यदि आपके पास कोई समाचार या फोटो है तथा आप भी किसी समस्या को शासन स्तर पर पंहुचाना चाहते हैं और किसी विषय पर लिखने के इच्छुक है,तो आपका स्वागत है ईमेल करे- writing.daswani@gmail.com, Mob No.-+919425070052

Sunday, October 31, 2010

दागी मंत्री घूम रहे हैं रेलों में। तिरंगा फहराने वाले जा रहे है जेलों में

 दागी मंत्री घूम रहे हैं रेलों में। तिरंगा फहराने वाले जा रहे है जेलों में उक्त कविता के माध्यम से रतलाम से पधारे हास्य व्यंग के कवि धमचक मुल्तानी ने शनिवार की रात को स्थानीय बस स्टैंड पर हिन्दू उत्सव समिति द्वारा आयोजित अखिल भारतीय कवि सम्मेलन में अपनी कविता के माध्यम से इस देश की दिशा और दशा पर व्यंग कसा। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि विधायक रमेश सक्सेना, हिन्दू उत्सव समिति के अध्यक्ष सतीश राठौर एवं विशेष नपाध्यक्ष राकेश राय ने अखिल भारतीय कवि सम्मेलन से नगर की एतिहासिक परम्परा की पहल करते हुए नगर के चार धर्मों के गुरूओं का सम्मान किया। जिसमें प्रमुख रूप से अखिल भारतीय संत समाज के अध्यक्ष महंत नारायण दास, मुस्लिम धर्म के काजी युसूफ भाई, सिख धर्म के ज्ञानी नंद सिंह और इसाई धर्म के मुख्य फादर जार्ज स्टीफन का सम्मान कर स्मृति चिन्ह भेंट किया। कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों द्वारा दीप प्रज्जवलन कर किया गया। कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए बनारस से आए कवि डा. अनिल चौबे ने पाकिस्तान को उसकी औकात बतो हुए कहा कि जितने की दाल रोटी खाते पाकिस्तानी वाले, उतने बिहारी खा तंबाकू बिहारी थू देते हैं। लखनऊ की शुक्ला ने अपनी पंक्तियों में कहा कि वो तोड़ती हैं, पत्थर की पीर को पढ़ा नहीं, प्रेम को पढ़ा मगर कबीर को पढ़ा नहीं। कवि सम्मेलन में उज्जैन के आईजी पवन जैन, डा. सरिता जैन, शशिंकात यादव, शाहिद प्रेहरी, सुरेन्द्र सुकुमार, डा. अनिल चौबे, रतलाम से धमचक मुल्तानी, व्यंजना शुक्ला, मोनिका हठीला और नगर के प्रसिद्ध कवि पंकज सुबीर का  युवा नेता प्रिंस राठौर और समाजसेवी राजू जायसवाल ने स्वागत किया।  स्वागत करने वालों में पंडित हरिप्रसाद तिवारी, मोहन चौरसिया, हरीशचंद्र अग्रवाल, हेमंत दरबार, संजय राठौर, सुरेन्द्र राठौर, शिव सिंह गुर्जर, राजेन्द्र भदौरिया, रमाकांत समाधिया, फरिश्ते भाई, विवेक राठौर, दिलीप राठौर, नरेन्द्र त्यागी, हेमंतसिंह मेवाड़ा, पप्पू धाड़ी, मोरसिंह जायसवाल, अर्जुन राठौर, मुकेश पहलवान, नीरज चौरसिया, प्रेम पहलवान, किशोर कौशल, लखन गोहिया, संजय सोनी, सुरेश जायसवाल, सुनील शर्मा, मोहन राठौर, गोविन्द पहलवान, संस्थापक हिन्दू उत्सव समिति पंडित वासुदेव मिश्रा, हरि पालीवाल, द्वारका प्रसाद वर्मा, दुलीचंद प्रजापति, शिव वारिया और कैलाश राठौर ने किया। कार्यक्रम का संचालन प्रदीप समाधिया तथा आभार महामंत्री दिलीप राठौर ने व्यक्त किया।

बालिका को कमरे में बंद रखा


महिला सहित चार लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज
सीहोर  एक बारह वर्षीय बालिका को लगातार कमरे में बंद रखे जाने का मामला प्रकाश में आने पर पुलिस ने महिला सहित चार लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है।
प्राप्त जानकारी अनुसार बिलकिसगंज थानार्न्तगत ग्राम जीवन ताल निवासी माचल सिंह आत्मज फूल सिंह कोरकू ने गांव की एक बारह वर्षीय बालिका का अपहरण किया और उसे ग्राम बलौंडिया निवासी अपनी बहनोई रामचरण तथा बहन सावित्री बाई के सहयोग से एक कमरे में बंधक बनाकर रखा  यहां से इस बालिका को बाइक पर वो ग्राम बावड़िया चोर भी ले गया जहां पर भी  देवीसिंह आत्मज रामचरण के सहयोग से उसके साथ दुष्कृत्य किया। इधर बालिका के परिजन 22 अक्टूबर से ही परेशान हो रहे थे। उनके द्वारा शुक्रवार को थाने में गुमशुदगी को प्रकरण दर्ज कराया। पुलिस ने आरोपी माचल सिंह को गिरफ्तार करते हुए शनिवार को लड़की को बरामद किया। जिसके बयान के आधार पर पुलिस ने इन चारो आरोपी माचल सिंह तथा  देवी सिंह, रामचरण और सावित्री के खिलाफ धारा 376, 363,366, 342, 343, 504/ 34 के अंर्तगत प्रकरण कायम कर लिया इनमें से केवल माचल सिंह को ही गिरफ्तार किया गया है जबकि शेष की तलाश की जा रही है। 

लिफाफे की जगह सोना

  सीहोर इन दिनों डाकघर में लिफाफे कम सोना अधिक बिक रहा है। यहां पर सोने के सिक्कों की बिक्री को अप्रत्याशित सफलता मिली है। लोग बड़ी संख्या में डाकघर पहुंचकर सिक्के की खरीदी कर रहे हैं।
डाकघर में सोने के सिक्कों की बिक्री की शुरूआत के समय किसी को इस बात की कल्पना नहीं थी कि सोना जमकर बिकेगा। इन दिनों आलम यह है कि डाकघर में लिफाफे कम सोना अधिक बिक रहा है।
जिला मुख्यालय पर मुख्य डाकघर में अप्रैल 2010 से सोने के सिक्कों की बिक्री प्रारंभ हुई है। तब न तो विभागीय कर्मचारियों, अधिकारियों और न ही लोगों को इस बात का यकीन था कि सोने के सिक्के जमकर बिकेंगे। यहां पर आधा ग्राम से लेकर 20 ग्राम तक के सोने के सिक्के लोगों के लिए उपलब्ध हैं।
जानकारी के अनुसार आधा ग्राम का सिक्का 1287 रुपए, एक ग्राम 2317, पांच ग्राम 10921, आठ ग्राम 17475, 20 ग्राम 433333 रुपए में उपलब्ध कराए जा रहे हैं। दीपावली के उपलक्ष्य में दस ग्राम सोने की खरीदी पर आधा ग्राम सोना मुफ्त दिया जा रहा है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार पुष्य नक्षत्र के कारण यहां पर ग्राहकों की संख्या उम्मीद से अधिक रही। पुष्य नक्षत्र के दिन शनिवार को डाकघर में सुबह से लेकर शाम तक चहल-पहल का माहौल बना रहा। कई ग्राहक पूछताछ करने के लिए भी आ रहे हैं। शनिवार को डाकघर में 35 सोने के सिक्के बिके। पिछले एक सप्ताह में साठ से भी अधिक सिक्के बिक चुके हैं। शनिवार को सिक्कों की बिक्री से विभागीय अधिकारी-कर्मचारियों में उत्साह का माहौल देखा गया। इस ग्राहकी के माहौल को देखकर उन्हें लग रहा है कि दीपावली के नजदीकी दिनों में सोने के सिक्के की बिक्री में और भी इजाफा होगा। विभागीय अधिकारियों-कर्मचारियों का कहना है कि शुद्ध क्वालिटी का भरोसा होने के कारण ग्राहकों का खिंचाव बाजार की तुलना में डाकघर के प्रति अधिक हो रहा है। रविवार को भी खुला रहेगा डाकघर
 सोने के सिक्के की बिक्री में मिली अप्रत्याशित सफलता को देखते हुए डाक विभाग ने उत्साहित होकर इस रविवार का अवकाश निरस्त कर दिया है। बस स्टैंड स्थित मुख्य डाकघर अन्य दिनों की भांति रविवार को सुबह दस बजे से शाम छह बजे तक ग्राहकों को अपनी सेवाएं देगा। इस आशय की जानकारी देते हुए डाकपाल ने लोगों से सुविधा का लाभ उठाने की अपील की है। अब तक 1 किलोजिला मुख्यालय के डाकघर में सोने के सिक्कों की बिक्री शुरू हुए सात माह ही बीते हैं, लेकिन इन सात माह में उम्मीद से अधिक सोना यहां पर बिका है। जानकारी के अनुसार इन सात महीनों में लगभग एक किलो से अधिक सोना बिक चुका है। सोने के भाव में लगातार बढ़ोत्तरी होने के बाद भी उसकी मांग में बराबर बनी हुई है। दीपावली पर्व पर डाकघर में सोने की बिक्री और भी बढ़ने की संभावना  व्यक्त की जा रही है। डाकघर में सोने की अप्रत्याशित बिक्री को लेकर व्यापारियों का मानना है कि सरकार की शाखा होने का लाभ मिल रहा है और बड़े शहरों का कारोबार प्रभावित हो रहा है। इंदौर भोपाल जाने वाले लोग यहीं सिक्का खरीद रहे हैं। 

Saturday, October 30, 2010

संत श्री का स्वागत करने भोपाल पहुँचे श्रद्धालुजन

 सीहोर। संत सखी बाबा आसूदाराम शिव शांति आश्रम लखनऊ के पीठाधीश्वर सांई चांडूराम जी का स्वागत करने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालुजन शनिवार को भोपाल पहुंचे। संत श्री लखनऊ से कल्याण जा रहे थे भोपाल स्टेशन पर सीहोर से भी श्रद्धालुजन पहुंचे। सीहोर से ही नहीं बल्कि आसपास के जिलों से भी लोग बड़ी संख्या में पहुंचे। संत श्री ने दीपावली की अग्रिम बधाई देते हुए सभी से सेवा कार्यो में सलंग्न रहने का आग्रह किया। इस अवसर पर संत श्री ने एक नवम्बर को हिन्द सिंध के सरताज संत अमर शहीद संत कंवर राम की शहादत दिवस पर अधिक से अधिक रक्तदान करने का आग्रह किया। संत सखी बाबा आसूदाराम सेवा समिति के अध्यक्ष नंद किशोर संधानी ने बताया कि एक नवम्बर को सीहोर मे भी रक्तदान किया जाएगा। जिला अस्पताल में ब्लड बैंक में समाज के लोग सुबह नौ बजे रक्तदान करेंगे तथा रात दस बजे संत कंवर राम धर्मशाला में श्रद्धाजंलि कार्यक्रम आयोजित किया गया है। श्री संधानी ने रक्त दान करने के इच्छुक लोगों से अपना नाम पंजीयन कराने की अपील की है।  

प्रदेश की पहली वेंटीलेंटर मशीन लगी

सीहोर;  जिला अस्पताल के स्पशेल नवजात केयर यूनिट में शुक्रवार को प्रदेश की पहली नियोनेटल वेंटीलेटर मशीन लगाई गई। 12 लाख रुपए की लागत की यह मशीन नवजात शिशुओं के लिए लाभप्रद साबित होगी। जिला अस्पताल की नवजात केयर यूनिट में प्रदेश की पहली नियोनेटल वेंटीलेटर मशीन शुक्रवार को लगाई गई। प्रदेश के आठ जिलों के लिए स्वीकृत की गई मशीनों को लगाने की शुरूआत सीहोर जिला अस्पताल से की गई। जिला अस्पताल में अप्रैल 2009 से एसएनसीयू का शुभारंभ किया गया है। नवजात शिशु के उचित देखभाल के उद्देश्य से स्थापित की गई इस विशेष यूनिट को और सुविधाजनक बनाने की दृष्टि से प्रदेश सरकार द्वारा 12 लाख रुपए की लागत की नियो नेटल वेंटीलेटर मशीन लगाई गई है। जिसका लाभ उन नवजात शिशुओं को मिल सकेगा। जो अत्यंत गंभीर अवस्था में होने के कारण भोपाल रेफर कर दिए जाते थे। इस मशीन के लगाए जाने से यह संभावना व्यक्त की जा रही है कि अब मरीजों को भोपाल रेफर नहीं किया जाएगा। एसएनसीयू के प्रभारी चिकित्सक डा. सिद्धार्थ चौधरी ने बताया कि मध्यप्रदेश के आठ जिलों को फिलहाल यह सुविधा प्रदान की गई है। जिन जिलों में यह मशीनें लगाई जा रही है, उनमें भोपाल, सीहोर, गुना, रतलाम, मंदसौर, जबलपुर तथा शिवपुरी शामिल हैं। प्रदेश में सबसे पहले सीहोर में ही मशीन लगाने की शुरूआत की गई है। शुक्रवार की सुबह से लेकर शाम तक एसएनसीयू यूनिट में मशीन लगाने का कार्य कंपनी के कर्मचारियों द्वारा किया गया।
जिला  अस्पताल में जिस उद्देश्य से एसएनसीयू प्रारंभ किया गया। वह जिला स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय द्वारा पर्याप्त ध्यान नहीं दिए जाने के कारण उतनी सुविधाएं नवजात शिशुओं को उपलब्ध नहीं करा पा रहा है। आमतौर से यहां पर चिकित्सक के न मिलने की शिकायतें मिलती हैं, लेकिन इस दिशा में न तो यूनिट के प्रभारी चिकित्सक और न ही जिला स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा ध्यान दिया जा रहा है। देखना यह है कि इस मशीन का कितना और किस प्रकार का लाभ नवजात को मिल पाता है। जिला अस्पताल में अप्रेल 2009 से एसएनसीयू प्रारंभ होने के बाद से जिला स्वास्थ्य  विभाग द्वारा इस बात का दावा किया जा रहा था कि यहां से नवजात शिशुओं को भोपाल रेफर नहीं किया जाएगा, लेकिन उसके बावजूद भी यहां से नवजातों को भोपाल भेजने की प्रवृत्ति पर रोक नहीं लग सकी है। यूनिट के प्रभारी चिकित्सक तथा जिला स्वास्थ्य अधिकारी मरीजों को भोपाल रेफर करने के मामले में यह तर्क दिया करते थे कि यहां पर वेंटीलेटर सुविधा उपलब्ध नहीं है। हम चाहकर भी मरीज को यहां नहीं रख सकते। देखना यह है कि प्रदेश सरकार ने वेंटीलेटर मशीन तो लगवा दी है, लेकिन यहां पदस्थ चिकित्सक इसका उपयोग किस प्रकार कर पाते हैं। लोगोंं को अभी भी इस बात पर संदेह है कि यूनिट के चिकित्सक फिर कोई नया बहाना ढूढंकर मरीजों को भोपाल अथवा नर्सिंग होमों के लिए रेफर करेंगे। जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. एएल मरावी का कहना है कि प्रदेश सरकार की मंशा के अनुरूप मरीजों को एसएनसीयू में ही लाभ दिलाया जाएगा।
यहां भी है जरूरत
एसएनसीयू में वेंटीलेटर सुविधा प्रारंभ हो जाने से कितना लाभ मिलता है। यह तो आने वाला समय ही बताएगा, लेकिन इस तरह की सुविधा जिला अस्पताल में भी महसूस की जा रही है। बताया जाता है कि जिला अस्पताल के लिए भी वेंटीलेटर की स्वीकृति शासन स्तर से जारी हो चुकी है। अगले छह माह में इस मशीन के जिला अस्पताल में लगाए जाने की संभावना व्यक्त की जा रही है।

Friday, October 29, 2010

हत्या के 10 आरोपियों को उम्र कैद की सजा

सीहोर,निकटवर्ती ग्राम कचनारिया के बहुचर्चित हत्याकांड में प्रथम सत्र न्यायाधीश श्रीमती रश्मि अग्रवाल ने सभी दस आरोपियों को हत्या का दोषी पाते हुए उन्हें आजीवन कारावास की सजा से दंडित किया है। अभियोजन की ओर से पैरवी अपर लोक अभियोजक मनोज सक्सेना द्वारा की गई। अभियोजन के अनुसार ग्राम कचनारिया निवासी सगे भाई कमल सिंह , सौभाग सिंह, रमेश और चंदर सिंह मेवाड़ा अपने घर से 9 जून 2008 की सुबह आठ बजे खेत पर जा रहे थे तभी ग्राम सेमली के साजिद, शरीफ, इशाक, फिरोज, शेर आलम,अमजद, दुल्लू, आरिफ, जमशेद, मोहसिन खां द्वारा इन्हें घेर लिया गया और पैसे की मांग करते हुए साजिद ने चंदर को चाकू मार दिया बचाने के लिए आए सौभाग सिंह को भी चाकू मार दिया गया। इन लोगों से बचने के लिए जब तीनों भाईयों ने भागने का प्रयास किया तो दुल्लू ने बंदूक चला दी जिसे रमेश ने छीन लिया था। ग्रामीणों के आ जाने से आरोपी भाग खड़े हुए पर चंदर सिंह मेवाड़ा की रास्ते में मृत्यु हो गई। इस घटना क्रम से ग्राम कचनारिया और उसके आसपास के गांवों में सनसनी बन गई थी। मंडी पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ भादवि की धारा 302, 307,147, 148,149 तथा 341 के अर्न्तगत प्रकरण कायम कर न्यायालय में चालान प्रस्तुुत किया था। जिस पर प्रथम सत्र न्यायाधीश श्रीमती रश्मि अग्रवाल ने सभी को 302 में आजीवन कारावास, 307 में 7 वर्ष 149 में 1 वर्ष, 148 में 6 माह तथा 341 में 15 दिन के कारावास से दंडित किया। सभी सजा एक साथ चलेगी।

अभियोजन ने 32 ग्वाहों को प्रस्तुत किया

ग्राम कचनारिया के इस बहुचर्चित हत्याकांड में अभियोजन की ओर से करीब 32 लोगों का ग्वाह के रुप में प्रस्तुत किया गया था। जबकि बचाव पक्ष की ओर से 3 ग्वाह प्रस्तुत किए गए थे। प्रथम सत्र न्यायाधीश श्रीमती रश्मि अग्रवाल ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद गुरुवार की शाम को निर्णय सुनाया।

पुलिस की छवि तय करेगी सीआईडी की अंतिम जांच रिपोर्ट

 सीहोर,जिले में होने वाली पुलिस कार्रवाई पर भी अब सीआईडी नजर रखने लगी है। डेढ़ साल पहले मामले में सीआईडी ने जांच गोपनीय तरीके से शुरू कर दी है। जिसका एक सप्ताह में पटाक्षेप होने की भी संभावना जताई जा रही है। पुलिस की नाक उसकी ही वर्दी खाकी से खाक हुई है या नहीं यह तय करने के लिए सीआईडी की विशेष जांच टीम गुरूवार को सीहोर नगर आई और यहां कई गवाहों और लोगों से जानकारी लेने के बाद वापस लौट गई। सीआईडी ने अपनी जांच इतनी गोपनीय तरीके से की है कि उसके आने की जानकारी पुलिस महकमें के ही वरिष्ठ अधिकारियों ने नहीं थी, जबकि टीम एक घंटे से अधिक समय तक थाना कोतवाली में ही मौजूद रही।

क्या है मामला : पुलिस सूत्रों के अनुसार 3 मार्च 09 को भोपाल इंदौर राजमार्ग पर सीहोर-भोपाल और देवास की पुलिस ने चहल कदमी बढ़ा दी थी। राजधानी और स्थानीय मीडिया मामले की जानकारी लेने के लिए खासा उत्सुक रहा था। जब पूरा खुलासा हुआ था तो पुलिस की कार्रवाई से पुलिस की ही छवि धूमिल हुई थी।

कार्रवाई पर सवाल : उसी समय पुलिस ने इस बात का संदेह जताते हुए मामले का सूत्रों के हवाले से खुलासा किया था कि सीहोर के बाहर पदस्थ एक डीएसपी ने किसी अपराध की जांच के मामले में आरोपी के परिजनों से लगभग दस लाख रुपए की मांग की थी। इस हाई प्रोफाइल मामले में डीएसपी की भूमिका पूरी तरह संदिग्ध मानी जा रही थी और सार्वजनिक किए गए मामले में भी पुलिस की छवि पर काफी असर पड़ा था। हालांकि डीएसपी ने भी मामले में पुलिस की कार्रवाई पर खुद सवाल उठाने की कोशिश की थी, लेकिन राजधानी पुलिस ने पूरे मामले को अपनी कामयाबी के रूप में प्रस्तुत किया था। घटना स्थल सीहोर नगर सामने आ रहा था इसके बाद भी पूरी कार्रवाई से स्थानीय पुलिस की दूरी अनेक सवालों को जन्म दे रही थी।

आरोप-प्रत्यारोप : सूत्रों की माने तो मामले में पुलिस ने पुलिस अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की थी और मामला भी विभागीय तौर पर काफी गंभीर हो गया था, तब मामले में सीआईडी ने गोपनीय तरीके से जांच शुरू की और अनेक बिन्दुओं पर पुलिस विभाग के कई कर्मचारियों और अधिकारियों के बयान लिए हैं। जांच रिपोर्ट कब प्रस्तुत की जाएगी, इसकी तो जानकारी नहीं दी जा रही है, लेकिन सीआईडी ने गुरूवार की दोपहर नगर में अपनी टीम को भेजकर गवाहों के बयानों को एक पुन: जांचा और परखा है। पूर्व में सीआईडी के अधिकारियों द्वारा ही जांच की गई थी लेकिन बयानों में किसी प्रकार का संदेह न रहे, इसलिए सीआईडी ने पूरे बयानों का सत्यापन कराना उचित समझा है। इस दौरान अधिकारी मौजूद रहें।

सीहोर को क्यों चुना

इस सनसनीखेज घटनाक्रम में सीहोर-देवास और भोपाल की पुलिस अभी तक इस बात का खुलासा नहीं कर सकी है कि डीएसपी ने देवास और भोपाल को छोड़ सीहोर को ही क्यों चुना था और राजधानी की पुलिस ने सीधे तौर पर दूसरे जिले में जाकर कार्रवाई क्यों कि, ऐसे अनेक प्रश्न मौजूद हैं, जिनका उत्तर सीआईडी जांच के परिणाम बताएंगे।

विवाहिता ने तंग आकर की आत्म हत्या

 सीहोर/ रेहटी निकटवर्ती ग्राम नया गांव में एक पचास वर्षीय महिला ने फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच कार्य शुरु कर दिया है। पुलिस से मिली जानकारी अनुसार ग्राम नया गांव निवासी 50 वर्षीय सुशीला बाई पत्नी मिश्री लाल ने बीती रात अपने घर की म्याल मे रस्सी बांधकर फांसी लगा ली। जिस समय सुशीला बाई ने यह कदम उठाया उस समय घर पर कोई नहीं था जब परिजनों ने उन्हें फांसी पर लटके पाया तो हतप्रभ रह गए। मृतिका के भतीजे लालसिंह आत्मज राम अवतार यादव द्वारा द्वारा इस आशय की सूचना थाने में दी गई तब पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों के सुपर्द किया। रेहटी पुलिस से मिली जानकारी अनुसार प्रारभिंक जांच में पाया गया है कि मृतिका सुशीला बाई यादव आर्थिक रुप से परेशान चल रही थी उसकी चलते उसके द्वारा उपरोक्त कदम उठाया गया है। पुलिस का कहना है कि जांच पूरी होने के बाद ही वस्तुस्थिति स्पष्ट हो सकेगी।

डेढ़ लाख की 11 भैंस चोरी
 रेहटी । लगभग डेढ़ लाख रुपए की ग्यारह भैंस चोरी जाने का मामला प्रकाश में आने पर पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर जांच कार्य शुरू कर दिया है। पुलिस से मिली जानकारी अनुसार ग्राम इटावा जदीद निवासी ओमप्रकाश आत्मज प्रभुलाल साहू की 11 भैंस मथार के जंगल बीजा ढांडा में चरने के लिए गई थी। बताया जाता है कि इन भैंसों को कोई चुराकर ले गया। आसपास के क्षेत्रों में लगातार तलाशने के बाद भी जब भैंसों का पता नहीं चला तो इस आशय की शिकायत थाने में की गई। पुलिस ने भादवि की धारा 379 के अर्न्तगत डेढ़ लाख रुपए की भैंस चोरी का मामला कायम कर उनकी तलाश शुरू कर दी है।

असली पर भारी नकली

सीहोर,इस बार भी दीपावली पर फूलों की मांग बनी रहने की उम्मीद को लेकर व्यापारियों द्वारा स्टॉक किया गया है। इस साल भी असली फूलों पर नकली फूल भारी रहेंगे,असली फूलों के दाम मंहगे रहने की संभावना है।  दीपावली पर्व पर हर आम और खास वर्ग द्वारा फूलों से सजावट किए जाने की परम्परा का निर्वहन इस साल भी किया जाएगा। आधुनिकता के इस दौर में असली फूलों पर नकली फूलों की मार पड़ने लगी है। लोगों द्वारा कृत्रिम फूलों से सजावट करना अब ज्यादा पसंद किया जाने लगा है जिसके कारण ही दुकानदारों द्वारा इन कृत्रिम फूलों की जमकर स्टॉक किया जा रहा है। बाजार में दीपावली पर्व के लिए बीस रुपए से लेकर पांच सौ रुपए तक की वंदनवार उपलब्ध है। सबसे ज्यादा वेलकम लिखी हुई वंदनवार को पसंद किया जा रहा है इसके अलावा अन्य डिजाइनों की वंदनवार को काफी पसंद किया जा रहा है। व्यापारी मुकेश गुप्ता ने बताया कि नकली फूलों को क्रेज दिनों दिन बढ़ता जा रहा है।

असली फूलों की रह सकती है किल्लत

दीपावली पर्व पर गेंदे के फूलों की मालाओं की काफी डिमांड रहा करती है पर इस साल इन फूलों की किल्लत आने की संभावना व्यक्त की जा रही है। जो माल बाजार में उपलब्ध रहेगा उसके भाव आम आदमी की पहुंच से दूर रहेंगे। बाजार में गेंदे के फूलों का अभाव रहने का मुख्य कारण है कि पिछले दिनों हुई बारिश के कारण सीहोर जिले में करीब पांच लाख रुपए से भी अधिक की फूलों की फसल खराब हो गई है। पहले अल्प वर्षा के कारण फूलों की खेती कम हुई तो जो फसल तैयार हुई थी वो पिछले दिनों की बारिश में चौपट हो गई। फूलों की फसल खराब होने के कारण इस दीपावली पर इनकी किल्लत रहने की संभावना है। फूल विक्रेता लक्ष्मी नारायण कुशवाह ने बताया कि इस साल गेंदंह के फूल 100 रुपए किलों तक बिक सकता है माल की अधिक मांग होने पर उसकी पूर्ति उज्जैन और इंदौर से कराकर की जाएगी। उन्होंने बताया कि गत वर्ष भी अक्टूबर माह मेें पानी गिर जाने के कारण भी भाव मंहगा हो गया था गत वर्ष भी भाव 80 से 100 रुपए किलो तक हो गया था। फूल विक्रेता श्री कुशवाह ने बताया कि गेंदे की ही मांग दीपावली पर्व पर ज्यादा रहती है इसके अलावा यहां पर सेंवती की भाव भी 100 रुपए किलो तक बिकने की संभावना है, इसी प्रकार गुलाब के फूलों की पूर्ति भी भोपाल, इन्दौर तथा उज्जैन से मंगाकर की जाएगी पूजा के लिए लोग गुलाब के फूल भी खरीदना पसंद करते है गुलाब के फूल पिछले साल दो सौ रुपए किलो तक बिका था उसी के अनुरुप इस साल भी दो सौ रुपए तक का भाव रहेगा। उन्होंने बताया कि नकली फूलों का कितना भी क्रेज बढ़ जाए पर असली फूलो की त्योहार पर बिक्री जमकर होती रही है जो इस साल भी होने की संभावना है यदि आने वाले दिनों में बारिश नहीं होती है तो फूलों की पूर्ति हो जाएगी यदि बारिश होती है तो किल्लत होगी।

Thursday, October 28, 2010

भोपाल से आकर बुदनी में जहर खाया

 सीहोर/बुदनी  गत दिवस भोपाल के दो लोगों ने बुदनी में आकर अपनी जीवन लीला जहर खाकर समाप्त कर ली। दोनों ने  होशंगाबाद अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। बुदनी पुलिस ने मामला कायम कर जांच कार्य शुरू कर दिया है।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार कोटरा सुल्तानाबाद भोपाल निवासी 46 वर्षीय प्रवीण नगरकर और कोतवाली रोड बुधवारा निवासी 45 वर्षीय मिर्जा रजी हैदर विगत रात्रि बुदनी आए और रेलवे क्रासिंग के नजदीक की झाड़ियों में चले गए। बताया जाता है कि दोनों ने एक साथ जहरीले पदार्थ का सेवन कर लिया और फोन पर अपने परिजनों को इस बात की सूचना दी कि बुदनी रेलवे क्रासिंग से पचास कदम दूरी पर हमने जहर खा लिया है। इसलिए हमें यहां से आकर ले जाएं।
बताया जाता है कि जहर खाने के उपरांत दोनों को पानी की तलब लगी, जिस पर इन दोनों ने आवाजें लगाई, तब आसपास बनी झुग्गियों से लोग निकल कर आए, जिस पर पुलिस को खबर दी गई। पुलिस इन्हें अस्पताल पहुंचाने का इंतजाम कर ही रही थी, तभी इनके परिजन भी यहां आ गए। दोनों को उपचार के लिए होशंगाबाद अस्पताल ले जाया गया, जहां पर चिकित्सकों के तमाम प्रयास भी उन्हें मौत के मुंह से नहीं बचा पाए।
होशंगाबाद पुलिस ने मर्ग कायम कर डायरी बुदनी पुलिस को सौंप दी है। बुदनी पुलिस के अनुसार फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। प्रारंभिक जांच में किसी प्रकार की स्थिति स्पष्ट नहीं हो सकी है। दोनों के परिजन भी उनके इस कदम से हैरान हैं। जांच के   उपरांत ही कोई निष्कर्ष निकाला जा सकेगा।
दोनों ने साथ दफनाने की इच्छा जाहिर की
मृतक प्रवीण नगरकर और मिर्जा रजी हैदर दोनों के ही जेबों से पुलिस द्वारा सुसाइट नोट प्राप्त किए हैं। दोनों ने अपने अपने हस्ताक्षर करते हुए अपनी-अपनी जेब में यह पत्र रखा था। दोनों के पत्रों की भाषा एक समान है। जिसमें उन्होंने उल्लेखित किया है कि इस निर्णय का मैं स्वयं जिम्मेदार हूं, हम दोनों को एक साथ दफनाया जाए। इस पर किसी प्रकार की अड़चन पैदा नहीं की जाए। पुलिस ने मर्ग तो कायम कर लिए लेकिन इन पंक्तियों के लिखे जाने तक न तो पुलिस और न ही दोनों मृतकों के परिजन आत्महत्या के कारणों का खुलासा कर पाए हैं। पुलिस ने प्रवीण नगरकर के भाई तथा मिर्जा रजी हैदर के पुत्र के भी बयान लिए हैं, लेकिन वह भी कुछ बताने में असमर्थ साबित हुए हैं। दोनों ही परिवार सदमे के साथ-साथ हैरत में भी है कि दोनों ने एक साथ यह कदम क्यों उठाया।
केस रफा-दफा कराने के नाम पर छीन लिए रुपए
हत्या के आरोपी को बचाने के लिए उसकी पत्नी को लालच देकर डराने धमकाने का दिलचस्प मामला प्रकाश में आया है। आरोपियों ने दाल नहीं गलते देख विवाहिता के भाई से 4500 रुपए नकद छीन लिए। क्षेत्र में यह बुदनी
पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार बुदनी की अदालत कालोनी निवासी यशोदा बाई के पति महेश दायमा पर हत्या का प्रकरण दर्ज है। जिसकी पुलिस तलाश कर रही है। बताया जाता है कि गत दिवस रेहटी थाना अंतर्गत ग्राम मांझरकुई निवासी शैलेन्द्र मालवीय और उसके पिता रामाधर मालवीय उसके घर पहुंचे और बातचीत के दौरान उसे बताया कि हम लोग तुम्हारे पति पर लगे केस से छुटकारा दिला देंगे। हमारे रहते हुए तुम्हें परेशान होने की जरूरत नहीं है। पति को बचाने की बात सुनकर यशोदा बाई को प्रसन्नता हुई। उसने यह बात मेहरा घाट होशंगाबाद निवासी अपने भाई हेमराज कीर को बताई। जिस पर वह भी बुदनी पहुंचा। बताया जाता है कि दोनों पिता-पुत्र ने यशोदा के भाई हेमराज कीर को भी इसी प्रकार की बातें कहीं पर हेमराज ने उनकी मदद लेने से यह कहते हुए इंकार कर दिया कि वह अपने स्तर पर मामले को सुलझा लेंगे। हेमराज की इन बातों से वह नाराज हो उठे और हेमराज  कीर के साथ झूमाझटकी करते हुए उसकी जेब से 4500 रुपए नकद निकल लिए और कहा कि हमें दो दिन के अंदर 25 हजार रुपए और दिलाओ वरना तुम लोग दिक्कत में आ जाओगे। पुलिस के अनुसार घटना के समय मांझरकुई निवासी मलूकचंद्र पटवारी भी उनके घर पर मौजूद थे। मलूकचंद्र पटवारी के कारण ही यशोदा बाई से इनकी जान पहचान हुई थी। हेमराज कीर द्वारा की गई रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके पास से हेमराज से छीने गए 4500 रुपए नकद जब्त कर जांच शुरू कर दी है।
पुलिस के छापे की धमकी दी
महिला और उसके भाई को डरा धमकाकर पैसे छीनने के आरोपियों ने उन्हें बदनाम करने की धमकी दी। पुलिस के अनुसार आरोपी शैलेन्द्र मालवीय और पिता रामाधार मालवीय ने यशोदा बाई और उसके भाई हेमराज को इस बात की धमकी दी कि यदि तुम लोगों ने दो दिन के अंदर 25 हजार रुपए की व्यवस्था नहीं की तो हम तुम्हें बदनाम कर देगे और यही नहीं तुम्हारे सारे रिश्तेदारों के यहां पुलिस के छापे भी पड़वा देंगे।
पुलिस के हत्थे चढ़े
लोगों को पुलिस की कार्रवाई की धमकी दे रहे पिता पुत्र घटना के कुछ ही देर बाद पुलिस के हत्थे चढ़ गए। विवाहिता के भाई ने सूझबूझ का परिचय देते हुए तत्काल बुदनी पुलिस को सूचना दी।
पुलिस ने तत्परतापूर्वक कार्रवाई करते हुए नाकेबंदी कराई और कुछ ही देर के इंतजार के बाद इन्हें रास्ते में ही धर दबोचा गया। दोनों के खिलाफ भादवि की धारा 327 और 384 के अंतर्गत प्रकरण कायम कर लिए गए हैं।

Wednesday, October 27, 2010

उच्च शिक्षा मंत्री के काफिले का वाहन ट्रक से टकराया


निज सहायक सहित दो की मौत

आष्टा/ जावर। मंगलवार की सुबह उच्च शिक्षा मंत्री के काफिले का वाहन राजमार्ग पर खड़े ट्रक में जा घुसा जिससे दो लोगों की दर्दनाक मृत्यु हो गई। मृतकों में मंत्री जी का निज सहायक भी शामिल है। पुलिस ने मामला कायम कर लिया है। पुलिस से मिली जानकारी अनुसार उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस और उनका काफिला बुरहानपुर से भोपाल के लिए सोमवार की रात को रवाना हुआ था। यह काफिला सुबह चार बजे भोपाल-इन्दौर राजमार्ग पर ग्राम मेहतवाड़ा के पेट्रोल पंप के समीप पहुंचा था कि काफिला का जाइलो वाहन क्रमांक एमपी 04टीए 0322 भोपाल की तरफ मुंह करके खड़े ट्रक क्रमांक एमपी07 जी 5373 में जा घुसा जिससे जाइलो में सवार श्रीमती चिटनिस का निज सहायक छतरपुर निवासी 45 वर्षीय महेश सिन्हा आत्मज नंदकिशोर तथा बुरहानपुर निवासी 50 वर्षीय दलबीर सिंह आत्मज चरण सिंह अरोरा घायल हो गए जिनकी मृत्यु भोपाल अस्पताल में हो गई।

चालक ने बुलाया

मंत्री जी का वाहन कुछ देर पहले ही आगे निकला था बताया जाता है कि इस वाहन को चला रहे भोपाल निवासी चालक आशीष शर्मा आत्मज गंगाराम को मामूली चोंट आई जिसके द्वारा ही मंत्री जी को सूचना मोबाइल पर दी गई जिससे वे वापस लौटी और घायलों को भोपाल ले गई पर इलाज के दौरान डाक्टर दोनों को बचा नहीं सके। मंत्री जी के निज सहायक छतरपुर में महिला एवं बालविकास विभाग में परियोजना अधिकारी के रुप में पदस्थ थे।

नहीं थम पा रहे हादसे

भोपाल-इन्दौर मार्ग एक बार फिर से सड़क दुर्घटनाओं का पर्याय बनता जा रहा है। डिवाइडर बन जाने के बाद कुछ दिनों के लिए दुर्घटनाएं रुकी थी पर वापस हादसे होने लगे है। उच्च शिक्षा मंत्री अर्चना चिटनिस के दो सहयोगियों का निधन हो गया जबकि इससे पहले प्रतिपक्ष की नेता स्व. जमनादेवी यहां घायल हो गई थी और मंत्री कैलाश विजयवर्गीय के समर्थक सोंडापुल में गिर चुके है।

लौटकर आई मंत्री

सुबह चार बजे घटित घटनाक्रम से कुछ ही पल पहले उच्च शिक्षा मंत्री अर्चना चिटनिस का वाहन गुजरा था। किस्मत से बचे ड्राइवर आशीष ने उन्हें मोबाइल पर बताया तो वो तत्काल वापस लौटी और तत्परता पूर्वक भोपाल भी ले गई पर वहां दोनों ही बच नहीं सके। बताया जाता है कि छतरपुर के महिला बाल विकास विभाग के परियोजना अधिकारी महेश सिन्हा आमतौर पर मंत्री जी के ही वाहन में रहते थे और अधिकांशत: श्रीमती चिटनिस भी इसी जाइलों वाहन से ही जाती है पर बुरहानपुर से ही श्री सिन्हा इस वाहन में दलबीर अरोरा के साथ बैठ गए थे पर दोनों अपनी मंजिल पर नहीं पहुंच सके।
 

अतिक्रमण हटाने गए दल के सामने जहर खाया

इछावर। ग्राम दिवड़िया में अतिक्रमण हटाने गए दल के सामने युवक ने जहर खाकर जान देने का प्रयास किया। पुलिस ने मामले की जांच कर रही है। प्राप्त जानकारी अनुसार इछावर से नौ किलो मीटर दूर स्थित ग्राम दिवड़िया में नायब तहसीलदार के नेतृत्व में  एक दल अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई करने के लिए मंगलवार की दोपहर में गया था। बताया जाता है कि ग्राम दिवड़िया से बारहखंभा मार्ग के अतिक्रमण को हटाने के लिए जैसे ही अधिकारियों ने स्थान को चिन्हित करने का कार्य शुरु किया वैसे ही ग्राम के 30 वर्षीय दलित युवक ओमप्रकाश आत्मज चैन सिंह ने जहरीला पदार्थ खा लिया जिससे उसकी हालात खराब हो गई उसे इलाज के लिए पहले इछावर अस्पताल लाया गया वहां से उसे सीहोर के लिए रेफर किया गया। इस सदंर्भ में नायब तहसीलदार विष्णु श्रीवास्तव ने बताया कि दल के एक किलोमीटर आगे निकल जाने के बाद की घटना है इसका कार्रवाई से कोई लेनादेना नहीं है। दल ने उसके पिता की टापरी को अतिक्रमण के दायरे में चिन्हित किया था।

युवक के आत्मघाती कदम से सभी हतप्रभ
अतिक्रमण हटाने गए दल के सामने जहर खाने के घटनाक्रम को लेकर न केवल अधिकारी बल्कि क्षेत्र के लोग और परिजन भी हतप्रभ रह गए है। दलित युवक द्वारा उठाए गए इस कदम से अतिक्रमण विरोधी कार्रवाई पर असर पड़ने की भी संभावना व्यक्त की जा रही है। निकटवर्ती ग्राम दिवड़िया में मंगलवार की दोपहर बाद के घटनाक्रम में न केवल इछावर क्षेत्र के लोगों को बल्कि जिले भर के अधिकारियों में भी हड़कम्प सा मचा दिया है। नायब तहसीलदार के नेतृत्व में एक दल अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई के दौरान उपरोक्त घटनाक्रम हुआ है। जानकारी अनुसार कि ग्राम दिवड़िया से बारह खंभा मार्ग के अतिक्रमण को हटाने के लिए जैसे ही अधिकारियों ने स्थान को चिन्हित करने का कार्य शुरु किया वैसे ही ग्राम के 30 वर्षीय दलित युवक ओमप्रकाश आत्मज चैन सिंह ने जहरीला पदार्थ खा लिया जिससे उसकी हालात खराब हो गई उसे इलाज के लिए पहले इछावर अस्पताल लाया गया वहां से उसे सीहोर के लिए रेफर किया गया। जहां उसकी हालत अभी खतरे से बाहर बताई जाती है। इछावर थाना प्रभारी हेमपाल सिंह सिंघई ने बताया कि उन तक मामला नहीं आ सका है युवक को सीधे सीहोर अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया है। अन्य जगह पर भीÑआज के इस घटनाक्रम को लेकर जिले के अधिकारियों में भी हड़कम्प का वातावरण देखा गय है। दबी जुबां से वे इस बात को स्वीकार कर रहे थे कि जिस प्रकार से ग्राम दिवड़िया में घटनाक्रम हुआ है उससे अतिक्रमण मुहिम में कार्य करना मुश्किल हो जाएगा हालांकि नायब तहसीलदार विष्णु श्रीवास्तव का कहना है इसका कार्रवाई से कोई लेनादेना नहीं है। ओमप्रकाश का किसी जमीन पर क्ब्जा भी नहीं था उसके पिता की टापरी को जरुर अतिक्रमण की हद में पाया गया है।

बिजली विभाग के कार्यो का निरीक्षण

सीहोर, बिजली विभाग के कार्यो का निरीक्षण करने के लिए डीएफआइडी एक टीम सीहोर आई जिन्होने विभाग द्वारा क्षेत्र में कराए जा रहे कार्यो को नजदीक से देखा। इस दौरान सारे अधिकारी मौजूद थे। जिला मुख्यालय पर इन दिनों बिजली विभाग में पायलेट प्रोजेक्ट के अंर्तगत कार्य तेजी के साथ चल रहे है। इन कार्यों को किए जाने के तरीको का निरीक्षण करने के लिए डीएफआइडी की टीम मंगलवार की सुबह यहां पर आई। इस टीम में मुख्य रुप से बिजली कंपनी के सलाहकार सीएमडी जेसी यादव, मुख्य अभियंता एके जैन, श्री धारीवाल, डीएफआइडी सदस्य श्री पीटर तथा श्रीमती सुधा शामिल थी। यहां कार्यालय में पहुंचकर उन्होंने खासतौर से कम्पयूटर पर देखा कि किस प्रकार से मोडम युक्त मीटरों की रीडिंग ली जाकर उसका रिकार्ड रखा जा रहा है। इन फीडरों पर वोल्टेज कम ज्यादा होने की जानकारी किस प्रकार प्राप्त की जाती है। अधिकारियों की टीम ने यहां पर 33 केव्ही के सब स्टेशन का भी निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का अवलोकन किया साथ ही 11 केव्ही के 18 सब स्टेशनों की भी जानकारी उनके द्वारा प्राप्त की गई। 35 केव्ही से 11 केव्ही में बदले जा रहे ट्रांसफार्मरों की भी जानकारी हासिल की। जूनियर इंजीनियर संजय जोशी ने उन्हें सिलसिलेवार जानकारी दी। इस अवसर पर विभाग के श्री जैन, एके श्रीवास्तव, पीसी गुप्ता और एलडी त्रिपाठी आदि अधिकारी उपस्थित थे।

 कई दिनों से चल रही थी तैयारियां

बिजली विभाग द्वारा पिछले कई दिनों से यहां पर तैयारियां की जा रही थी,टीम के आने की तय तिथि होने के कारण विभाग के अधिकारी और कर्मचारी मुस्तैदी के साथ अपने कार्यो को अवलोकन करते हुए उन्हें चुस्त दुरस्त रख रहे थे ताकि कोई चूक न हो जाए। दल द्वारा जब यहां के कार्यो को संतोषप्रद माना गया और टीम की वापसी होने पर ही यहां अधिकारियों और कर्मचारियों ने राहत की सांस ली।

 इधर बिजली गुल
 मुख्यालय पर चल रहे कार्यों का निरीक्षण करने आई टीम के कारण लोगों के कार्य भी कार्यालय में नहीं हुए सभी लोग अधिकारियों के साथ व्यस्त थे। इधर इंग्लिशपुरा क्षेत्र में बिजली रोजाना की भांति सुबह 11 बजे आ तो गई पर 11.30 पर चली गई। बिजली जाने का कारण बताना तो दूर 224277 नम्बर पर उपभोक्ताओं से ही सवाल दागे जा रहे थे कि हमें तो पता ही नहीं है कि क्षेत्र में बिजली नहीं है अधिकारियों से शिकायत के बाद शाम पौने छह बजे के बाद ही बिजली आ सकी।

Tuesday, October 26, 2010

आसमां से बरसी खुशी

सीहोर,सोमवार की शाम को गिरे मावठे के बाद मौसम में एकदम बदलाव आने पर लोगों ने राहत की सांस ली। हालांकि बारिश थोड़ी देर गिरने के बाद ही बंद भी हो गई पर यह बारिश भी किसानों के लाभप्रद रही। बिजली और पानी की समस्या से जूझ रहे किसानों को अब मावठे का ही एकमात्र सहारा नजर आ रहा है। बीच में हुई बारिश से किसानों ने राहत की सांस ली थी पर बाद में मौसम में गर्माहट बढ़ने से किसानों को वापस बिजली और पानी पर ही निर्भर होना पड़ रहा था। किसान मावठे के लिए भी प्रार्थना करते नजर आ रहे थे। सोमवार की शाम चार बजे के बाद मौसम ने करवट बदली और आसमान पर काले घने बादल छाने लगे। कुछ देर बाद ही बाद चारो तरफ अंधेरा छाने लगा बादलों की इस स्थिति को देखते हुए किसानों के चेहरे खिल उठे। शाम पांच बजे के बाद बारिश होने लगी पहले रिमझिम और बाद में तेज बारिश से किसानों को राहत मिली। जिस प्रकार से मौसम बना हुआ था उसे देखकर यही लग रहा था कि बारिश जमकर होगी पर इस सीजन की भांति ही आज भी हुआ और कुछ देर बाद ही बारिश बंद हो गई। इस बारिश से भी किसानों को राहत मिली है। मौसम वैज्ञानिक एचडी वर्मा के अनुसार यह बारिश किसानों के लिए अमृत के समान है। इन दिनों होने वाली बारिश रबी की फसल के लिए लाभ दायक होगी। कृषक अमरसिंह परमार ने बताया कि मावठे के गिरने से बिजली और पानी दोनों की बचत हुई है। मावठा इस प्रकार और गिरा तो आने वाली फसल से उम्मीद भी बढ़ जाएगी। क्योंकि अभी ग्रामों में न तो पानी मिल पा रहा है और न ही बिजली जिसके कारण बोवनी के लिए खेत भी तैयार नहीं हो पा रहे है। कृषकों द्वारा बार-बार बिजली विभाग से मांग की जा रही है कि रात के समय भी आपूर्ति दुरस्त रखे पर इस तरफ ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जिले भर के कृषकों में बिजली ने मिलने के कारण परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

सर्दी पर टिका कारोबार का दारोमदार

इन दिनों व्यापारियों की निगाहें सर्दी पर टिकी हुई है। बारिश के सीजन में रेनकोट कारोबार मेें परेशान हो चुके व्यापारियों को अब सर्दी के कारोबार से उम्मीदें बनी हुई है। स्वेटर शाल और अन्य ऊनी वस्त्रों का स्टाक दुकानदारों द्वारा लुधियाना और दिल्ली से रक्षाबंधन के बाद ही करना पड़ता है। लगभग अधिकांश दुकानदारों द्वारा स्टॉक कर लिया गया है। दीपावली के बाद गरम वस्त्रों की मांग शुरु हो जाती है। शाल के थोक व्यवसायी गिरधरगोपाल कुईया का कहना है कि सर्दी पड़ने पर ही माल की बिक्री जोरों पर होगी अन्यथा हाल रेनकोट जैसा ही होगा। स्वेटर विक्रेता राजेश जैन का कहना है कि स्टॉक किया गया है बस सर्दी का इंतजार हो रहा है।

दोपहर में सूर्य के तेवर तीखे हो रहे है.

सोमवार की शाम को बारिश के बाद मौसम सुहावना हो गया पर दिन के समय पिछले कई दिनों से सूर्य की तपन काफी तेज हो रही है जिससे लोगों का काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। प्रतिदिन गर्मी के तेवर इस प्रकार है मानों अप्रेल मई का महीना चल रहा है। भीषण गर्मी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अक्टूबर माह में लोग अपने वाहनों को छावं में खड़ा करने के लिए विवश हो रहे है। दिन में गर्मी के बाद रात में और सुबह के समय अवश्य मौसम मेें बदलाव नजर आ रहा है पर यह बदलाव कुछ देर तक ही सीमित रहता है और जैसे ही समय बढ़ता जाता है वैसे ही तपन लोगों को बैचेन कर रही है।

संतश्री के जन्मोत्सव पर जमकर झूमें श्रद्धालुजन

सीहोर, रहड़की के संत श्री सांई सतरामदासजी एवं उनके गादीसर सांई साधराम जी का जन्मोत्सव रविवार की रात को जिला मुख्यालय पर धूमधाम के साथ मनाया गया। इस अवसर पर राजधानी की भजन मंडली ने ऐसा समा बांधा कि लोग झूमकर नाच उठे। रहड़की के संत सांई सतराम दास जी एवं उनके गादीसर युवा संत सांई साधराम जी का जन्म उत्सव कार्यक्रम सिंधी कालोनी खेल मैदान पर आयोजित किया गया। यह आयोजन सिंधी समाज, एसएसडी मंडल और संत सखी बाबा आसूदाराम सेवा समिति एवं जय झूलेलाल दुर्गा उत्सव समिति द्वारा किया गया था। आयोजन में भगत नीचल की मंडली का विशेष आर्कषण का केन्द्र बिंदु रही। कार्यक्रम का शुभारंभ सांई सतराम दासजी एवं सांई कंवर राम और सांई आसुदाराम जी के चित्र के समक्ष माल्यार्पण कर दीप प्रज्जवलित करके किया गया। भगत नीचल ने सांई सतराम और सांई कंवरराम और सांई आसूदाराम के जीवन चरित्र पर प्रकाश डालते हुए एक से बढ़कर एक भजनोें की प्रस्तुति दी जिस पर लोग खुशी से झूमकर नाच उठे। रात दस बजे के बाद शुरु हुआ कार्यक्रम मध्यरात्रि के बाद तक चलता रहा। सिंधी समाज के लोगों के अलावा अन्य लोगों ने भी भाग लिया। रात में प्रसाद वितरण के साथ कार्यक्रम का समापन किया गया। कार्यक्रम के संयोजक वासुदेव जादवानी ने सभी के प्रति आभार ज्ञापित किया। इस अवसर सभी को जानकारी दी गई कि एक नवम्बर को हिन्द सिंध के सरताज संत कंवरराम साहिब की शाहदत दिवस पर रक्त दान कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। संत सखीबाबा आसुदाराम सेवा समिति के अध्यक्ष नंद किशोर संधानी ने बताया कि सुबह जिला अस्पताल में पहुंचकर रक्तदान किया जाएगा इच्छुक लोग अपना पंजीयन करा सकते है। रात दस बजे श्रद्धांजलि कार्यक्रम रखा गया है।

एक सप्ताह बाद मामला दर्ज

 सीहोर,बस स्टैंड के पीछे स्थित फायनेंस कंपनी में हुई चोरी के मामले को आखिरकार पुलिस ने सच मानते हुए एक सप्ताह बाद प्रकरण दर्ज किया है। उल्लेखनीय है कि स्थानीय बस स्टैंड पीछे स्थित माइक्रो मैक्स फायनेंस कंपनी के मैनेजर जितेन्द्र आत्मज रतन सिंह ठाकुर द्वारा कोतवाली पुलिस को यह जानकारी दी गई थी कि 17-18 अक्टूबर की रात में उनकी तिजौरी से 2 लाख 60 हजार 138 रुपए चोरी चले गए हैं। कोतवाली पुलिस ने इस मामले को संदेहास्पद मानते हुए प्रकरण दर्ज नहीं किया था। पुलिस का मानना था कि तिजौरी से इस प्रकार चोरी होना संभव नहीं है। सोमवार को पुलिस ने इस चोरी के मामले में भादवि की धारा 457, 380 के अंतर्गत प्रकरण कायम कर लिया है।

कार्यालयों में नकदी नहीं रखने के दिशा-निर्देश

माइक्रो मैक्स फायनेंस कंपनी की चोरी का मामला दर्ज करने के बाद पुलिस प्रशासन ने एहतियात के कदम उठाए हैं। जानकारी के अनुसार पुलिस ने सोमवार को सभी फायनेंस कंपनियों को दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं कि अपने कार्यालयों में नकदी रकम नहीं रखें, यदि रकम रखना जरूरी है तो प्रमाणित तिजौरियों में रखें साथ-साथ ही सुरक्षा कर्मियों की भी तैनाती करें।

आत्महत्या के मामले में तूल पकड़ा

शाहगंज, ग्राम मुरार के कृषक द्वारा की गई आत्महत्या के मामले ने तूल पकड़ना शुरू कर दिया है। पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं किए जाने से सोमवार को ग्राम में आक्रोश का वातावरण देखा गया। ग्राम जहानपुर निवासी जियाराम मीणा पिछले कुछ सालों से ग्राम मुरार में रह रहा था। शनिवार को इसने ग्राम के ही कुछ लोगों द्वारा दी गई मानसिक प्रताड़नों से तंग आकर आत्महत्या कर ली थी। सोमवार को भी इस घटना क्रम को लेकर ग्रामीण आक्रोशित नजर आए। उनका कहना है कि पुलिस प्रभावशाली लोगों पर कार्रवाई नहीं करके उन्हें बचाने का प्रयास कर रही है। एसपी श्री पाराशर ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।

होटलों और मिष्ठान विक्रेताओं की चैकिंग


सीहोर,सोमवार को एसडीएम के दिशा निर्देशन में खाद्य एवं औषधि प्रशासन तथा खाद्य विभाग के अमले द्वारा कार्रवाई किए जाने से होटल संचालकों और मिष्ठान विक्रेताओं में हड़कंप मच गया। खाद्य एवं औषधि प्रशासन के बसंत दत्त शर्मा, रीटा शुक्ला, सारिका गुप्ता, अर्चना प्रभाकर, खाद्य विभाग की शाहना तथा रेशमा द्वारा कार्रवाई की गई। जानकारी के अनुसार इन्होंने हर्ष रेस्टोरेंट से मावे का सैंपल लिया। जबकि विजय भोजनालय से घरेलू रसोई गैस का सिलेंडर जब्त किया गया। निरीक्षक बसंत दत्त शर्मा ने बताया कि यह कार्रवाई आगे भी पूरे जिले में इसी प्रकार जारी रहेगी।

ठाकुर को मिला वर्क क्वालिटी अवार्ड

क्षेत्र के युवा नेता को उनके उल्लेखनीय कार्यों के लिए सम्मानित किया गया
आष्टा,इण्डियन यूथ कांग्रेस इलेक्शन कमीशन द्वारा गांधी स्मृति राजघाट नई दिल्ली में आयोजित दो दिवसीय संकल्प 2010 कार्यक्रम के अंर्तगत विगत दो वर्षों से यूथ कांग्रेस इलेक्शन को सम्पन्न कराने वाले देश के चुनिन्दा चुनाव अधिकारियों को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव राहुल गांधी द्वारा चुनाव प्रक्रिया के विभिन्न कार्यों को चिन्हित कर वर्क क्वालिटी अवार्ड, डेन्जर फेस अवार्ड, मैराथन अवार्ड एवं क्रिएटिव अवार्ड प्रदान किए गए। संकल्प 2010 में राहुल गांधी द्वारा युवा कांग्रेस नेता हरपाल ठाकुर को वर्क क्वालिटी अवार्ड राहुल गांधी द्वारा प्रदान किया गया, जिसमें उन्हे प्रतीक चिन्ह प्रदान किया गया। हरपाल ठाकुर विगत दो वर्षों से लगातार इण्डियन यूथ कांग्रेस इलेक्शन कमीशन में कार्य कर रहें हैं। जिसके अर्न्तगत वह गुजरात, झारखण्ड, दमनदीव, बिहार जैसे राज्यों में विपरीत परिस्थितियों का सामना करते हुए चुनाव सम्पन्न करा चुके हैं।उल्लेखनीय है कि हरपाल ठाकुर पूर्व में सीहोर जिला एनएसयूआई के अध्यक्ष एवं मध्यप्रदेश युवा कांग्रेस के सचिव पद पर कार्य कर चुके हैं। उक्त आयोजन में देश के चुनिन्दा 6 लोगो को अन्य पुरूस्कारोे से उनके उत्कृष्ट कार्यों के लिए पुरस्कृत किया गया। श्री ठाकुर को अनेक युवाओं ने बधाई दी है।

Monday, October 25, 2010

कोतवाली का निरीक्षण किया

 सीहोर,रविवार की सुबह मानव अधिकार आयोग के रजिस्ट्रार डीके पुराणिक ने कोतवाली का निरीक्षण कर यहां की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने पुलिस जवानों की समस्याएं सुनकर निराकरण की पहल करने का आश्वासन भी दिया। प्राप्त जानकारी अनुसार रविवार की सुबह करीब नौ बजे मानव अधिकार आयोग के रजिस्ट्रार डीके पुराणिक अचानक कोतवाली पहुंचे और यहां की व्यवस्थाओं का बारीकी से निरीक्षण किया। बताया जाता है कि श्री पुराणिक ने बंदियों को रखे जाने की व्यवस्था को देखा, इसके अलावा उनके लिए पीने के पानी का इंतजाम और बाथरुम की व्यवस्थाओं को देखा,साथ ही साथ ही मालखाने और रजिस्टरों का भी बारीकी के साथ अध्यन किया। श्री पुराणिक ने इस अवसर पर पुलिस जवानों की समस्याओं को भी सुना। यहां पर मौजूद स्टाफ ने बताया कि सीहोर में वर्षो से आवास की समस्या चल रही है जिससे हम सभी लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसके अलावा जवानों ने बताया कि भत्ता भी कम मिलता है जिसके कारण परेशान होना पड़ रहा है। श्री पुराणिक ने कहा कि उनकी समस्याओं की ओर शासन का ध्यान आकृष्ट कराया जाएगा।

पद के साथ इंसाफ करें नेता : पचौरी


सीहोर,रविवार को यहां पर कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन एवं युवक कांग्रेस सदस्यता अभियान को संबोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुरेश पचौरी ने कहा कि पदाधिकारियों को अपने पद के साथ इंसाफ करते हुए प्रदेश सरकार की असफलता जनता को बताना होगी। लीसा टाकीज मैदान पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्री पचौरी ने कहा कि राहुल गांधी की मंशानुरुप मैं युवक कांग्रेस की सदस्यता अभियान को गतिशीलता प्रदान करने के लिए प्रदेश का दौरा कर रहा हूं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस से ज्यादा से ज्यादा युवा जुड़ेंगे तो हवा बदलेगी, इसके पीछे का मकसद यह है युवाओं में क्षमताएं अधिक रहती है जिसका उपयोग हमें कराना है। इसकी सदस्यता बढ़ने से हमारी पार्टी के सीनियर लीडरों को भी फायदा होना है। श्री पचौरी ने यह भी स्पष्ट किया कि अब कांग्रेस में अनुशासन को महत्व दिया जा रहा है यह हमारी कमी रही है पर इस बार राहुल गांधी द्वारा प्रयास किए जा रहे है। चुनाव लड़ने वाले नेता को कांग्रेस से बगावत कराने वाले नहीं बल्कि मतदाताओं को मनाने में समय लगाना पड़ेगा। कार्यक्रम को एलआरओ संदीप बलसार,युवा नेता अजमत खान, अशोक सिंह, नपाध्यक्ष राकेश राय ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम का संंचालन वरिष्ठ नेता केयू कुरैशी और जिला अध्यक्ष कैलाश परमार ने किया आभार पंकज गुप्ता ने माना।

नेताओं और ग्रामीणों ने भी दिए ज्ञापन

- प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के आगमन को लेकर व्यापक उत्साह का वातावरण नजर आ रहा था। नपा चुनाव का असर साफ तौर पर दिखाई दे रहा था।

- प्रदेश अध्यक्ष के साथ मंच पर बैटने के लिए कांग्र्रेस नेता लालायित नजर आए हर कोई उनकी निगाह में आने का भरपूर प्रयास कर रहा था।

- आरक्षण की प्रक्रिया को बताते समय श्री पचौरी ने ममता त्रिपाठी और रुकमणी रोहिला तथा गोपाल इंजीनियर से पूछा कि क्यों ठीक है न?

- आष्टा के नेता प्रदीप प्रगति जमीन पर और अशफाक खान मंच पर बैठे थे दोनों को नाम लेकर उन्होंने बुलवाया और दाएं और बाएं बैनर को पढ़वाया।

- कार्यक्रम के दौरान एक ग्रामीण ने जब उनसे कहा कि आष्टा में बिजली नहीं मिल रही है तो उन्होंने पूछा कि वहां का विधायक कौन है?

- लोगों को बैठाने के लिए कांग्रेस नेता सुदेश राय, मुदृल तोमर सक्रिय बने रहे

- सदस्यता अभियान कार्यक्रम की व्यवस्था राजकुमार जायसवाल ने देखी।

- मंच पर कांग्रेस नेताओं और ग्रामीणों ने भी ज्ञापन सौंपे, भाषण के दौरान श्री पचौरी ने एक बार फिर रुकमणी रोहिला का नाम लेकर उन्हें खड़ा किया।

- सीहोर की गिनी चुनी महिला कांग्रेस नेत्रियां उपस्थित थी, ग्रामीण क्षेत्र से आई महिला नेत्रियों की सक्रियता पर मुख्यालय के नेता हतप्रभ दिखाई दिए।

- कार्यक्रम समाप्त होने के बाद श्री पचौरी मंच से उतरकर महिलाओं के पास और पुरुषो के पास गए और उनकी समस्याओं को भी सुना।

नीति अच्छी पर साधन नहीं

सीहोर। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुरेश पचौरी ने अपने प्रवास के दौरान पत्रकारों से भी चर्चा करते हुए कहा कि प्रदेश की सरकार हर मोर्चे पर विफल साबित हो रही है प्रदेश सरकार को जितना रुपया अभी केन्द्र सरकार उपलब्ध करा रही है उतना रुपया तो कांग्र्रेस सरकार के समय में भी नहीं मिल रहा था। मुख्यमंत्री की मौजूदगी में सरकार ने इस बात को स्वीकार किया है कि हमारे द्वारा केन्द्र से मिली राशि खर्च नहीं की गई है और वो लैप्स भी हो गई है। श्री पचौरी ने पत्रकारों के जवाब देते हुए कहा कि खजुराहों इन्वेस्टर्स समिट एक अच्छी नीति तो है पर यहां पर साधनों का अभाव है जिसको दुरस्त किया जाना पहले जरुरी है मुझे नहीं लगता कि यहां पर सरकार कुछ खास कर पाएगी। पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए श्री पचौरी ने कहा कि उन्हें इस बात की कतई जानकारी नहीं है कि यहां पर वरिष्ठ नेता अजीज कुरैशी का पुतला जलाया गया है। उन्होंने एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि पुतला जलाना हमारी संस्कृति का अंग नहीं है और न ही ऐसा होना चाहिए क्योंकि अजीज कुरैशी हमारे बुजुर्ग नेता हैं। उन्होंने एक अन्य प्रश्न के उत्त्तर में राहुल गांधी द्वारा आरएसएस पर की गई टिप्पडी पर अपनी सहमति प्रकट करते हुए कहा कि राहुल गांधी ने जो कहा है कि वो एकदम ठीक है। टेÑनों के स्टापेज पर कांग्रेस द्वारा कोई प्रयास नहीं किए जाने पर उन्होंने कहा कि क्षेत्र की समस्याओं को हल कराने की दिशा में पहला प्रयास क्षेत्र के विधायक और सासंद का होता है पर दोनों द्वारा इस दिशा में कार्य नहीं किया गया है। उन्होंने यहां पर स्पष्ट भी किया कि इसका मतलब यह भी नहीं है कि हमारी क्षेत्र के प्रति जवाबदेही नहीं है लोग हमे ज्ञापन दे और हम रेल मंत्री से बातचीत कर समस्या का समाधान कराने की दिशा में प्रयास करेंगे। जिले में कांग्रेस की विरोध की भूमिका पर किए गए सवाल का जवाब देने के लिए उन्होंने जिला अध्यक्ष कैलाश परमार की ओर माइक कर दिया जिस पर श्री परमार ने कहा कि हमारे द्वारा समय-समय पर समस्याओं का हल कराने की दिशा में प्रयास किए गए है और आगे भी इसी प्रकार के प्रयास किए जाएंगे। श्री पचौरी ने चर्चा करते हुए कहा कि जिला कांग्रेस अध्यक्ष पद की घोषणा के बारे में मैं कुछ भी नहीं कह सकता हूं यह घोषणा चुनाव प्राधिकृत अधिकारी द्वारा की जाना है जिसकी जानकारी वो ही दे सकते है। पत्रकार वार्ता के समापन के बाद भी श्री पचौरी पत्रकारों के साथ बैठे रहे और कार्यक्रम स्थल पर व्यवस्था कराई।

यह तो मेरे नाम राशि है, मंच पर बुलाकर सुनवाई समस्या...

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुरेश पचौरी जब मंच पर बैठे थे तब एक ग्रामीण ने उन्हें ज्ञापन सौंपा,ग्रामीण जाने लगा तो उन्होेंंने जिला अध्यक्ष कैलाश परमार से उसे रोकने के लिए कहा और उसे मंच के सामने बैठा दिया। जब श्री पचौरी भाषण देने के लिए खड़े हुए तो उसे मंच पर बुला लिया और कहा कि यह तो मेरे नाम राशि का है। चुटीले अंदाज से उससे कहा कि सुरेश मंच पर आ जा और लोगों को बता कि तेरे साथ क्या हो रहा है,बताएगा नहीं तो नेता कैसे बनेगा? सुरेश ने बताया कि वो लाड़कुई का रहना वाला है जहां पर उसकी जमीन पर से झुग्गी तोड़ी जाकर छात्रावास बनाए जाने की तैयारी की जा रही है। मेरी कोई सुन नहीं रहा है। जब वो अपनी बात खत्म करके जा रहा था तो उससे पूछा कि तेरे क्षेत्र का एमएएल कौन है? जिस पर श्री पचौरी ने कहा कि जब भैया के क्षेत्र में ही यह हो रहा है तो पूरे प्रदेश की स्थिति क्या होगी इसकी कल्पना करे?

उम्र पार कर चुका हूँ पर हूं तो पुराना युवक कांग्रेसी...

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने अपने संबोधन के दौरान बताया कि मैं उम्र पार कर चुका हूं पर हूं तो पुराना युवक कांग्रेसी आप लोग चलकर सदस्यता अभियान में भाग ले एलआरओ से समझे मै आकर देखता हूँ,कार्यक्रम के बाद श्री पचौरी सदस्यता अभियान के कार्यक्रम में शामिल हुए और उसकी जानकारी लेते हुए युवाओं को प्ररेणा दी कि अधिक सदस्य बनाएं।



बालाओं के अश्लील नृत्य पर आक्रोश

 सीहोर,शनिवार की देर रात को स्थानीय गीता मानस भवन में एक निजी कंपनी द्वारा आयोजित किए गए कार्यक्रम बालाओं द्वारा किए जा रहे अश्लील नृत्य पर आक्रोश का वातावरण बन गया जिस पर नृत्य बंद कराने पड़े। प्राप्त जानकारी अनुसार स्थानीय गीता मानस भवन में एक निजी कंपनी द्वारा आयोजित कार्यक्रम में भोपाल से बुलाई गई बार बालाओं द्वारा अश्लील नृत्य किए जा रहे थे जिसकी जानकारी कार्यक्रम देख रहे लोगों ने बजरंग दल को दे दी, जिस पर बजरंग दल के शंकर ठाकुर, पुष्कर उपाध्याय, अंकित व्यास,तरुण और रितेश राठौर ने आयोजकों से नृत्य बंद कराए। बजरंगदल के इस प्रयास की लोगों द्वारा सराहना की जा रही है।

गायत्री मंत्र से प्रभावशाली कोई मंत्र नहीं:पुरोहित

सीहोर,राष्ट्र जागरण दीप महायज्ञ का स्थल भूमि पूजन पंडित अजय पुरोहित, विधायक रमेश सक्सेना तथा मप्र गौसेवा आयोग के अध्यक्ष शंकरलाल पाटीदार तथा जिले भर के प्रज्ञापीठों के उपस्थिति में सम्पन्न हुआ। पंडित अजय पुरोहित ने कहा कि गायत्री परिवार एक विश्वव्यापी संगठन है जिसका सूत्र संचालन अदृश्य शक्ति द्वारा किया जाता है। गायत्री मंत्र के समान श्रेष्ठ मंत्र न भूतकाल में था, न वर्तमान में है और न ही भविष्य में होगा। श्री पुरोहित ने कहा कि गायत्री मंत्र की साधना से आत्मजागरण हाता है। विधायक रमेश सक्सेना ने कहा कि सहज विश्वास नहीं होता कि कोई पारिवारिक संस्था राष्ट्रभर को जागने का कार्य कर सकती है, किन्तु गायत्री परिवार के प्रज्ञापुत्रों-प्रज्ञापुत्रियों के समर्पित प्रयासों से यह स्पष्ट प्रतीत हो रहा है कि यह संस्था सारे राष्ट्र के लोगों को जागने तथा सोई प्रतिभाओं को राष्ट्रहित में नियोजित करने का कार्य भी कर रही है। कार्यक्रम में एमसी उपाध्याय, चंद्रशेखर गुरूजी, सीताराम चौधरी, प्रहलाद वर्मा, टीकाराम पटेल, जगन्नाथ पटेल, चंपालाल चंद्रवंशी, महेश विजयवर्गीय, जीवन सिंह, भागीरथ पटेल, वंशीलाल, हीरानंद पेसवानी, मोटूमल पेसवानी, रामगोपाल मुकाती, बनेसिंह दांगी, अन्नपूर्ण पालीवाल, रमीला परमार, अनीता राठौर, ओपी शैव, लक्ष्मी वर्मा तथा नगर व ग्रामों के सभी प्रज्ञा मंडल, महिला मंडल की सक्रिय भागीदारी रही। ट्रस्टी रामनारायण परमार एवं सचिव विमल तेजराज ने अतिथियों का तिलक किया। संचालन आरपी हजारी ने किया।

आजादी पर्व की भांति मनेगा स्थापना दिवस

 सीहोर ,मध्यप्रदेश स्थापना दिवस एक नवम्बर को मनाए जाने के सिलसिले में जिला प्रशासन द्वारा सभी जरूरी व्यवस्थाओं को अंतिम रूप दिया जा रहा है। कलेक्टर संदीप यादव ने बताया कि मध्यप्रदेश स्थापना दिवस मुख्य समारोह स्वतन्त्रता एवं गणतन्त्र दिवस की तरह आयोजित किया जाएगा। आयोजन के तहत गत दिवस एक जरूरी बैठक कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित की गई। जिसमें जिलाधिकारियों सहित स्वयं सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों को भी आमंत्रित किया गया। बैठक में कलेक्टर श्री यादव ने अधिकरियों से आयोजन के सिलसिले में व्यापक चर्चा की। उन्होंने इस आयोजन के तहत व्यवस्थाएं सुनिश्चित करते हुए बताया कि इस आयोजन को दो भागों में बांटना ज्यादा सार्थक होगा, जिसमें एक तो स्थापना दिवस और दूसरा स्थापना माह। उन्होंने बताया कि मुख्य आयोजन जिला मुख्यालय पर आयोजित होगा तो दूसरी ओर इसे ग्राम पंचायत स्तर तक ले जाया जाएगा। इस सिलसिले में एक नवम्बर को कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि द्वारा मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया जाएगा। प्रदेश सरकार द्वारा तयशुदा प्राथमिकताओं के मुताबिक ही कार्यक्रम आयोजित किए जांएगे। मुख्य आयोजन एक नवम्बर को जिला मुख्यालय स्थित चर्च ग्राउण्ड पर प्रात: 10.30 बजे से आयोजित होगा। इस दिन मैराथन दौड़, रैली, प्रभातफेरी जैसे आयोजन किए जाएंगे।

प्रदर्शनी का आयोजन

जिला मुख्यालय पर मध्यप्रदेश दिवस के उपलक्ष में विभिन्न विभागों द्वारा विकास पर केन्द्रित प्रदर्शनी आयोजित की जाएगी जिसमें प्रदेश के विकास की तस्वीर पेश की जाएगी। प्रदर्शनी में जल संसाधन, कृषि, स्वास्थ्य, शिक्षा, महिला एवं बाल विकास, उद्योग, डेयरी, आदिम जाति कल्याण, वन, रेशम केन्द्र, उद्यानिकी, ग्रामोद्योग, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग सहित वर्धमान ,अभिषेक इंडस्ट्रीज शामिल रहेंगे। इसके अलावा स्वच्छता, जल संरक्षण, नशा मुक्ति, ऊर्जा संरक्षण जैसे कार्य किए जांएगे।

प्रमुख भवनों पर रोशनी, नहीं दौड़ेंगे बच्चे

मध्यप्रदेश स्थापना दिवस के उपलक्ष में जिला मुख्यालय पर स्थित प्रमुख शासकीय भवनों पर एक नवम्बर की रात्रि को प्रकाश की व्यवस्था की जाएगी। इस सिलसिले में सभी कार्यालय प्रमुखों को जरूरी दिशा निर्देश दिए जा चुके हैं। यह सुनिश्चित किया गया है कि मैराथन दौड़ में 18 वर्ष से कम आयु के किशोर शामिल नहीं होंगे।

Sunday, October 24, 2010

अब प्रेमिका फांसी पर झूली

प्रेमी की हत्या से निराश युवती ने फांसी लगाई
 रेहटी/ बुदनी ,प्रेमी की हत्या के एक पखवाड़े के बाद प्रेमिका ने भी अपनी जीवन लीला फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इस घटनाक्रम के बाद गांव में सदमे का वातावरण बन गया। पुलिस से प्राप्त जानकारी अनुसार रेहटी के ग्राम निनोरा निवासी सपना ने शनिवार की दोपहर में बाथरुम के अंदर वेन्टीलेटर की जाली में दुपटटे को बांधकर एक पटिए के सहारे गले में फांसी का फंदा लगाकर आत्म हत्या कर ली। मृतका के परिजनों को जब वह काफी देर तक बाथरुम से बाहर नहीं निकली तो बाथरुम का दरवाजा खोलकर देखा तो सभी की आंखे सपना को फांसी के फंदे पर झूलता देखकर दंग रह गई । सपना के पिता ने दुपटटा काटकर उसे फंदे से जब तक मुक्त किया तब तक उसके प्राण निकल चुके थे। उल्लेखनीय है कि ग्राम निनोर निवासी अनिल का प्रेम सपना के साथ चल रहा था और वह अनिल के साथ इटारसी से चली गई थी वहां पर सपना के भाई और रिश्तेदारों ने जाकर अनिल और उसके भाई छगन को मौत के घाट उतार दिया था।s

गंदगी ने तोड़ दी परम्परा

सीहोर.कार्तिक स्नान में सीवन की गंदगी और बदबू ने खड़ी की बाधा गंदगी ने तोड़ दी परम्पराकार्तिक माह में नदी पर स्नान करने की परम्परा को सीवन नदी में व्याप्त गंदगी और बदबू ने तोड़ दी है। सूर्य उदय के पहले स्नान के लिए आने वाली महिलाओं की टोली ने अब सीवन नदी पर आना ही बंद कर दिया है।शनिवार से कार्तिक माह का श्रीगणेश हो चुका है, लोगों में इस माह को लेकर व्यापक में उत्साह का वातावरण बना हुआ है पर महिलाओं में सीवन नदी में व्याप्त गंदगी और बदबू के कारण नाराजगी का वातावरण बना हुआ है क्योंकि यहां की गंदगी ने परम्परा को तोड़ने पर विवश कर दिया है। कार्तिक माह की शुरुआत हो चुकी है इस माह में नदी में स्नान करने की पुरानी परम्परा है। प्राचीन मान्यताओं के अनुसार कार्तिक माह में स्नान का तीर्थ के समान महत्व है। यह माह धनधान्य समृद्धि की प्रतीक देवी लक्ष्मी की आराधना के लिए माना जाता है। सीहोर में भी सीवननदी पर स्नान करने के लिए कुछ वर्ष पूर्व तक महिलाओं की टोलियां सूर्य उदय से भी पहले सीवन नदी पर स्नान के लिए आती रही है। यहां पर स्नान के पूर्व भजन कीर्तन किए जाने की भी परम्परा रही है पर अल्प वर्षा और प्रदूषण के चलते गंदगी और बदबू का पर्याय बन रही सीवन नदी पर महिलाओं ने स्नान करने के लिए आना लगभग से बंद कर दिया है। हालांकि अभी भी इक्का दुक्का महिलाएं आ जाती है पर यहां फैली गंदगी के कारण वहां से जाने के अलावा उनके पास कोई विकल्प भी नहीं रहता है। इस बार नगरपालिका परिषद द्वारा दो बार सीवन नदी की सफाई कराई गई है पर इस केवल औपचारिकता भर ही कहा जाए तो शायद अतिश्योक्तिपूर्ण नहीं होगा क्योंकि प्रतिमा विर्सजन के लिए थोड़ी सी जगह पर ही सफाई की गई पर नहाने के लिए आज भी वहां पर कोई व्यवस्था नहीं है जिससे लोग नाराज है।
 पुरुष घाट पर महिलाएं
सीवन नदी पर नगरपालिका द्वारा केवल पुरुष घाट पर ही सफाई कराई गई । महिला घाट पर आज भी गंदगी व्याप्त है जिसके कारण महिलाओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इन दिनों सड़क से गुजरने वाले लोग उस समय हतप्रभ रह जाते है क्योंकि उन्हें पुरुष घाट पर महिलाएं कपड़े घोती नजर आती है। मजबूरी में इनके पास कोई विकल्प नहीं रहता है।

सबसे बड़ी चुनौती नगरपालिका चुनाव हैं

 सीहोर.जिला भाजपा कार्यकारिणी की बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेश भाजपा महामंत्री श्रीमती मायासिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार ने गांव के विकास गरीबो के उत्थान के लिए अच्छे कदम उठाए हैं वो लगातार जारी है। सरकार की योजनाएं एवं विकास गांव गांव तक घर घर तक गरीबो के दरवाजे तक पहुचें इसकी जिम्मेदारी भाजपा के प्रत्येक कार्यकर्ता के कंधे पर हैं। उन्होंने कहा कि सीहोर जिले में भाजपा कार्यकर्ताओं के सामने सबसे बड़ी चुनौती सीहोर नगरपालिका के आगामी चुनाव हैं। मुझे विश्वास हैं कि निष्ठावान भाजपा का कार्यकर्ता ही नपा अध्यक्ष बनेगा तथा परिषद में भाजपा का बहुमत भी आएगा। बैठक में जिले के संगठन मंत्री सुरेन्द्र आर्य, भाजपा अध्यक्ष रघुनाथ भाटी, विधायक रमेश सक्सेना , इछावर विधायक करणसिंह वर्मा, आष्टा विधायक रणजीतसिंह गुणवान ने बैठक को संबोधित किया। बैठक के शुभारंभ में श्रीमती मायासिंह ने पंडित दीनदयाल एवं डा. श्यामाप्रसाद मुखर्जी के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रजव्लित किया बैठक में पूर्व जिलाध्यक्ष ललित नागौरी ने वर्ग गीत सुनाया। भाजपा जिला मीडिया प्रभारी सुशील संचेती, रघुनाथसिंह भाटी, सुरेश आर्य, रमाकांत समाधिया, मुकेश बडजात्या, वीरसिंह चौहान, कैलाश चंद्रवंशी, सीताराम यादव,रीना मिश्रा, सुनील लोवानिया, अजय टेलर, देवेन्द्र सक्सेना, संजय अजमेरा, कैलाश सुराना उपस्थित थे।

Saturday, October 23, 2010

संदेह पर पत्नी की निर्ममता पूर्वक हत्याकर थाने पहुंचा पति

सीहोर। शुक्रवार की सुबह 30 वर्षीय विवाहिता की निर्ममता पूर्वक हत्या किए जाने से सनसनी का वातावरण निर्मित हो गया। चरित्र संदेह के आधार पर विवाहिता को उसके पति द्वारा मौत के घाट उतारा गया। पति अपने काम को अंजाम देने के बाद चाकू सहित थाने पहुंच गया। उसके बाद पुलिस घटना स्थल पर पहुंची। कोतवाली पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार की सुबह साढ़े आठ बजे स्थानीय जमशेद नगर निवासी 35 वर्षीय युसूफ अली पुत्र मजीद शाह फकीर ने घर में अपनी पत्नी नाजमा बी की निर्ममता पूर्वक हत्या कर दी। एक पुत्र और पांच पुत्रियों के पिता युसूफ अली ने योजनाबद्ध तरीके से अपनी पत्नी को मौत के घाट उतार दिया। रायसेन निवासी नाजमा बी का निकाह युसूफ अली के साथ हुआ था, पर इस अंजाम की किसी को उम्मीद नहीं थी। पुलिस के अनुसार इनका वैवाहिक जीवन पूर्व में तो सामान्य रूप से चला, लेकिन बाद में शक के जहर ने इनके खुशहाल जीवन में तबाही मचा दी। पिछले दस दिनों से इनके बीच विवाद चल रहा था। बिना बताए चले जाने से युसूफ अली नाजमा से नाराज चल रहा था। यही कारण था कि उसे संदेह हो गया था कि नाजमा का चरित्र कमजोर है। पुलिस के अनुसार गुरूवार की रात और शुक्रवार की सुबह भी इनके मध्य इसी बात को लेकर विवाद हुआ था और सुबह युसूफ अली ने चाकूओं से नाजमा बी का पूरा शरीर गोद डाला और फिल्मी अंदाज में चाकू सहित थाने पहुंच गया। कोतवाली पुलिस उसके हौंसले देखकर हतप्रभ थी। मौके पर पहुंचकर पुलिस ने अपने स्तर पर आखिरी प्रयास करते हुए नाजमा बी को अस्पताल ले जाने का प्रयास किया, लेकिन रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। कोतवाली पुलिस के अनुसार घटना स्थल पर चार चाय के कप मिले हैं। जिससे यह अंदाज लगाया जा रहा है कि इन्होंने चाय पी है तथा रात के झगड़े का अंदाज इस बात से लगाया जा रहा है कि घर में मटन बना हुआ रखा था। जो संभवत: झगड़े के कारण किसी ने नहीं खाया था। बताया जाता है कि आरोपी युसूफ अली आए दिन के विवाद से तंग आकर अपनी पत्नी को रास्ते से हटाने का मन पहले से ही बना चुका था। इसका अंदाजा पुलिस को घटना स्थल का निरीक्षण करने पर लगा। आरोपी ने अपने बड़े पुत्र को झुनियाबाड़ा भेज दिया था। जबकि पांचों लड़कियों को पैसे देकर सामान खरीदने के लिए रवाना किया था। घर में कोई भी मौजूद नहीं था। इसी दौरान उसने नाजमा बी को चाकू से गोद डाला। पुलिस का मानना है कि आरोपी ने इतनी योजनाबद्ध तरीके से काम किया कि नाजमा बी को प्रतिकार करने का अवसर ही नहीं मिला। गर्दन और सिर को छोड़ दिया जाए तो शरीर के लगभग हर हिस्से पर आरोपी द्वारा चाकू से प्रहार किए गए हैं। इस सनसनीखेज घटनाक्रम में आरोपी ने अपनी पत्नी के शरीर पर करीब 25 से भी ज्यादा प्रहार चाकूओं से किए है, पेट और हाथ, पैर पर लगातार प्रहार किए जाने से नाजमा बी की हालात गंभीर हो गई थी, पुलिस ने पति के मुँह से उसकी जुबानी सुनकर खून से लथपथ हालत में अस्पताल भी पहुँचाने का भी प्रयास किया पर उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया।

साड़ियों ने चमक बिखेरी

सीहोर। जिला मुख्यालय पर इन दिनों सभी व्यापारी दीपावली की तैयारियों में व्यस्त नजर आ रहे हैं, सभी दुकानदारों द्वारा भरपूर स्टॉक किया गया है और बाजार में भी धीरे-धीरे तेजी आ रही है। दीपावली पर्व के पहले करवाचौथ होने से साड़ी के कारोबार में तेजी पकड़ ली है। करवा चौथ पर साड़ी खरीदने की परम्परा का निर्वहन सभी वर्ग की महिलाओं द्वारा किया जा रहा है। नजदीक ही दीपावली पर्व आने के कारण उनके द्वारा एक पंत दो काज किए जा रहे हैं। रतलाम और इंदौर, भोपाल से आने वाली विभिन्न प्रकार की साड़ियां महिलाओं द्वारा पसंद की जा रही है। दुकानदारों के अनुसार वर्क, हीरा-मोती, प्रिंटेड, जयपुरी तथा सूरत की नेट और हैंडवर्क की साड़ियों की मांग बनी हुई है।

करवा चौथ को लेकर महिलाओं में हर बार की तरह इस बार भी व्यापक उत्साह का वातावरण देखा जा रहा है। दीपावली नजदीक होने से ग्राहकी का जोर दुगुना हो गया है। सभी प्रकार की साड़ियां बिक रही हैं।

- विजय जादवानी

करवाचौथ के साथ-साथ महिलाओं द्वारा दीपावली को ध्यान में रखते हुए भी खरीददारी की जा रही है। आने वाले दिनों में ग्राहकी का जोर और भी बढ़ेगा।

- अमित सोलंकी

इस बार वर्क की साड़ियां काफी पसंद की जा रही हैं। हमारे द्वारा व्यापक पैमाने पर स्टॉक किया गया है। ग्राहकी अब दीपावली के बाद तक इसी प्रकार जारी रहने की उम्मीद है।

- शोएब अहमद

इस बार जयपुरी और सूरत की नेट वाली साड़ी, हैंडवर्क की साड़ियां भी पसंद की जा रही हैं। करवाचौथ के बाद भी दीपावली तक खरीदी का उत्साह इसी प्रकार बरकरार रहने की संभावना बनी हुई है।

- दीपक चौरसिया

करवाचौथ पर कारोबार पिछले साल की तुलना में इस बार अधिक है। आने वाले दिनों में यह कारोबार और बढ़ेगा।

- रोमी आहूजा

बाबा भारतीय होंगे पुरस्कृत

सीहोर। अमर शहीद पत्रकार गणेश शंकर विद्यार्थी के जन्मदिवस पर आयोजित होने वाले समारोह में सीहोर जिले के वरिष्ठ पत्रकार अंबादत्त भारतीय पुरस्कृत किए जाएंगे। इस पुरस्कार समारोह में देश और प्रदेश के ख्यातनाम पत्रकारों को पुरस्कृत किया जाएगा। इसी तारतम्य में जिले से बाबा अंबादत्त भारतीय का चयन किया गया है।

नि:शुल्क होंगे आपरेशन

सीहोर। सीएचएल अपोलो अस्पताल इंदौर के तत्वावधान में कटे-फटे होंठ व काटे तालु के लिए निशुल्क आपरेशन शिविर का आयोजन 25 अक्टूबर को चिकित्सालय सीहोर में किया जाएगा। शिविर के आयोजनकर्ता मनोज पटेल ने बताया कि शिविर में आॅपरेशन के साथ-साथ मरीजों का अस्पताल में रहना, खाना-पीना व आवश्यक दवाईयां भी पूर्णत: निशुल्क रहेगी। पूर्व में आॅपरेशन करा चुके मरीज भी इस शिविर में फिर से आपरेशन करा सकते हैं। श्री पटेल ने बताया कि पिछले दो सालों में अभी तक दो हजार से अधिक मरीजों को इस योजना का लाभ मिल चुका है। शिविर 25 अक्टूबर को प्रात: 10 से दोपहर एक बजे तक रहेगा। शिविर में मरीजों की जांच कर आपरेशन की तारीख दी जाएगी। आपरेशन सीएचएल अपोलो हास्पिटल में डा. जगदीप सिंह चौहान द्वारा किया जाएगा। श्री पटेल ने स्वयं सेवी संस्था, एनजीओ, सामाजिक कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता से अपील की है कि वह अपने क्षेत्र में यह जानकारी देकर पीड़ित मरीजों के चेहरे की विकृति ठीक हो और उन्हें नया जीवन मिले।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कल सीहोर में

 सीहोर,मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुरेश पचौरी 24 अक्टूबर रविवार को प्रात: 11 बजे लीसा टाकीज चौराहा पर जिला कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे तथा कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी की मंशानुरूप युवाओं को भारतीय युवक कांग्रेस से जुड़ने का आव्हान भी करेंगे। जिला कांग्रेस अध्यक्ष कैलाश परमार ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुरेश पचौरी कार्यकर्ता सम्मेलन में कार्यकर्ताओं से चर्चा भी करेंगे। इस सम्मेलन में सभी वरिष्ठ कांग्रेसजनों, अनुसांगिक संगठनों, युवक कांग्रेस, सेवादल, एनएसयूआई, महिला कांग्रेस, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ, अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ, झुग्गी झोपड़ी प्रकोष्ठ, सद्भावना प्रकोष्ठ एवं कांग्रेस कार्यकर्ताओं से शामिल होने की अपील की है।

Friday, October 22, 2010

छात्राओं ने मारी बाजी

सीहोर.छात्र राजनीति के प्रमुख आधार माने जाने वाले छात्रसंघ चुनाव एक बार फिर अप्रत्यक्ष प्रणाली से पूर्ण हो गए। इस बार के चुनाव में नियम-कायदे और कानून व आरक्षण का दायरा सामने आ जाने के कारण अनेक विद्यार्थियों को मायूस भी होना पड़ा। जिले में गुरूवार को छात्रसंघ चुनाव सम्पन्न हुए। जिसमें विद्यार्थियों ने पूरे उत्साह के साथ भाग लिया और निर्वाचित अध्यक्ष का स्वागत किया। उल्लेखनीय है कि इसी साल खुले बुदनी और रेहटी के कालेज में चुनाव नहीं हुए हैं, जबकि नसरुल्लागंज के राय भंवर सिंह कालेज में भी चुनाव नहीं कराए गए हैं। जानकारी के अनुसार शासकीय पीजी कालेज में अध्यक्ष अनीता राय, उपाध्यक्ष राहुल गौर, सचिव राहुल कुमार, सहसचिव सुनील कुमार निर्वाचित हुए, जबकि कन्या महाविद्यालय में भूमिका दासवानी अध्यक्ष, उपाध्यक्ष नेहा वर्मा, सचिव रुपाली जैन, सह-सचिव राधा राठौर चुने गए। इसी प्रकार सीहोर महाविद्यालय में अध्यक्ष रीना वर्मा, उपाध्यक्ष अरविन्द वर्मा, सचिव मनीष खरे, सहसचिव योगेश पगारिया का निर्वाचन हुआ है। वहीं विवेकानंद कालेज अध्यक्ष आकाश राजपूत, उपाध्यक्ष अकांक्षा शर्मा, सचिव लखन तिवारी, सहसचिव पीयूष सोनी चुने गए। महात्मा गांधी कालेज अध्यक्ष सर्वेश नरवरिया, उपाध्यक्ष फरहान शकील, सचिव जितेन्द्र मेवाड़ा, सहसचिव सतीश मेवाड़ा बने। शासकीय महाविद्यालय आष्टा में शबनम मंसूरी अध्यक्ष, उपाध्यक्ष आस्था जैन, सचिव सीमा महेश्वरी, सहसचिव धर्मेन्द्र सिंह चुने गए। इछावर के शासकीय महाविद्यालय में अध्यक्ष नेहा त्यागी, उपाध्यक्ष रामसिंह, सचिव सगीर, सह सचिव दशरथ। नसरुल्लागंज के शासकीय महाविद्यालय में आनंद यादव अध्यक्ष, उपाध्यक्ष सोनम सेन, सचिव रामचंद्र पंवार, सहसचिव भीम सिंह पंवार चुने गए।

14 वर्ष से कम उम्र के बच्चों से काम न कराएं : भटनागर

सीहोर.विधिक सेवा प्राधिकरण के द्वारा जिले में लगातार अभियान चलाया जा रहा है, जिसके तहत जागरूकता शिविरों का आयोजन हो रहा है। इस बार जिला मुख्यालय पर ही शिविर आयोजित हुआ जिसमें शासन की जनकल्याणकारी योजना की जानकारी दी। जिला न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष वेदप्रकाश शर्मा के निर्देशन में सिलाई कढ़ाई केन्द्र कलेक्ट्रेट सीहोर में कुमारी विनीता भटनागर न्यायिक मजिस्ट्रेट के मुख्य आतिथ्य में महिलाओं एवं बच्चों की सुरक्षा व देखभाल की दृष्टि से आयोजित जागरूकता शिविर सम्पन्न हुआ। मुख्य अतिथि ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि सामान पारिश्रमिक अधिनिमय के अंतर्गत महिलाओं को पुरूषों के सामान काम के लिए सामान पारिश्रमिक मिलना चाहिए। इसमें किसी प्रकार का भेदभाव नहीं होना चाहिए। उन्होंने बच्चों का शोषण रोकने, बच्चों का सर्वांगीण विकास, शिक्षा प्राप्त करने का उनका मौलिक अधिकार है, उक्त संबंध में जानकारी से अवगत कराया। उन्होंने कहा 14 वर्ष से कम उम्र के बच्चों से काम   न कराएं। यह अपराध की श्रेणी में आता है। अब पुुलिस में रिपोर्ट दर्ज कर सकते हैं। तालक के मामले में पति-पत्नी को भरण पोषण हेतु खर्चे पानी की रकम देगा। उन्होंने महिलाओं की सुरक्षा, उनके हित में बनाए गए कानून, घरेलु हिंसा अधिनियम के संबंध मे विस्तृत जानकारी से अवगत कराया।जिला विधिक सहायता अधिकारी एससी खरे ने विधिक सहायता, लोक अदालत व विभिन्न योजनाओं, बाल मजदूरी अधिनियम, घरेलु हिंसा की जानकारी से अवगत कराया। महिला बाल विकास पर्यवेक्षक सीमा शर्मा ने प्रसव, टीकाकरण, जन्म सुरक्षा योजना, लाडली लक्ष्मी योजना तथा मां व बच्चों की सुरक्षा की जानकारी, मंगल दिवस योजना के अंतर्गत गोद भराई, जन्मदिवस, किशोरी बालिका दिवस, जननी सुरक्षा के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गई व अन्य समाजसेवियों ने विचार व्यक्त किए।

आष्टा में एक बार फिर पीला पंजा चमका


 आष्टा नगर में कुछ माह पूर्व ही अतिक्रमण को लेकर खासा आयोजन कुछ दिनों तक चलाया गया था, जिसमें अतिक्रमणकारियों को नजर अंदाज कर आम आदमी की परेशानी का सबब तैयार कर उनके ओटले तथा जीनों को बड़ी ही बेदर्दी से तोड़ दिया गया था। इस तरह की अतिक्रमण मुहिम का बिगुल स्थानीय प्रशासन द्वारा पुन: फूंका जा चुका हैं। बुधवार शाम मुनादी के माध्यम से पुन: अतिक्रमण हटाने को लेकर लोगों में दहशत भर दी गई हैं। नगर के महत्वपूर्ण व्यवसायिक मार्ग कन्नौद रोड पर बने कांक्रीटयुक्त मार्ग के बीचों-बीच से नापकर दोनों ओर चूने की लाईन डालकर सभी व्यवसायियों को आज तक का समय दे दिया गया है कि अपना सामान तथा अन्य अतिक्रमण मार्ग से 40 फीट दूर कर ले अन्यथा या तो उसे जब्त कर लिया जाएगा या नष्ट कर दिया जाएगा। गुरूवार को हुई कार्रवाई में जहां प्रशासनिक अधिकारियों जिनमें प्रमुख रूप से अनुविभागीय अधिकारी इच्छित गढ़पाले, तहसीलदार पुरूषोत्तम कुमार, मुख्य नगर पालिका अधिकारी केएल सुमन, उपयंत्री देवेन्द्र चौहान ने मार्ग का निरीक्षण कर सभी को समझाईश दी। साथ ही अपना अतिक्रमण हटाने के लिए भी प्रेरित किया। इस पूरी कवायद के पीछे कन्नौद रोड के व्यापारियों द्वारा अपनी जगह से भी काफी अधिक दूरी तक अपने शेड तथा अपना सामान रखने के चलते आवागमन में बाधा उत्पन्न होती हैं इस सबसे ज्यादा अनाज मण्डी में आने वाली बैलगाड़ियों तथा ट्रेक्टर-ट्रालियों की वजह से लोगो को भारी परेशानी का सामना करना पडता हैं। जिस स्थान पर व्यापारियों ने अपना सामान रख रखा हैं उस स्थान का उपयोग सामान हटाने के बाद यातायात कों व्यवस्थित करने में किया जा सकता हैं, अपनी बारी के इंतजार में खडेÞ होने वालें वाहनों को भी इस स्थान पर खड़ा किया जा सकता हैं। यही हाल सिविल अस्पताल के पीछे वाले मार्ग का भी जिसके दोनों ओर अवैध गुमटियां रखकर उसको किराए से देने का कारोबार पनप गया हैं। रसूखदार लोग जबरिया अपनी गुमटी रखकर गरीबों को अवैध बिजली कनेक्शन तथा किराया वसूल कर इसे एक धंधे का रूप दे चुके हैं। इस पर भी प्रशासन कब दृष्टि डालेगा देखने लायक मामला हैं। ऐसा नहीं हैं कि इतने में अतिक्रमण का मामला खत्म हो जाता हैं चाहे मुख्य मार्ग हो या फिर अनेकों अन्य स्थान सभी में हो चुके बड़े अतिक्रमणों को भी देखने की सख्त आवश्यकता हैं।

Thursday, October 21, 2010

कन्या महाविद्यालय में शपथ ग्रहण के बाद मिठाई का भी वितरण

कन्या महाविद्यालय में शपथ ग्रहण के बाद खुशियों का माहौल

कन्या महाविद्यालय में शपथ ग्रहण

चन्द्रशेखर आजाद कालेज में शपथ ग्रहण समारोह

एनएसयूआई ने चन्द्रशेखर आजाद कालेज अध्यक्ष का स्वागत किया

टच स्क्रीन मोबाइल का क्रेज

सीहोर,  दीपावली पर्व आते ही जिला मुख्यालय पर स्थित इलेक्ट्रानिक्स की दुकानें सजने का दौर शुरू हो गया है। दुकानदारों को अच्छी ग्राहकी का अनुमान है।
जैसे-जैसे दीपावली और धनतेरस का पर्व नजदीक आ रहा है, वैसे-वैसे बाजार में इलेक्ट्रानिक्स की दुकानों की रौनक बढ़ती जा रही है। इस साल त्यौहार से पहले नवीनतम टैक्नोलॉजी के मोबाइल और टेलीविजन बाजार में उपलब्ध हैं। फ्रिज भी दुकानों पर सजे हुए हैं। वाशिंग मशीन, माइक्रोओवन, एलसीडी, लेपटॉप, कम्प्यूटर, डीवीडी प्लेयर की मांग अभी से बढ़ने लगी है। टच स्क्रीन मोबाइल का क्रेज साफ दिखाई दे रहा है। अनेक दुकानदारों ने अपनी दुकानों को शोरूम जैसा लुक देने का प्रयास किया है। ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को डीटीएच लुभा रहा है, इसलिए उन्होंने डीटीएच की बुकिंग भी कर दी है।
कुल मिलाकर रोशनी के पर्व दीपावली को लेकर इस साल बाजार में खासा उत्साह नजर आ रहा है। अनेक दुकानदारों ने अपने सामान दुकान के बाहर भी सजाकर रखा है। इस साल नवीनतम डिजाइनों में घड़ियां भी बाजार में उपलब्ध है। वीडियो गेम की मांग कम है, उसके बाद भी दुकानों पर यह उपलब्ध हैं।

Wednesday, October 20, 2010

करोड़ों की फिल्म, सीडी पांच रुपए में

सीहोर,जिला मुख्यालय पर मंगलवार की दोपहर पुलिस ने नकली और पायरेटेड सीडी विक्र्रेताओं पर शिकंजा कस दिया। इस दौरान तीन दुकानदार तो पुलिस के हत्थे चढ़ गए जबकि पुलिस कार्रवाई की सूचना के बाद अनेक दुकानदार अपनी दुकानें बंद कर भूमिगत हो गए। पुलिस ने दिनभर की कार्रवाई में 4300 सीडियां जब्त करने में कामयाबी हासिल की है। 
शहर में मंगलवार की दोपहर पुलिस ने अनेक सीडी विक्रेताओं की दुकान पर छापामार कार्रवाई करते हुए बड़ी संख्या में नकली सीडियां जब्त की । जानकारी के अनुसार लंबे समय से यहां नकली और पायरेटेड सीडियों का व्यापार फल फूल रहा था। इस बात की सूचना के बाद अनेक म्यूजिक कंपनियों के अधिकारी यहां आए और उन्होंने पुलिस से इस अवैध कारोबार पर रोक लगने का आग्रह किया। इसके बाद मंगलवार की दोपहर पुलिस ने  दुकानों पर छापे मारे। 
पुलिस की छापामार कार्रवाई का केन्द्र बिन्दु मुख्य मार्ग रहा, जहां बड़ी दुकानों के अलावा गुमठियों पर  भी पुलिस ने छापामारा। इस कार्रवाई में पुलिस को उल्लेखनीय सफलता मिली है। 4300 नकली और पायरेटेड सीडियां जब्त की गई है, जबकि तीन आरोपिों के विरूद्ध काफी राइट एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है। पुलिस पकड़े गए तीनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है। अभी इस मामले में इस बात का खुलासा नहीं हो सका है कि आखिर नवीन फिल्मों की पायरेटेड सीडियां जिला मुख्यालय पर कहां से आती है और करोड़ों की फिल्मों की यह नकली सीडी मात्र पांच रुपए में कैसे उपलब्ध करा दी जाती हैं। उल्लेखनीय है कि जिला मुख्यालय पर अवैध सीडियों का कारोबार लंबे समय से फल फूल रहा था। पुलिस ने भी लंबे समय बाद इस कारोबार पर शिकंजा कसा है। 
अधिकारी भी चौंक गए
मंगलवार को जब पुलिस ने विभिन्न कंपनियों के अधिकारियों के साथ शहर की सीडी दुकानों पर छापामार कार्रवाई की तो अधिकारी भी पायरेटेड और नकली सीडी देखकर चौंक गए। पुलिस सूत्रों की माने तो अनेक सीडी विक्रेताओं के पास से नवीनतम प्रदर्शित फिल्मों की वीडियो सीडी मिली तथा लोकप्रिय गीतों की वीसीडी भी जब्त की गई है। यह वे सीडी जब्त की गई है, जो कापी राइट एक्ट का उल्लघंन करके नकली रेपरों में भरकर रखी गई थीं। अनेक दुकानदारों के पास से तो शहर में ही राइट की गई सीडियां मिली हैं। 
ग्रामों में भी अवैध कारोबार
देखा जा रहा है कि समय-समय पर पुलिस विभिन्न म्यूजिक कंपनियों के अधिकारियों के साथ जिला मुख्यालय पर कार्रवाई कर महीनों तक खामोश हो जाती है। इस बात का लाभ उठाकर अनेक सीडी विक्रेता ग्रामीण क्षेत्रों में भी अपने कारोबार को बढ़ने में लगे हुए हैं। पुलिस जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में कभी भी पायरेटेड और नकली सीडी बेचने वालों पर कार्रवाई नहीं करती है। 
सबकुछ है जानकारी में 
बताते हैं कि अनेक सीडी विक्रेताओं ने अपनी दुकानों पर कम्प्यूटर लगा रखे हैं, जिसके माध्यम से नवीन फिल्मों की सीडियों को तत्काल राइट करके मात्र पांच रुपए में किसी भी उपभोक्ता को बेच दिया जाता है। इस तरह कापी राइट एक्ट का खुला उल्लघंन कई दुकानो पर लंबे समय से हो रहा है। पुलिस अब तक इस अवैध कारोबार से जुड़े बड़े व्यापारियों को दबोचने में कामयाब नहीं हो सकी है, जबकि सबकुछ इनकी जानकारी में होता है। 
नकली सीडी बेचने वालों पर कार्रवाई की  है। तीन आरोपियों को पकड़ा गया है। इनके पास से 4300 सीडियां जब्त की गई है। पुलिस मामले में जांच कर रही है। 
सीआर मीणा
थाना प्रभारी, कोतवाली

आईआईटी कानपुर कवि सम्मेलन में संचालन करेंगे पंकज सुबीर

 सीहोर,कवि पंकज सुबीर देश के सबसे प्रतिष्ठित कहे जाने वाले आईआईटी कानपुर के कवि सम्मेलन का मंच संचालन करेंगे। आईआईटी कानपुर के वार्षिक उत्सव ‘अंतराग्नि’ में होने वाले कवि स मेलन को देश का सबसे प्रतिष्ठित कवि सम्मेलन माना जाता है । 
अग्रणी साहित्यिक संस्था शिवना की ओर से साहित्यकार हरिओम शर्मा दाऊ ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर जानकारी दी कि आईआईटी कानपुर का वार्षिक उत्सव ‘अंतराग्नि’ तीन दिवसीय आयोजन है जिसमें कई प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। उसी के तहत कवि सम्मेलन का भी आयोजन किया जाता है। इस कवि सम्मेलन में देश भर के शीर्ष कवि हिस्सा ले चुके हैं, इस कवि सम्मेलन में भाग लेना प्रतिष्ठा का विषय माना जाता है। इस बार के कवि सम्मेलन में जहां एक ओर देश के सुप्रसिद्ध कवि डा. राहत इन्दौरी, डा. कीर्ति काले, पवन जैन, सांड   नरसिंहपुरी को आमंत्रित किया गया है वहीं कवि सम्मेलन के मंच संचालन के लिये सीहोर के कवि पंकज सुबीर को आमंत्रित किया गया है । ‘अंतराग्नि’ कार्यक्रम 21 से 24 अक्टूबर तक आईआईटी कानपुर के सभागार में आयोजित किया जाएगा। जिसमें 23 अक्टूबर को होने वाले कवि सम्मेलन में पंकज सुबीर मंच संचालन के साथ साथ अपनी ओज की कविताओं का पाठ भी करेंगे। 
उल्लेखनीय है कि अपने कुशल मंच संचालन तथा काव्य पाठ से पंकज सुबीर देश भर में अपनी पहचान स्थापित कर चुके हैं। शिवना ने पंकज सुबीर को उनकी इस उपलब्धि पर बधाई देते हुए अपनी शुभकामनाएं दी हैं। ज्ञात रहे कि श्री सुबीर जिला मुख्यालय पर भी राष्ट्रीय स्तर के आयोजनों में मंच का संचालन कर चुके हैं। 

ग्यारह दिन खाई में जीवित रहा युवक

सलकनपुर में चमत्कार
सीहोर। ग्यारह दिनों तक क्या कोई व्यक्ति गहरी खाई में बिना कुछ खाऐं पिए जीवित रह सकता है, आपको भले ही आश्चर्य लगे परन्तु यह चमत्कारिक सत्य है। जिसमें युवक मौत के नजदीक तो रहा परन्तु देवी मां ने उसे बचा लिया।
मामला मध्यप्रदेश के सीहोर जिले का है, यहां दूरस्थ ग्राम सलकनपुर में श्री विजयासन देवी धाम शक्ति पीठ स्थित है। नवरात्रि के प्रथम दिन एक युवक पहाड़ी पर फोटों लेते समय अचानक गिर गया था। उसकी काफी खोजबीन की गई परन्तु वह नही मिला तब लोग यह मान बैठे की उसकी मौत हो गई होगी। बताया गया है की मंगलवार की दोपहर पहाड़ी के नीचे से किसी के चिल्लानें की आवाजे आई तो मंदिर समिति के लोगों ने नीचे झांक कर देखा तो एक युवक लहुलुहान अवस्था में दिखा। उसे तत्काल रेहटी के अस्पताल उपचार के लिए भिजवाया गया जहां उसकी हालात गम्भीर देख उसे भोपाल रैफर कर दिया गया। जानकारी है की युवक पंकज का कहना है की वह सात दिन तक बेहोश रहा और चार दिन पहले उसे होश आया परन्तु उसे शारिरिक दिक्कत हो रही थी इस कारण वह चार दिन तक खाई में ही रहा आज जैसे तैसे उसने मदद की गुहार की और खाई के उपर आया तो मंदिर समिति के लोगों ने उसे रेहटी अस्पाल पहुंचाया।
एसडीओपी बुदनी प्रशांत चौबे ने बताया की युवक ऐसे घने जंगल जहां खतरनाक जंगली जानवर दिन में भी नजर आ जाते है, ग्यारह दिनों तक कैसे रहा होगा। श्री चौबे के अनुसार गम्भीर रूप से घायल युवक ने अपना नाम पंकज कुमार उम्र 32 साल बताई है। उसे बोलने में तकलीफ हो रही है फिर भी उसने बताया की वह मूलत: बेगूसराय बिहार का रहने वाला है और मण्ड़ीदीप में नौकरी करता है। नवरात्रि के पहले दिन वह मां के दर्शन करने आया था इसी दौरान वह गिर गया।
जाको राखे साईयां मार सके न कोई
सलकनपुर में स्थित श्री विजयासन देवी धाम शक्ति पीठ सीहोर जिले ही नही बल्कि पूरे देध में आस्था और विश्वास का केन्द्र है यहां मां विजयासन देवी के दर्शन करने हर साल नवरात्रि में लाखों लोग आते हैं और चमत्कार होना कोई नई बात नही है। इससे पहले भी कुछ साल पहले अभिषेक नाम का युवक सीढ़ियों से गिर गया था और उसे बिल्कुल भी चोंट नही आई थी। इस बार तो लोंगों ने दांतों तले उंगली ही दबा ली है क्योंकि 11 दिनों तक कोई व्यक्ति गहरी खाई में सुरक्षित रहे यह अपने आप में चमत्कार है।
 सारी आंते सिकुड़ गई
पहाड़ी के तीस फिट गहराई में गिरे एक युवा जो 11 दिन तक बिना कुछ खाए पिये जीवित है। जिसमें वह आठ दिन बेहोश रहा और चार दिन से होश में आने के बाद वह अभी भी जीवित है। युवा के खाई में गिरने से उसके दोनों पैर एवं कमर फेक्चर में हो गया है। वहीं भूखे प्यासे रहने के कारण उसकी सारी आंते सिकुड़ गई। वह अकेला मॉ विजयासन के दर्शन के लिए सलकनपुर आया था। दर्शन करने के बाद वह पहाड़ी तरफ घूमने चला गया। पंकज ने एक-एक शब्द बोलकर बताया कि जब मैं पहाड़ी पर खड़ा था तो मुझे ऐसा लगा कि किसी ने मुझे पीछे से धक्का मार दिया और करीब तीस फिट गहरी खाई में जाकर गिर गया। खाई में गिरने के बाद मुझे होश नहीं रहा और मुझे 16 अक्टूबर को होश आया उसके बाद मंगलवार को मैं घिसटते हुए किसी तरह ऊपर चढ़ा जहां यहां आने वाले श्रद्धालुओं ने ट्रस्ट समिति को सूचना दी जिसमें ट्रस्ट के वाहन से अस्पताल लाया गया। जहां पंकज का इलाज चल रहा है और डाक्टरों ने उसे भोपाल रिफरकर दिया। पंकज के 11 दिन बिना खाए पिये जीवित रहने को लेकर पंकज माता का चमत्कार ही मान रहा है और नवरात्र का व्रत भी कर रहा था। सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र के डॉ.मेहरबान सिंह ने बताया कि पंकज को काफी गंभीर चोंटे है। जहां पूरे शरीर में जगह-जगह फेक्चर है वहीं इसके शरीर की सारी मांसपेशियां सिकुड़ गई। डॉ.श्री सिंह ने बताया कि आदमी बिना खाए पिये 20 से 25 दिन तक जीवित रह सकता है लेकिन वहां पर नमी एवं छाया का होना जरूरी है और अगर गर्मी का मौसम होता तो इस व्यक्ति का बचना संभव नहीं था। युवक के अकेला होने के कारण अस्पताल के डाक्टर मेहरबान सिंह ने रोगी कल्याण समिति के माध्यम से वाहन की व्यवस्था कर उसे भोपाल पहुचाया गया वहीं परिजनों की तलाश के लिए मंडीदीप थाने में भी सूचना दी गई है।

Tuesday, October 19, 2010

डाक्टर के साथ मारपीट से आक्रोश

किशोर चौहान रेहटी

रविवार की रात को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के प्रभारी चिकित्सक के साथ की गई मारपीट की घटना से सोमवार को आक्रोश का वातावरण बन गया। डाक्टरों और कर्मचारियों ने अस्पताल में काम बंद रखा। रविवार की रात को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के प्रभारी चिकित्सक डा.टीआर उइके के साथ मारपीट के कारण सोमवार को आक्रोश बन गया। अस्पताल बंद रहने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। प्राप्त जानकारी अनुसार रविवार की रात को निकटवर्ती ग्राम बौरी के सड़क हादसे के मामले में कुछ लोग घायल का इलाज कराने के लिए अस्पताल आए थे। जहां से प्रभारी डाक्टर टीआर उइके को बुलाने के लिए अस्पताल कर्मचारी उनके चोपड़ा कालोनी स्थित निवास पर गया जहां से अपनी बाइक पर आए डाक्टर ने जैसे की अस्पताल परिसर में प्रवेश किया वैसे ही तीन-चार युवाओं ने उन्हे रोक लिया। बताया जाता है कि डाक्टर को कुछ समझ में आता इससे पहले इन युवाओं ने उनके साथ मारपीट शुरू कर दी और बाइक फेंक दी जिससे कांच टूट गए और डा.उइके को नाक और आंख में चोट आई। लोग आते तब तक यह लोग भाग खड़े हुए। पुलिस ने इस मामले में शासकीय कार्य में व्यवधान की धारा 353 और मारपीट की धारा 323 के अंर्तगत मामला कायम किया है।

नहीं खुला अस्पताल
सोमवार की सुबह से घटना को लेकर आक्रोश देखा गया। बताया जाता है कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के डाक्टर और कर्मचारी काम पर नहीं आए,इन्होेंने विरोध स्वरूप कार्य बंद रखा।
अन्य का मिला साथ
घटना के विरोध में नगर के एक दर्जन से भी अधिक निजी चिकित्सकों ने भी अपना क्लीनिक बंद रखा दवा विक्रेताओं ने भी अपना कारोबार बंद रखा। युवक कांग्रेस ने भी इसकी निंदा की। आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर तहसीलदार एमएस नागर और थाना प्रभारी आरएन शर्मा से तकरार की भी स्थिति बनी। अधिकारियों का कहना था कि ग्राम बौरी भी गए पर आरोपियों की पहचान नहीं हो पाई। पुलिस शंका के आधार पर कुछ लोगों से पूछताछ कर रही है। मेडिकल एसोसिएशन के राजेन्द्र झावक,चन्द्रशेखर गुप्ता, बल्लू आसवानी आदि ने थाना प्रभारी को ज्ञापन सौंप कर कहा है कि आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी और सुरक्षा व्यवस्था मजबूत की जाए।
 मरीजों को करना पड़ा परेशानी का सामना
सोमवार को हड़ताल कर दिए जाने से मरीजों और उनके सहयोगियों को परेशानी का सामना भी करना पड़ा। स्वास्थ्य कर्मियों और डॉक्टरों के हड़ताल पर चले जाने के कारण मरीजों को नसरुल्लागंज जाकर इलाज कराना पड़ा।
विरोध के स्वर
डॉ.उइके के साथ हुई घटना की निंदा करते हुए युवक कांग्र्रेस नेता कमलेश यादव, संजय पटेल, मंगलसिंह आजाद, बद्री चौहान, संतोष मेहता, मेहताब सिंह चौहान ने कहा है कि आरोपियों की गिरफ्तारी की जाकर डाक्टरों को सुरक्षा दिलाई जाए ताकि इसकी पुनरावृति न हो पाए। आयुष मेडिकल एसोसिएशन के प्रदेश महासचिव डॉ.आरके यादव ने कहा है कि इस घटना के आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जाता है तो विरोध जिला स्तर पर भी जताया जाएगा।
काम पर लौटे
सोमवार शाम चार बजे के बाद एसडीएम चन्द्र मोहन मिश्रा और एसडीओपी प्रशांत चौबे के आश्वासन पर ठप्प पड़ी सेवाएं बहाल हुई

चीफ इंजीनियर की मृत्यु

सीहोर /बुदनी, सोमवार की सुबह तेज रफ्तार से जा रहे ट्रक और कार की टक्कर में इटारसी में पदस्थ चीफ इंजीनियर की मृत्यु हो गई। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच कार्य शुरू कर दिया है। पुलिस से मिली जानकारी अनुसार इटारसी के आइल एंड कोर कम्पनी लिमिटेड के चीफ इंजीनियर 50 वर्षीय शिखरचंद जैन आत्मज मिश्रीलाल जैन अपनी धर्म पत्नी श्रीमती चन्द्रप्रभा के साथ भोपाल से दशहरा पर्व मनाकर अपनी कार क्रमांक यूपी94 ए 5454 से इटारसी जा रहे थे। बताया जाता है बुदनी हाइवे पर स्थित टीटीसी के सामने तेज रफ्तार से आ रहे मिनी ट्रक क्रमांक डीएलआई एलके 3891 के चालक ने ओवर टेक करते हुए इनकी कार में टक्कर मार दी। जिससे श्री जैन की मृत्यु हो गई जबकि उनकी पत्नी घायल हो गई। ट्रक नागपुर से दिल्ली की ओर जा रहा था। पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। बमुश्किल निकाला जा सकापुलिस के अनुसार श्री जैन अपनी साइड पर ही चल रहे थे। आरोपी ट्रक चालक ने ओवर टेक करते हुए टक्कर मार दी जिससे श्री जैन चालक सीट मेें फंस गए उन्हे लोगों की मदद से बमुश्किल निकाला जा सका। चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित किया उनकी पत्नी की हालात खतरे से बाहर है तथा फरार ट्रक चालक को पकड़ लिया गया है।

ग्रामीणों का आक्रोश फूटा,किया घेराव

 सीहोर,निकटवर्ती ग्राम नापलाखेड़ी और आसपास के ग्रामीणों का गुस्सा बिजली कटौती को लेकर फूट पड़ा। जिस पर अधिकारियों ने पहुँचकर ग्रामीणों को समझाया तब मामले का पटाक्षेप हो सका।
प्राप्त जानकारी अनुसार ग्राम नापलाखेड़ीडीसी के ग्रामीणों ने लगातार की जा रही कटौती को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। सोमवार की सुबह सैकड़ों किसानों ने डीसी पहुँचकर कार्यालय को घेर लिया और जमकर नारेबाजी की। ग्रामीणो का कहना था कि हमें रात के समय केवल दो घंटे ही बिजली मिल पा रही है जिससे हमारे कृषि कार्य में बाधा उत्पन्न हो रही है। इसके अलावा ग्रामीणों का कहना था कि हमे विभाग द्वारा पूरे साल का बिल अठारहा सौ रुपए प्रतिमाह के हिसाब से दिया जा रहा है जबकि हमारी बिजली जलती ही है केवल दो माह है। इन लोगों का कहना था कि व्यवस्था में सुधार किया जाए। अधीक्षण यंत्री एके जैन ने बताया कि हमारे द्वारा कार्यपालन यंत्री को भेजा गया था उनके द्वारा ग्रामीणों को बताया गया है कि शासन नियमानुसार ही बिजली कटौती की जा रही है इसमें हम कुछ नहीं कर सकते है।

समारोह पूर्वक दी गई माँ जगदम्बा को विदाई

सीहोर, सोमवार को यहां पर समारोह पूर्वक आदि शक्ति जगदम्बा को विदाई दी गई। चल समारोह में शहर की अधिकांश प्रतिमाएं शामिल हुई। चल समारोह में शामिल लोगों को उत्साह बारिश भी नहीं डिगा सकी। यह सभी लोग माँ के जयकारें लगाते हुए सीवन नदी तट पर गए। हिन्दू उत्सव समिति द्वारा पिछले साल से प्रारंभ की गई परम्परा का निर्वहन सोमवार को भी किया गया। सोमवार को चल समारोह निकाला जाकर आदि शक्ति जगदम्बा को समारोह पूर्वक विदाई दी गई। सोमवार की शाम को कोतवाली चौराहे से हिन्दू उत्सव समिति के तत्वावधान में नगर की समस्त प्रतिमाएं सोमवार को चल समारोह के साथ निकली। चल समारोह में ढोल,बैंड बाजे और डीजे आकर्षण का केन्द्र बने रहे। चल समारोह कोतवाली चौराहे से प्रारंभ हुआ जो विभिन्न मार्गो से होता हुआ सीवन नदी के तट पर पहुँचा जहां प्रतिमाएं विर्सजित की गई। कार्यक्रम को सफल बनाने में हिन्दू उत्सव समिति अध्यक्ष सतीश राठौर, प.वासुदेव मिश्रा, हरि प्रसाद तिवारी, शंकर प्रजापति, हरीश अग्रवाल, किशोर कौशल, दिलीप राठौर, मोहन चौरसिया, राजमल राठौर, प्रदीप समाधिया, राजेश जायसवाल, हरि पालीवाल, मोहन यादव, जयदीप नेहलानी, घनश्याम यादव, सुरेश जायसवाल आदि कार्यकर्ताओं का योगदान रहा।
साफा बांधा
सभी प्रतिमाओं को चल समारोह के रूप में विर्सजित करने की परम्परा को सभी वर्ग के लोगों द्वारा सराहा गया। हिन्दू उत्सव समिति ने सभी दुर्गा उत्सव समितियों का आभार ज्ञापित करते हुए इनके अध्यक्षों का साफा बांधकर सम्मान किया। अध्यक्ष सतीश राठौर ने सभी को साफा बांधकर उनका सम्मान करते हुए कहा कि समिति का लगातार यह प्रयास है कि हर त्यौहार सामूहिक रुप से मनाया जाए ताकि एकता और सद्भाव की मिसाल भी बरकरार बनी रहे।