमरे की भी तलाशी ली है वहां पर कटा हुआ पपीता और चाकू तथा चाय फैली हुई पड़ी है।  जिससे यही अनुमान लगाया जा रहा है कि चोरों ने यहां पर काफी समय आसानी के साथ व्यतीत किया होगा। बहरहाल देखना है यह कि चोरों को तलाश करने में पुलिस कब तक और किस प्रकार से सफल हो पाती है। इससे पहले हुई चोरियों का सुराग लगाने में पुलिस असफल ही साबित हुई है।

Friday, December 10, 2010

लोक अदालत का आयोजन आज

  सीहोर।   राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा दिए गए निर्देशों के  मुताबिक  शनिवार को वृहद लोक अदालत का आयोजन किया गया है। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष  वेदप्रकाश शर्मा द्वारा लोक अदालत में आने वाले मामलों के निराकरण के लिए अलग-अलग खण्डपीठें गठित कर अलग-अलग विषयवार मामलों की जिम्मेदारी सौंपी गई है।
इन मामलों का होगा निराकरण- लोक अदालत में मोटर दुर्घटना, क्लेम भरण पोषण, सहकारिता, राजस्व, दूर संचार, टेलीफोन, श्रमविवाद, उपभोक्ता विवाद, चैक बाउंस, राजीनामा योग्य आपराधिक एवं सिविल मामलों का आपसी सहमति के आधार पर निराकरण किया जाएगा।
विद्युत मामलों का निपटारा-     इस वृहद लोक अदालत में विद्युत से संबंधित मामलों का भी निराकरण किया जाएगा। विद्युत कंपनी द्वारा उपभोक्ताओं को आंकलन किए जाने वाले सिविल दायित्व में 25 फीसदी तक की छूट दिए जाने की घोषणा की गई है जो केवल लोक अदालत के लिए लागू रहेगी। इस वृहद लोक अदालत में विद्युत अधिनियम 2003 के लम्बित मामलों में एक मुश्त राशि जमा करने पर 25 प्रतिशत तक की छूट या किश्तों की सुविधा दी जायगी।
लोक अदालत का फायदा- लोक अदालत में जहां धन, समय और श्रम की बचत होती है वहीं पक्षकारों को सुलभ और सहज न्याय मिलता है। लोक अदालत में न्याय शुल्क की वापसी की व्यवस्था सुनिश्चित होती है। लोक अदालत का आदेश निर्णय अंतिम होता है जिसके चलते पक्षकारों को इसका तत्काल लाभ मिलता है। लोक अदालत द्वारा निर्णित प्रकरणों में अपील और रिवीजन भी नहीं होने का पक्षकार को लाभ मिलता है।
खबर को सूचना पत्र समझें- न्यायिक मजिस्ट्रेट एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सीहोर अरूण श्रीवास्तव ने बताया कि इस लोक अदालत के संबंध में संबंधित पक्षकारों को न्यायालय से सूचना पत्र जारी कर दिए गए हैं फिर भी यदि किसी पक्षकार को सूचना पत्र प्राप्त नहीं हुआ है तो वे इस खबर को ही सूचना पत्र मानें और लोक अदालत में उपस्थित होकर अपने प्रकरण का निराकरण कराए।

शिवना सारस्वत सम्मान राकेश खंडेलवाल को प्रदान किया जायेगा

देश भर के ब्लागर जुटेंगे सीहोर में
सीहोर  अग्रणी साहित्यिक प्रकाशन संस्था शिवना द्वारा हर वर्ष दिया जाने वाला शिवना सारस्वत सम्मान भारतीय मूल के कवि श्री राकेश खंडेलवाल को दिया जायेगा । ये सम्मान 11 दिसम्बर श्िनवार को एक गरिमामय आयोजन में प्रदान किया जायेगा । शिवना प्रकाशन के पंकज सुबीर ने जानकारी देते हुए बताया कि  प्रकाशन द्वारा हर वर्ष सुकवि मोहन राय स्मृति पुरस्कार ( युवा कवि को ) तथा शिवना सारस्वत सम्मान (वरिष्ठ हिंदी सेवी को ) प्रदान किया जाता है । वर्ष 2010 के लिये ये क्रमश: डा मोहम्मद आज़म तथा श्री राकेश खंडेलवाल जी को प्रदान करने की घोषणा की गई थी । ये दोनों ही सम्मान फरवरी में दिये जाने थे लेकिन उस समय राकेश जी की भारत यात्रा टल जाने के कारण कार्यक्रम नहीं हो पाया था । बाद में शिवना प्रकाशन के मुशायरे में डॉ आज़म को पुरस्कार प्रदान किया गया था । अब श्री राकेश खंडेलवाल जी की सीहोर यात्रा के दौरान एक आत्मीय आयोजन में उनको वर्ष 2010 का शिवना सारस्वत सम्मान प्रदान किया जायेगा । उल्लेखनीय है कि श्री राकेश जी पुस्तक अंधेरी रात का सूरज वर्ष 2008 में शिवना प्रकाशन से प्रकाशित हुई थी । ये पुस्तक साहित्यिक हलकों में बहुत चर्चित रही थी । विश्व में हिंदी के कई सारे महत्वपूर्ण नामों में  श्री राकेश खंडेलवाल जी का एक नाम बहुत खास है । श्री खंडेलवाल  हिंदी के पारम्परिक गीतों के कवियों में अपनी तरह के अनूठे ही कवि हैं । श्री राकेश खंडेलवाल भारतीय मूल के हैं तथा वर्तमान में वाशिंगटन ( अमेरिका) में निवासरत हैं । वे वाशिंगटन हिंदी समिति सहित कई सारी हिंदी के क्षेत्र में काम कर रही संस्थाओं से जुड़े हुए हैं । श्री राकेश खंडेलवाल जी को ये सम्मान दिनांक 11 दिसम्बर शनिवार को स्थानीय सम्राट काम्प्लैक्स स्थित  पी. सी. लैब में शाम सात बजे आयोजित एक गरिमामय समारोह में प्रदान किया जायेगा । कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार श्री नारायण कासट नदीम करेंगें जबकि स्थानीय शासकीय कॉलेज में हिंदी की प्रोफेसर डॉ पुष्पा दुबे कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगीं, विशिष्ट अतिथि के रूप में शिक्षाविद् डॉ भागचंद जैन तथा जनसंपर्क अधिकारी श्री एल आर सिसौदिया उपस्थित रहेंगें  । कार्यक्रम का संचालन शिवना पुरस्कार से सम्मानित कवि डॉ मोहम्मद आज़म करेंगें । कार्यक्रम के द्वितीय चरण में एक काव्य गोष्ठी का आयोजन किया जायेगा । कार्यक्रम में ब्लाग जगत की भी काफी शख्सियत उपस्थित रहेंगीं जिनमें सर्वश्री दिनेश द्विवेदी (कोटा), लेफ्टिनेंट कर्नल गौतम राजरिशी (कश्मीर), वीनस केशरी (इलाहाबाद), रविकांत पांडेय (कानपुर ), प्रकाश अर्श (नई दिल्ली), अंकित सफर (मुम्बई) आदि प्रमुख हैं । कार्यक्रम दिनांक 11 दिसम्बर  शनिवार को शाम सात बजे  पी. सी. लैब सम्राट कॉम्स्लैक्स बेसमेंट पर आयोजित किया जा रहा है । शिवना प्रकाशन की ओर से सर्वश्री हरिओम शर्मा दाऊ,  चंद्रकांत दासवानी, शैलेष तिवारी,   हितेन्द्र गोस्वामी, सुनील भालेराव,  जोरावर सिंह, सोनू ठाकुर, धर्मेंद्र कौशल, सनी गोस्वामी, सुधीर मालवीय आदि ने शहर के साहित्य प्रेमियों से कार्यक्रम में भाग लेने की अपील की है । 


इच्छाएं ही दुख का कारण होती है: स्वामी गणेशानंद

 सीहोर.जिस प्रकार जगत असीम है,उसी प्रकार मनुष्य की इच्छाएं भी अनंत हैं । परमात्मा के वास्तविक स्वरूप को जानकर ही हम पूर्ण स्वस्थ हो सकते हैं यह उद्गार योग गुरू स्वामी गणेशानंद ने आवासीय स्कूल ग्राउंड पर पांच दिवसीय संगीतमय ध्यान,योग चिकित्सा शिविर के दूसरे दिन गुरूवार सुबह योग साधकों को संबोधित करते हुऐ व्यक्त किए। पतंजलि योग समिति एवं भारत स्वाभिमान ट्रस्ट की जिला इकाई के तत्वावधान में प्रात: पांच से सात बजे  तक भोपाल नाका स्थित आवासीय खेलकूद ग्राउंड पर 12 दिसंबर तक योग शिविर चल रहा है। गुरूवार को दीप प्रज्वलन के साथ योग शिविर का शुभारंभ हुआ । इस अवसर पर योगाचार्य स्वामी रामदेव के परम शिष्य स्वामी गणेशानंद के सानिध्य में  योग शिविर संयोजक समाज सेवी मनोहर राय, उषा सक्सेना मेडीकल एसोसिएशन  अध्यक्ष ओम राय ,दिनेश ठाकुर, सुर्दशन राय, योगेश राठी, सुरेश त्यागी, विशेष रूप से उपस्थित थे । इसके पश्चात स्वामी गणेशानदं का पुष्प गुच्छ से स्वागत विष्णु परमार आष्टा, अशोक त्यागी, धीरेन्द्र सिंह, सुरेश बाबू राठौर,  किशन सिंह राठौर, मीडिया प्रभारी संतोष सिहं, कमलेश याज्ञिक, सतीश शर्मा, रामप्रकाश गुप्ता, सीमा जोशी, उज्वल प्रभा त्यागी , आशा राठौर, रजनी राठौर ने किया । आज स्वामी गणेशानदं ने योग साधकों को संबोधित करते हुऐ कहा कि मनुष्य की वासनाऐं कभी पूरी नही होती हंै। हम विदेशी संस्कति के अधांनुकरण में अपनी गौरवशाली परंपराओं को भूलते जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि क्रियान्तर ही विश्राम है हमारे लिए ढाई सुख हैं।